अखिलेश यादव का योगी सरकार पर जोरदार हमला, बजट को लेकर कही ये बड़ी बात

उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने बजट को लेकर योगी सरकार पर जोरदार हमला बोला है। अखिलेश यादव ने कहा कि सरकार का यह बजट चौथा बजट है और यह आखिरी बजट जैसा होता है।

Published by dharmendrakumar Published: February 18, 2020 | 2:44 pm
Modified: February 18, 2020 | 7:40 pm

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने बजट को लेकर योगी सरकार पर जोरदार हमला बोला है। अखिलेश यादव ने कहा कि सरकार का यह बजट चौथा बजट है और यह आखिरी बजट जैसा होता है।

उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी की सरकार में उत्तर प्रदेश अपने विकास कार्यों के लिए चर्चा में रहता था, लेकिन अब बीजेपी की सरकार में उत्तर प्रदेश गोली और बोली के लिए जाने जाना लगा है।

अखिलेश यादव ने प्रेस कांफ्रेंस कहा कि सरकार ने अब तक चार बजट पेश किए हैं जिसमें किसानों, नौजवानों व महिलाओं को निराशा मिली है। यह सरकार का आखिरी बजट है, क्योंकि अगला बजट तो चुनावी बजट होगा।

यह भी पढ़ें…योगी कैबिनेट ने दी 5 लाख 12 हजार करोड़ के बजट को मंजूरी, जानें क्या है ख़ास

अखिलेश यादव ने कहा कि उत्तर प्रदेश पहले विकास, एक्सप्रेस-वे, लैपटॉप और मेट्रो के लिए जाना जाता था, लेकिन अब प्रदेश का गोली और बोली का परसेप्शन बन रहा है। उन्होंने पूछा कि बीजेपी सरकार बताए कि 22 करोड़ पेड़ पौधे कहां लगाए?

पूर्व सीएम ने कहा कि इस सरकार से ना गंगा साफ हुई और ना ही यमुना, क्योंकि इस सरकार की मंशा ही साफ नहीं है। किसानों की आय दोगुनी करने का वादा किया गया, लेकिन एक प्रतिशत भी आय नहीं बढ़ी। सपा प्रमुख ने कहा कि योगी सरकार के राज में सिर्फ छल-कपट बढ़ा है।

अखिलेश यादव ने सरकार के निवेश के दावों पर कहा कि वे बताएं कि अभी तक कितना निवेश जमीन पर आया, क्योंकि जब भी निवेश आता है तो सरकार की तरफ से की गई इंसेंटिव का भी जिक्र होता है। सरकार ने कोई इंसेंटिव नहीं दिया। इसका सीधा मतलब यह है कि कोई निवेश नहीं हुआ

यह भी पढ़ें…अखिलेश यादव का योगी सरकार पर जोरदार हमला, बजट को लेकर कही ये बड़ी बात

पूर्व सीएम ने कहा कि योगी सरकार पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे बनवाने का दावा करती है। जबकि इसकी शुरुआत तो समाजवादी सरकार ने की थी। इस सरकार ने सिर्फ इस एक्सप्रेस वे का नाम बदला और जबरदस्ती कास्ट कटिंग की। इसके बाद ये वैसा नहीं बन पाएगा जैसा इसका प्रस्ताव समाजवादी सरकार ने तैयार किया था। तो वहीं 5 लाख करोड़ से ज्यादा का बजट पेश करने पर अखिलेश ने कहा कि अगली बार इससे भी बड़ा बजट होगा और वो हर बजट को ऐतिहासिक करार देते हैं।

यह भी पढ़ें…अमर सिंह का हुआ ये हाल: रो देंगे देखकर आप, मांगी अमिताभ से माफी

सपा प्रमुख ने सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि 22 करोड़ पेड़ कहां लगाए? स्मार्ट सिटी कितना बना? ये बताएं। मुख्यमंत्री जी ने नाले के साथ सेल्फी ली। नाला कितना साफ हुआ? ये बताएं। कितने सैनिक स्कूल बने? ये बताएं।

अखिलेश यादव ने कहा कि एक मिलिट्री स्कूल ही बना देते। स्किल डेवलपमेंट में कितना काम हुआ? किसानों के लिए कितना काम किया है? किसानों ने आत्महत्या की है। किसानों का कर्ज माफ नहीं हुआ। इसलिए वो आत्महत्या को मजबूर हो रहे हैं। फसल चौपट होने पर उनकी मौत हो गई। आवारा पशुओं ने फसलों को चौपट किया है। सरकार को किसानों की फेंसिंग की सुविधा देनी चाहिए।

उन्होंने कहा कि 1 ट्रिलियन इकॉनमी का लक्ष्य ये सरकार कभी पूरा नहीं कर पाएगी। ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी में लाखों रुपये के एमओयू साइन होने की बात थी, उस पर कितना काम हुआ? कितने बैंकों से कितना काम हुआ? सबसे ज़्यादा सोलर पर एमओयू हुए, लेकिन उस पर कितना काम हुआ? जनता को धोखा देने वालों को इस बार जनता धोखा देगी।

यह भी पढ़ें…हवाला मामले में आया इस बड़े नेता का नाम, सोनिया तक पहुंच सकती है जांच की आंच

गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने मंगलवार को अपना बजट पेश किया, जो कि राज्य सरकार का सबसे बड़ा बजट है। सरकार का 5 लाख 12 हजार 860 करोड़ 72 लाख का यह बजट कई मामलों में ऐतिहासिक है। बजट में 10 हजार 967 करोड़ 87 लाख की नई योजनाएं शामिल हैं।