यूपी में तबाही ही तबाही: तेज आंधी-बारिश-ओले से मचा कोहराम, इतने लोगों की मौत

बीते शनिवार को उत्तर प्रदेश के कई जिलों में मौसम ने अचानक से करवट बदली। मौसम के इतनी तेजी से बदलते मिजाज की वजह से यूपी के तमाम जिलों में तबाही जैसा मंजर देखने को मिला।

नई दिल्ली: बीते शनिवार को उत्तर प्रदेश के कई जिलों में मौसम ने अचानक से करवट बदली। मौसम के इतनी तेजी से बदलते मिजाज की वजह से यूपी के तमाम जिलों में तबाही जैसा मंजर देखने को मिला। यूपी में बुंदेलखंड और कानपुर समेत नजदीक जिलों उन्नाव, कन्नौज, इटावा, औरैया, बांदा, जालौन, उरई, फतेहपुर, चित्रकूट, कानपुर देहात, महोबा में वैसे तो गुरूवार से ही मौसम बिगड़ना शुरू हो गया था, लेकिन बीते शनिवार को इसने विकराल रूप धारण कर लिया। इन जिलों में तेज आंधी के साथ बारिश हुई और वहीं कई जगह ओले भी गिरे।

ये भी पढ़ें…लाखों लोग सड़क पर: जला दी इमारतें और लूट ली दुकानें, मचाया हंगामा

कई जिलों में काफी तबाही

एकदम से मौसम के बदलते मिजाज इन जिलों की सूरत ही बदल कर रख दी है। तेज आंधी-बारिश और ओले गिरने की वजह से कई जिलों में काफी तबाही हुई है। वहीं कई जगह पेड़ गिरने से जहां यातायात सेवाएं ठप रही, और बिजली आपूर्ति व्यवस्था भी ध्वस्त हो गई।

ऐसे में भयंकर आंधी-बारिश और बिजली गिरने से यूपी के उन्नाव में 7, कन्नौज में 6, बांदा और कानपुर शहर में 1-1 लोगों की जान चली गई। बारिश होने तापमान में भी दो से लेकर चार डिग्री तक की गिरावट देखने को मिली है।

इसके साथ ही कानपुर शहर के बिल्हौर में आंधी-बारिश संग आधा घंटे तक ओले गिरे। बिल्हौर में एक-एक किलो तक के ओले गिरे, प्राकृतिक हलचल के चलते यहां की लगभग फसल चौपट हो गई।

 

ये भी पढ़ें…आसमान से हुई मौत की बारिश: कई लोगों ने तोड़ा दम, जिले में मचा हाहाकार

जमकर ओलावृष्टि हुई

और तो और ओले गिरने से सैकड़ों गाड़ियों के शीशे टूट गए और कई लोग घायल भी हुए। यहां पेड़ गिरने से एक युवक की जान चली गई। कानपुर के घाटमपुर में भी जमकर ओलावृष्टि हुई।

बता दें, कानपुर में एक ही दिन में 54.6 मिमी बारिश रिकार्ड की गई। जीं हां बीते शनिवार को हुई बारिश ने लगभग 46 साल का रिकार्ड तोड़ा है। उन्नाव में दोपहर तीन बजे के बाद बारिश के साथ कई स्थानों पर ओलावृष्टि भी हुई। इस बीच बिजली गिरने से चार, पेड़ गिरने से दो और दीवार गिरने से एक की जान चली गई।

ये भी पढ़ें…राशनकार्ड धारकों के लिए खुशखबरी: शुरू हुई राहत देने वाली ये योजना

आधा दर्जन लोग घायल

बात करें अगर कन्नौज की, तो यहां आंधी-बारिश के चलते दीवार गिरने से चार, ओले की वजह से एक और आंधी में ट्रैक्टर पलटने से एक की मौत हो गई साथ ही आधा दर्जन लोग घायल हो गए। बता दें, बुंदेलखंड के बांदा में दोपहर बाद मौसम बदल गया और बारिश के साथ ओले भी गिरे।

इटावा की तरफ नजर घुमाई जाए तो यहां बीते शुक्रवार रात साढ़े आठ बजे आई आंधी-बारिश से कई घरों की दीवारें और छप्पर गिर गए। इसके साथ ही बिजली के एक दर्जन से ज्यादा खंभे टूटने से शहर की आपूर्ति व्यवस्था बंद हो गई। कई रास्ते पेड़ गिरने की वजह जाम हो गए।

ये भी पढ़ें…अभी-अभी बड़ा फैसला: अब सील होगा ये पूरा इलाका, मौत का बढ़ा प्रकोप