कोरोना से जंग: मेरठ की महिला पुलिसकर्मी कर रहीं ये काम, आप भी करेंगे तारीफ

महामारी कोरोना के चलते जहां देशभर में मास्क और सैनिटाइजर की कालाबाजारी की नौबत आ गई है। तो वहीं इस समस्या के समाधान के लिए मेरठ जिले की महिला पुलिसकर्मी नजीर पेश कर रही हैं।

मेरठ: महामारी कोरोना के चलते जहां देशभर में मास्क और सैनिटाइजर की कालाबाजारी की नौबत आ गई है। तो वहीं इस समस्या के समाधान के लिए मेरठ जिले की महिला पुलिसकर्मी नजीर पेश कर रही हैं। दरअसल, मेरठ पुलिस लाइन में महिला पुलिसकर्मियों द्वारा मास्क के और सैनिटाइजर का निर्माण किया जा रहा है।

महिला पुलिसकर्मियों ने बताया कि कई पुलिसकर्मी अपनी ड्यूटी समाप्त करने के बाद समाज सेवा के इस कार्य में जुटी हैं। मेरठ एडीजी प्रशांत कुमार ने बताया कि पुलिस लाइन में महिला पुलिसकर्मियों द्वारा रोजाना लगभग डेढ़ हजार मास्क बनाए जा रहे हैं, क्योंकि कपड़े का यह मास्क सिर्फ एक बार प्रयोग किया जा सकता है। इसलिए महिला पुलिसकर्मी अपने साथियों को कोरोना जैसी महामारी से बचाने के लिए खुद ही उनके लिए मास्क का निर्माण कर रही हैं।

यह भी पढ़ें…COVID-19: दिल्ली में अब तक 293 लोग कोरोना संक्रमित, चार की मौत

यह भी पढ़ें…निजामुद्दीन मरकज केस में जारी हो ये फतवा, मशहूर गीतकार ने बताई मांग की वजह

यह भी पढ़ें…लालू प्रसाद को कोरोना का खौफ, करीबी जमानत दिलाने के लिए कर रहे मंथन

यह भी पढ़ें…तबलीगी जमात पर योगी सरकार का एक्शन: 7177 केस दर्ज, विदेशियों के पासपोर्ट जब्त

एडीजी ने बताया कि पुलिस लाइन में रोज लगभग डेढ़ हजार मास्क बनाए जा रहे हैं। यह मास्क फिलहाल पुलिस कर्मियों के प्रयोग के लिए बन रहे हैं। यदि अतिरिक्त मास्क बनते हैं तो उन्हें अन्य लोगों को भी वितरित किया जाएगा। एडीजी मेरठ प्रशांत कुमार ने बताया कि पुलिस लाइन में जन सहयोग से बनाई गई रसोई से लगभग हजारों गरीब लोगों को खाने का वितरण किया जा रहा है।

बता दें मेरठ एसएसपी अजय साहनी के नेतृत्व में पुलिसकर्मियों द्वारा लगातार जरूरतमंदों को जगह-जगह खाना भी वितरित किया जा रहा है।

रिपोर्ट: सादिक खान

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App