पुलिस कर्मियों के आश्रितों की छात्रवृत्ति में हुई बढोत्तरी

प्रदेश के अपर मुख्य सचिव, गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने बुधवार को यहां बताया कि उप्र राज्य सेवा के अधीन ऐसे पुलिस कर्मी जो शैक्षणिक वर्ष 2019-2020 और उसके बाद आतंकी अथवा नक्सली हमलों के दौरान शहीद हुये हैं, उनके आश्रितों को भी प्रधानमंत्री छात्रवृत्ति योजना में शामिल किया गया है।

लखनऊ:  भारत सरकार के प्रधानमंत्री छात्रवृत्ति योजना का लाभ अब उत्तर प्रदेश पुलिस कर्मियों के आश्रितों को भी मिलेगा। सरकार ने इस छात्रवृत्ति की राशि में भी बढ़ोत्तरी कर दी है।

यह भी पढ़ें: अफवाह या हकीकत, भारत का चंद्रयान उठायेगा इस झूठ से पर्दा

प्रदेश के अपर मुख्य सचिव, गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने बुधवार को यहां बताया कि उप्र राज्य सेवा के अधीन ऐसे पुलिस कर्मी जो शैक्षणिक वर्ष 2019-2020 और उसके बाद आतंकी अथवा नक्सली हमलों के दौरान शहीद हुये हैं, उनके आश्रितों को भी प्रधानमंत्री छात्रवृत्ति योजना में शामिल किया गया है।

यह भी पढ़ें: भारत की 10 बात! जानकर आपकी आंखे रह जायेंगी खुली की खुली

इसके साथ ही उन्होंने बताया कि इस योजना में प्रदान की जाने वाली छात्रवृत्ति की राशि लड़कियों के लिये 2250 से 3000 रुपये और लड़कों के लिए 2000 से 2500 रुपये प्रति माह कर दिया गया है।

यह भी पढ़ें. एटम बम मतलब “परमाणु बम”, तो ऐसे दुनिया हो जायेगी खाक!

अवस्थी ने बताया कि प्रधानमंत्री छात्रवृत्ति योजना के तहत शैक्षणिक वर्ष 2019-2020 एवं उसके बाद आतंकी अथवा नक्सली हमलों के दौरान शहीद होने वाले राज्य से संबंधित पुलिस कर्मियों, केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल, असम राइफल्स के जवान के आश्रित व विधवा आदि इस योजना का लाभ प्राप्त कर सकेगें।

यह भी पढ़ें: मारी गई पाकिस्तानी सेना! इमरान को आज नहीं आएगी नींद

इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिये पात्र लाभार्थी वेबसाइट ‘नेशनल स्कालरशिप पोर्टल’ यानि स्कालरशिप डाॅट जीओवी डाॅट इन पर ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं ।

यह भी पढ़ें. अजगर की तरह सुस्त हुआ मसूद, भाई बना आतंक का सरगना

अपर मुख्य सचिव गृह ने यह भी बताया कि इस योजना के अन्तर्गत प्राप्त आवेदन पत्रों को भारत सरकार को भेजने के लिये गृह विभाग से एक नोडल अधिकारी नियुक्त किया जायेगा जो पात्र आश्रितों के आवेदनों को केंद्र सरकार को ऑनलाइन भेजने के लिए अधिकृत होगा।