अजगर की तरह सुस्त हुआ मसूद, भाई बना आतंक का सरगना

रिपोर्ट्स के मुताबिक मसूद का भाई अब्दुल रऊफ असगर इन दिनों जैश का प्रभारी है। सूत्रों की माने तो, मसूद अजहर किडनी खराब है, और ज्यादातर वक्त वह अपने क्वॉर्टर में ही आराम करते हुए बिताता है।

नई दिल्ली: रिपोर्ट्स के जरिये दावा किया जा रहा है कि जैश-ए-मोहम्मद प्रमुख मसूद अजहर को चोरी-छिपे जेल से बाहर निकाला गया है। बताया गया कि जैश सरगना का स्वास्थ्य काफी खराब है।

इन्हीं कारणों से मसूद इन दिनों संगठन के काम से भी दूर है, संगठन का कार्य भार उसका भाई ही देख रहा है।

यह भी पढ़ें. बड़े धमाके का प्लान! इस राज्य को निशाना बना सकते है आतंकी

रिपोर्ट्स के मुताबिक मसूद का भाई अब्दुल रऊफ असगर इन दिनों जैश का प्रभारी है। सूत्रों की माने तो, मसूद अजहर किडनी खराब है, और ज्यादातर वक्त वह अपने क्वॉर्टर में ही आराम करते हुए बिताता है।

साथ ही बताते चलें कि जैश का सरगना काफी बीमार है, वह रोजमर्रा की संगठन गतिविधियों की निगरानी करने में भी असमर्थ है।

यह भी पढ़ें. कांग्रेस के ये संकट के दिन! अब इनकी जेल जाने की आई बारी

उल्लेखनीय है कि पाकिस्तान के बहावलपुर में जैश के अभी दो प्रमुख ठिकाने हैं मरकज उस्मान-ओ-अली और मरकज सुभान अल्लाह।

बहरहाल, बताते चलें कि मसूद अजहर को इसी साल संयुक्त राष्ट्र ने ग्लोबल आतंकी घोषित किया है। साथ ही साथ भारतीय सरकार ने भी नए यूएपीए कानून के तहत मसूद को आतंकी घोषित किया है।

यह भी पढ़ें.  आर्टिकल 370! UNHRC में आज PAKISTAN v/s INDIA

रिपोर्ट्स में दावा किया जा रहा है कि मसूद अजहर के लिए बहावलपुर में उसके ठिकाने पर बहुत सख्त सुरक्षा व्यवस्था का इंतजाम किया गया है।

फरवरी में बालाकोट में जैश ठिकानों पर हुई एयर स्ट्राइक के बाद खास तौर पर मसूद अजहर के ठिकानों पर सुरक्षा व्यवस्था पर अधिक जोर दिया जा रहा है। उसकी खराब सेहत को देखते हुए सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं।