रोजगार को बढ़ावा देने के लिए सांसद की अधिकारियों के साथ बैठक, दिया ये आदेश

सांसद सुब्रत पाठक ने जिला मुख्यालय पर अधिकारियों की बैठक लेते हुए उन्हें आवश्यक दिशा निर्देश दिए। कहा कि वह लोग सरकारी योजनाओं का लाभ गरीबों तक…

औरैया: जनपद औरैया में दो सांसद प्रतिभाग करते हैं, जिसमें एक इटावा संसदीय क्षेत्र और दूसरा संसदीय क्षेत्र कन्नौज देखते हैं। शुक्रवार को कन्नौज सांसद सुब्रत पाठक ने जिला मुख्यालय पर अधिकारियों की बैठक लेते हुए उन्हें आवश्यक दिशा निर्देश दिए। कहा कि वह लोग सरकारी योजनाओं का लाभ गरीबों तक पहुंचाएं। उन्होंने कहा कि लोगों को आत्मनिर्भर बनाए जाने के लिए प्रदेश सरकार पूरी तरह से कटिबद्ध है और वह कई तरह से बेरोजगारों को रोजगार देने का कार्य कर रही है। इसलिए जिला स्तरीय अधिकारी ग्रामीणों को रोजगार उपलब्ध कराएं और उनका शोषण न करें।

ये भी पढ़ें: BSP सांसद को हुआ कोरोना, बेटे-भतीजे भी निकले संक्रमित

श्रमिकों को रोजगार उपलब्ध कराने के दिए निर्देश

कोरोना संकट के इस दौर में भारत की अर्थव्यवस्था को सुधारने तथा लोगों को रोजगार उपलब्ध कराये जाने के लिये आत्मनिर्भर योजना को लागू किया गया है। इसी क्रम में आत्मनिर्भर उत्तर प्रदेश रोजगार अभियान का शुभारम्भ प्रधानमंत्री द्वारा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की मौजूदगी में डिजिटल माध्यम से किया गया। शुक्रवार को कन्नौज लोकसभा के सांसद सुब्रत पाठक की अध्यक्षता में औरैया के कलेक्ट्रेट सभागार कक्ष में जिला अधिकारी, मुख्य विकास अधिकारी व अन्य अधिकारियों के साथ बैठक कर जनपद में रोजगार को बढ़ावा देने एवं अन्य राज्य व जनपदों से आए श्रमिकों को रोजगार उपलब्ध कराने के निर्देश दिए।

ये भी पढ़ें: लद्दाख में थर्राई धरती: सीमा तनाव के बीच आया भूकंप, भारत-चीन सैनिकों में हड़कंप

बांस की खेती कर अगरबत्ती उद्योग को बढ़ावा दे सकते हैं

बैठक में कन्नौज सांसद ने कहा कि भारत में अगरबत्ती उद्योग के लिये बाहर से बांस की पट्टी का आयात किया जाता है। हम लोग गांव की बंजर पड़ी भूमि को उपजाऊ बनाकर बांस की खेती कर अगरबत्ती उद्योग को बढ़ावा दे सकते हैं। इससे स्वतः रोजगार का सृजन होगा। साथ ही उन्होंने ने कहा कि लोगों के बीच मधुमक्खी पालन को बढ़ावा दिया जाए। इच्छुक लोगों को ऋण उपलब्ध करा कर मधुमक्खी पालन से जोड़ा जाए। इससे उसे स्वयं रोजगार तो मिलेगा ही साथ ही वह कई अन्य अन्य लोगों को भी रोजगार दे पायेगा।

ये भी पढ़ें: DM ने किया निर्माणाधीन कोरोना लैब का निरीक्षण, दिए ये निर्देश

जिलाधिकारी अभिषेक सिंह ने सभी बीडीओ को कहा कि पांच पांच ग्राम पंचायतों को चयनित करके बांस की खेती की जाये। साथ ही मधुमक्खी पालन, मत्स्य पालन आदि के लिये लोगों को ऋण उपलब्ध कराकर तथा स्वतः रोजगार को बढ़ावा दिया जाए।

मुख्य विकास अधिकारी ने बताया कि जनपद की 477 ग्राम पंचायतों में से 461 ग्राम पंचायतों में मनरेगा के तहत कार्य कराया जा रहा है। इससे लोगों को रोजगार के अवसर प्राप्त हो रहे हैं।

रिपोर्ट: प्रवेश चतुर्वेदी, औरैया

ये भी पढ़ें: आत्मनिर्भर रोजगार अभियान के मौके पर PM मोदी ने की श्रमिकों से बात