IAS पति खिलाड़ी तो PCS पत्नी माडलिंग में आगे, पढ़िए दोनों की कहानी

मिसेज इंडिया 2019 प्रतियोगिता में कामयाबी का झंडा लहराने वाली पीसीएस अधिकारी कई प्रतिभाओं की धनी है। 2004 बैच की ऋतु सुहास को मिली बड़ी कामयाबी के पीछे कई कहानियां और संघर्ष से जुडे किस्से हैं।

श्रीधर अग्निहोत्री

लखनऊ: मिसेज इंडिया 2019 प्रतियोगिता में कामयाबी का झंडा लहराने वाली पीसीएस अधिकारी कई प्रतिभाओं की धनी है। 2004 बैच की ऋतु सुहास को मिली बड़ी कामयाबी के पीछे कई कहानियां और संघर्ष से जुडे किस्से हैं।

एलडीए में ज्वांइट सेकेट्री के पद पर तैनात ऋतु सुहास ने देश के 20 राज्यों से आई 60 महिलाओं की प्रतियोगिता के बीच हुई प्रतियोगिता के दौरान यह बड़ी सफलता हासिल की है। इनके पति सुहास एलवाई भी आईएएस अफसर है और बैडमिंटन के अर्न्तराष्ट्रीय खिलाडी हैं।

‘न्यूज ट्रैक’ ने जब सुहास एलवाई से उनकी पत्नी ऋतु सुहास की सफलता के बारे में बात की तो उन्होंने बताया कि वह खुद भी एक खेल प्रतियोगिता में हिस्सा लेने थाईलैंड आए हैं। पत्नी की सफलात के बारे में उन्हें भी सुबह मालूम पड़ा है।

यह भी पढ़ें…HowdyModi: इस कार्यक्रम में एक साथ होंगे मोदी-ट्रंप, इतिहास में पहली बार होगा ऐसा

आईएएस अधिकारी सुहास एलवाई ने बताया कि मुम्बई में रात डेढ़ बजे प्रतियोगिता का समापन हुआ जहां प्रतियोगिता में टैलेंट राउंड, कॉस्ट्यूम राउंड में ऋतु सुहास को यह कामयाबी मिली है। यह प्रतियोगिता मुंबई में 10 सितंबर से चल रही थी।

इसके पहले इस साल जनवरी में लखनऊ में आयोजित इस ब्यूटी कॉनटेस्ट के ऑडिशन में उन्होंने 70 महिला प्रतिभागियों को पछाड़कर मुंबई जाने का अपना रास्ता साफ किया था। इस आॅडिशन में फिल्म अभिनेात सलमान खान के साथ काम कर चुकी फिल्म एक्ट्रेस स्नेहा उल्लाल, टेलीविजन कलाकार रश्मि देसाई, पारुल चौहान, कृष्णा मुखर्जी और निवेदिता बसु के सवालों के जवाब देकर ऋतु ऑडिशन में नंबर एक रही थीं।

यह भी पढ़ें..सऊदी अरब के तेल कुओं पर अटैक, 100 साल में पहली बार खड़ा हुआ ये बड़ा संकट

इसके पहले पीसीएस अधिकारी ऋतु सुहास ने इस साल हुए लोकसभा चुनाव के दौरान बूथ दोस्त के नाम से एक एप बनाया था जिसमें दिव्यागों को वोटिंग के दौरान होने वाली दिक्कतों से बचाने की व्यवस्था की गयी है। इस कार्य के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी उन्हे सम्मानित कर चुके हैं।

बेहद संघर्षशील जीवन बिताने वाली ऋतु सुहास के पास कभी अखबार खरीदने तक के पैसे नही होते थे, लेकिन आज पति पत्नी दोनों अपने कड़े परिश्रम के चलते आराम से जीवन बिता रहे हैं।

यह भी पढ़ें…मौसम: यूपी, प. बंगाल समेत 13 राज्यों में दो दिन भारी बारिश का अलर्ट

ऋतु सुहास के पति आईएएस अधिकारी सुहास एलवाई भारतीय टीम में उत्तर प्रदेश से इकलौते बैडमिंटन खिलाड़ी हैं। सॉफ्टवेयर इंजीनियर से आईएएस अफसर बने सुहास को शानदार और ईमानदार अधिकारी के तौर पर जाना जाता है।

इसके साथ ही वे बेहरीन खिलाड़ी हैं। सुहास एलवाई देश के बेहतरीन और ईमानदार अधिकारियों में जाने जाते हैं। 2017 में वाराणसी में हुए नेशनल टूर्नामेंट में उन्होंने फाइनल में जगह बनाई थी। इस चैंपियनशिप में उन्होंने उत्तर प्रदेश का प्रतिनिधित्व किया था।

यह भी पढ़ें…कश्मीर: SC का बड़ा फैसला, तो इसलिए हिरासत में फारुक अबदुल्ला

2016 में बीजिंग में हुए एशियन पैरा बैडमिंटन टूर्नामेंट में उन्होंने भारत का परचम लहराया था। तब सुहास ने फाइनल में इंडोनेशिया के हरे सुशांतो को हराकर गोल्ड मेडल जीता था।

सुहास पैर से विकलांग हैं उसके बावजूद उन्होंने दुनिया भर के सामने अपने हौसले की मिसाल कायम की। 2016 में तत्कालीन मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने सुहास को यशभारती सम्मान से नवाज़ा था।