HowdyModi: इस कार्यक्रम में एक साथ होंगे मोदी-ट्रंप, इतिहास में पहली बार होगा ऐसा

अमेरिका के ह्यूस्टन शहर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए एक बड़े कार्यक्रम का आयोजन होने जा रहा है। इस कार्यक्रम में 50 हजार से ज्यादा लोग शामिल हो सकते हैं। ‘हाउडी मोदी’ कार्यक्रम का 22 सितंबर को आयोजन होगा।

नई दिल्ली: अमेरिका के ह्यूस्टन शहर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए एक बड़े कार्यक्रम का आयोजन होने जा रहा है। इस कार्यक्रम में 50 हजार से ज्यादा लोग शामिल हो सकते हैं। ‘हाउडी मोदी’ कार्यक्रम का 22 सितंबर को आयोजन होगा। इसमें अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप भी हिस्सा लेंगे। व्हाइट हाउस ने इस बात की पुष्टि की है।

‘हाउडी मोदी’ कार्यक्रम ऐतिहासिक होगा, क्योंकि इतिहास में पहली बार भारतीय समुदाय के 50 हजार से ज्यादा लोगों को दुनिया के दो सबसे बड़े लोकतांत्रिक देशों के नेता एक साथ संबोधित करेंगे।

यह भी पढ़ें…60 सैलानियों से भरी नाव गोदावरी नदी में पलटी, मृतकों की संख्या 46 तक बढ़ने का डर

इस कार्यक्रम में प्रधानमंत्री मोदी और राष्ट्रपति ट्रंप की जुगलबंदी देखने को मिलेगी जिसके पड़ोसी देश पाकिस्तान के कलेजे पर सांप लोट जाएगा।

इस कार्यक्रम के लिए रजिस्ट्रेशन हो चुका है। इसके संबंध में व्हाइट हाउस की मीडिया सचिव स्टेफिनी ने बयान जारी कर कहा कि मोदी और ट्रंप की यह संयुक्त रैली भारत और अमेरिका के रिश्तों को मजबूत करने का अहम मौका होगी। व्हाइट हाउस ने बताया कि पीएम ऑफिस की तरफ से ही इसके लिए न्योता दिया गया था।

तो वहीं अमेरिका में भारतीय राजदूत हर्षवर्धन श्रृंगला ने कहा कि डोनाल्ड ट्रंप का इस इवेंट में शामिल होना ऐतिहासिक है। यह भारत और अमेरिका की मजबूत दोस्ती के रिश्ते को बयां करता है।

 

 

यह भी पढ़ें…राजस्थान: मुसीबत बना बांध से छोड़ा पानी, स्कूल में फंसे 350 मासूम

 

 

खास दोस्ती का संकेत: PM मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा अमेरिकी राष्ट्रपति के 22 सितंबर के कार्यक्रम में शामिल होने को लेकर प्रसन्नता जताई। पीएम मोदी ने ट्वीट कर कहा कि अमेरिका के राष्ट्रपति का यह फैसला भारत और अमेरिका के बीच खास दोस्ती का संकेत है।’

पीएम ने कहा कि ह्यूस्टन में मेरे साथ अमेरिकी राष्ट्रपति का मौजूद होना अमेरिकी समाज और अर्थव्यवस्था में भारतीय समुदाय के योगदान को मान्यता देता है। उन्होंने कहा कि 22 को ह्यूस्टन में आयोजित कम्युनिटी प्रोग्राम में डोनाल्ड ट्रंप भी होंगे, इससे काफी खुश हूं। उन्होंने आगे कहा कि भारतीय समुदाय के कार्यक्रम में शामिल होने के लिए काफी उत्साहित हूं।

यह भी पढ़ें…सऊदी अरब के तेल कुओं पर अटैक, 100 साल में पहली बार खड़ा हुआ ये बड़ा संकट

मोदी का तीसरा बड़ा कार्यक्रम

2014 में प्रधानमंत्री बनने के बाद भारतीय-अमेरिकियों को संबोधित करने का पीएम मोदी का तीसरा बड़ा कार्यक्रम होगा। मई में दोबारा चुने जाने के बाद अमेरिका में यह इस तरह की पीएम की पहली रैली है। इससे पहले 2014 में न्यूयॉर्क के मेडिसन स्क्वॉयर में दो कार्यक्रम आयोजित किए गए थे जबकि 2016 में सिलिकॉन वैली में कार्यक्रम आयोजित किया गया था। दोनों ही इवेंट में 20 हजार से ज्यादा लोगों ने हिस्सा लिया था।

ऐसा पहली बार होगा कि अमेरिका में कोई अमेरिकी राष्ट्रपति एकसाथ हजारों इंडो-अमेरिकन नागरिकों को संबोधित करेगा। आपको बता दें कि ‘हाउडी’ शब्द अंग्रेजी के ‘हाउ डू यू डू’ का शॉर्ट फॉर्म है। साउथ वेस्ट यूएस में यह शब्द काफी चलता है।

 

यह भी पढ़ें…नहीं कम हो रहा है सरकारी बंगले का ‘मोह’, 80 से ज्यादा पूर्व सांसद जमाये बैठे हैं कब्जा

ट्रंप हो गए सहमत

ट्रंप और मोदी के बीच की केमिस्ट्री कमाल की है। अधिकारी बताते हैं कि निमंत्रण मिलने के तुरंत बाद ट्रंप ने इसके लिए हामी भर दी थी। यह दोनों के बीच की इस साल की तीसरी मीटिंग होगी।