उत्तर प्रदेश

उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में दर्दनाक हादसा हो गया है। इस हादसे में सात श्रद्धालुओं की मौत हो गई है। ये सभी श्रद्धालु सड़क किनारे सो रहे थे। यह दर्दनाक हादसा बुलंदशहर के नरौरा गंगाघाट पर हुआ है जिसमें सात श्रद्धालुओं की जान चली गई है। मरने वालों में चार महिला और तीन मासूम बच्चे हैं।

किसी भी व्‍यक्ति द्वारा की गयी आत्‍महत्‍या से सिर्फ उसी व्‍यक्ति का जीवन ही नहीं समाप्‍त होता है, बल्कि परिजनों की परेशानियां बढ़ती हैं, साथ ही समाज का भी नुकसान होता है। संतोष की बात यह है कि यह समस्‍या लाइलाज नहीं है, आत्‍महत्‍या की इस प्रवृत्ति को रोकना पूरी तरह संभव है।

मोदी सरकार में बीजेपी शासित राज्य उत्तर प्रदेश में प्रापर्टी रखने वालों के लिए बड़ी खबर सामने आ रही है। यूपी में अब सभी शहरी संपत्तियां, स्वामी(मालिक) के आधार कार्ड से लिंक कराई जाएंगी।

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने झांसी में हुए पुष्पेन्द्र एनकाउंटर को फर्जी करार देते हुए कहा है कि प्रशासन अपनी जिम्मेदारी नहीं निभा रहा है। दोषियों को बचाने की साजिश हो रही है।

इसमें देश भर के एक हजार से भी अधिक विज्ञान में विज्ञान लेखन कार्य करने वाले उपस्थित रहेंगे। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि विधानसभा अध्यक्ष हदयनारायण दीक्षित होंगेें। इनके अलावा केन्द्रीय मंत्री डा महेन्द्र नाथ पाण्डेय भी कार्यक्रम में उपस्थिति रहेंगे।

संपूर्णानंद संस्कृत यूनिवर्सिटी के खेल मैदान में शुक्रवार से शुरू होना वाला कालीन एक्सपो क्या कालीन के कारोबारियों और बुनकरों की किस्मत बदल पाएगा ? क्या धंधे में आई मंदी को कालीन एक्सपो दूर कर पाएगा ?

भारतीय जनता पार्टी ने सपा प्रमुख अखिलेश यादव के बयान पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि उन लोगों को राज्य की कानून व्यवस्था पर बोलने का हक नहीं जिनके राज्य में थानों के भीतर पुलिसकर्मियों की हत्याएं हो जाती थी।

बाराबंकी के जैदपुर इलाके में गोकशी की शिकायत पर जैदपुर पुलिस ने जिस युवक को गिरफ्तार किया था उसे बेकसूर बताकर छुड़ाने के लिए राज्यसभा सदस्य पीएल पुनिया थाने पहुंच गए। मगर, प्रभारी निरीक्षक ने आरोपी को छोड़ने से इंकार कर दिया। ऐसे में सांसद समर्थकों के साथ धरने पर बैठ गए।

स्थानीय लोग काफी आक्रोशित हैं। लोग समझ नहीं पा रहे हैं कि यह घटना कैसे हुई और इसे किन लोगों ने अंजाम दिया है। फिलहाल वहां पर भारी संख्या में पुलिस की तैनाती कर दी गई है।

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार द्वारा चकबंदी विभाग को राजस्व विभाग में शामिल करने का विरोध करने के लिए लगभग 50 हज़ार से ज्यादा राजस्व कर्मी आंदोलन एवं प्रदर्शन में शामिल होंगे । यह विरोध प्रदर्शन  लखनऊ कलेक्ट्रेट सहित UP के सभी जिलाधिकारी कार्यालय में आज किया जायेगा।