जाम मुक्त होगा लखनऊ: राजनाथ सिंह ने दी सौगात, बोले- सालों पुरानी जरूरत हुई पूरी

मंगलवार को रक्षामंत्री व लखनऊ से सांसद राजनाथ सिंह और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सीजी सिटी, सुल्तानपुर रोड पर बने नवीन कैंसर इंस्टिट्यूट के सर्जिकल ऑन्कोलॉजी, रेडिएशन ऑन्कोलॉजी एवं अन्तःरोगी सेवाओं व ओपीडी ब्लॉक की औपचारिक शुरुआत की।

Rajnath Singh inaugurates lucknow flyover traffic free city cm yogi launch cancer hospital

राजनाथ सिंह ने दी सौगात (photo Twitter)

अखिलेश तिवारी

लखनऊ। लखनऊ शहर के लोगों का अत्‍यंत पुराना सपना आज साकार हो उठा है। कैंसर अस्‍पताल की शुरुआत और बेहद लंबे दो फ़लाईओवर को कोरोना संकट के दौरान भी तैयार कराकर योगी सरकार ने अपना वादा निभाया है। जाम मुक्‍त यातायात से विकास का पथ प्रशस्‍त होता है। केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने मंगलवार को कैंसर अस्‍पताल व दो उप‍रिगामी पथों के लोकार्पण अवसर पर कहा कि इसके लिए मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ को बधाई दी जानी चाहिए, जिन्‍होंने विपरीत परिस्थितियों में भी निर्माण कार्य को रुकने नहीं दिया।

लखनऊ में दो फ्लाई ओवर का उद्घाटन

मंगलवार को रक्षामंत्री व लखनऊ से सांसद राजनाथ सिंह और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सीजी सिटी, सुल्तानपुर रोड पर बने नवीन कैंसर इंस्टिट्यूट के सर्जिकल ऑन्कोलॉजी, रेडिएशन ऑन्कोलॉजी एवं अन्तःरोगी सेवाओं व ओपीडी ब्लॉक की औपचारिक शुरुआत की।

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और सीएम योगी ने की शुरुआत

इस मौके पर रक्षामंत्री और मुख्यमंत्री ने लखनऊ वासियों को जाम की समस्या से निजात दिलाने वाले दो फ्लाईओवर का तोहफे भी दिए। केंद्रीय रक्षामंत्री ने कहा कि आज का यह कार्यक्रम लखनऊ की जनता के लिए बेहद खास है क्योंकि जिन दो फ्लाई ओवरों और कैंसर हॉस्पिटल का आज उद्घाटन और लोकार्पण हो रहा है उसका इंतजार लोग बड़ी बेसब्री से कर रहे थे।

तीन लेन फ्लाई ओवर की कुल लम्बाई लगभग 1.5 कि.मी

लखनऊ में ट्रैफिक का दबाव आबादी के बढ़ने की रफ्तार से भी अधिक तेजी से बढ़ रहा है। इसलिए यह जरूरी हो जाता है कि इस शहर का ढांचगत सुधार भी तेजी से होता रहे।

ये भी पढ़ेंः तेजस्वी पर फेंकी चप्पल: रैली में दो बार हुआ ऐसा, जनसभा में मच गया हड़कंप

गुरूगोविन्द सिंह मार्ग से नाका चौराहा होते हुए डीएवी कालेज तक जिस तीन लेन फ्लाई ओवर का लोकार्पण किया जा रहा है उसकी कुल लम्बाई लगभग 1.5 कि.मी. है। यह पूरा इलाका रोड जाम से जूझ रहा था लेकिन अब लोगों को इससे निजात मिल जाएगी। इस प्रोजेक्‍ट पर 133 करोड़ रुपये खर्च हुए हैं। जुलाई 2018 को यह प्रोजेक्‍ट स्‍वीकृत हुआ और रिकार्ड अवधि में सेतु निगम ने पूरा कर दिखाया।

शहर आवागमन जितना तेज होगा, उसकी आर्थिक उन्नति उतनी ही तेज

उन्‍होंने कहा‍कि कोई भी शहर आवागमन में जितना तेज होगा, उसकी आर्थिक उन्नति उतनी ही तेज गति से होती है। इसी को ध्‍यान में रखते हुए शहर के चारो ओर 104 किमी की लंबाई में 8 लेन वाली आउटर रिंग रोड का निर्माण प्रारम्भ कराया गया। इस पर तेजी से काम चल रहा है, दिसम्बर 2021 तक यह सडक भी लोगों को मिल जाएगी।

ये भी पढ़ेंः महिलाओं के लिए ट्रेन: अब मिलेगी यात्रा में सहूलियत, पीयूष गोयल ने किया एलान

रक्षामंत्री ने बताया कि लखनऊ से सुल्तानपुर रोड चार लेन बनवाई गयी। लखनऊ-कानपुर के बीच एक्सप्रेस-वे भी स्वीकृत हो चुका है जबकि लखनऊ-हरदोई-शाहजहांपुर-बलिया नेशनल हाइवे 731 घोषित करके चार लेन चौड़ीकरण का कार्य प्रारम्भ कराया गया। शहर में पांच किमी लंबा छह लेन कुकैरल फ्लाई ओवर बनवाया गया। शहर के अंदर 6-7 अन्य फ्लाई ओवरों का निर्माण प्रारम्भ कराया गया ताकि पूरा शहर जाममुक्त हो सके और तेज विकास की ओर आगे बढ़ सके।

कैंसर संस्थान की शुरुआत, 54 बेड की क्षमता

कार्यक्रम में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि कोविड काल का सबसे बड़ा सबक चिकित्सकीय सुविधाओं का बेहतरी की जरूरत है। टाटा ट्रस्ट के सहयोग के लखनऊ में स्थापित यह कैंसर संस्थान पूरे उत्तर प्रदेश के लिए बड़ी सुविधा देने वाला होगा। अभी शुरुआत में कैंसर हॉस्पिटल की क्षमता 54 बेड की है, इसे शीघ्र ही 750 की क्षमता में उच्चीकृत कर दिया जाएगा। अगले चरण में 1250 बेड की क्षमता तक ले जाने का लक्ष्य है।इससे पहले काशी में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के आशीर्वाद से एक कैंसर हॉस्पिटल की शुरुआत हो चुकी है।

बेहतर चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराने का संकल्प दोहराते हुए मुख्यमंत्री ने कहा आयुष्मान योजना और मुख्यमंत्री जन आरोग्य योजना जैसे प्रयासों ने उच्च गुणवत्तापरक मेडिकल सुविधाएं मुहैया कराने के संकल्प को सिद्ध करने में सहायता दी है।

उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य का भरोसा

कार्यक्रम में डिजिटल माध्यम से जुड़े प्रदेश के लोक निर्माण विभाग के मंत्री और उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने राज्य में संचालित सेतु व सड़क परियोजनाओं को समय से और गुणवत्ता के साथ पूरा किये जाने के लिए सभी को भरोसा दिलाया। इस मौके पर क़्वालिटी कंट्रोल ऑफ इंडिया और नवलोकर्पित कैंसर हॉस्पिटल के बीच एक एमओयू भी हस्ताक्षरित हुआ।

ये भी पढ़ेंः चीन के दुश्मन देश के साथ भारत करेगा बड़ी डील! बौखलाया ड्रैगन, दी धमकी

अब नहीं लगेगा जाम

रक्षामंत्री ने लोगों को याद दिलाया कि फ्लाईओवर के नीचे बांसमण्डी चौराहा में हर समय जाम लगा रहता था। विधानसभा क्षेत्र से पुराने लखनऊ को भारी संख्या में वाहनों का आवागमन होता था। वहीं दूसरी ओर कैसरबाग, अमीनाबाद, लाटूस रोड के व्यावसायिक क्षेत्रों से चारबाग रेल और बस स्टेशनों के लिए भारी आवागमन था। अब पुराने शहर जाने वाला ट्रैफिक फ्लाई ओवर से निकलने के कारण नीचे चौराहे से हर समय आवागमन बिना रूके हुए चलता रहेगा। इसी प्रकार नाका चौराहे से होकर मेडिकल कालेज, रकाबगंज, गणेशगंज का ट्रैफिक चारबाग के लिए भारी संख्या में चलता था और हमेशा यहां जाम रहता था।

फ्लाई ओवर बनने के बाद अब नीचे चौराहे से ट्रैफिक बिना रूके आ-जा सकेगा। जाम से मुक्ति मिलेगी, समय बचेगा और इसके फलस्वरूप बांसमण्डी चौराहा से नाका चौराहा तक और लाटूस रोड, अमीनाबाद, कैसरबाग आदि में व्यावसायिक गतिविधियों में तेजी आयेगी। आर्थिक उन्नति होगी।

दूसरा फ्लाई ओवर भी शहर को सौंपा

हैदरगंज तिराहे से राजाजीपुरम तक 908 मीटर लम्बे लगभग 65 करोड़ की लागत से निर्मित दो लेन फ्लार्इओवर का भी मंगलवार को ही लोकार्पण किया गया। यह मार्ग पुराने शहर में बड़ा एवं छोटा इमामबाड़ा, मेडिकल कालेज एवं अन्य पर्यटन स्थलों को राजाजीपुरम, तालकटोरा- करबला, आलमबाग व आलमनगर रेलवे स्टेशन से जोड़ता है वहीं बुलाकी अड्डे चौराहे से बुद्धेश्वर मंदिर होता हुआ मोहान रोड एवं आगरा एक्सप्रेस-वे को भी जोड़ता है जिससे यहां हमेशा जाम की स्थिति बनी रहती थी।

ये भी पढ़ेंः बड़ा रेल हादसा: पटरी से उतरी बोगियां, मचा कोहराम, रूट की सभी ट्रेनें रद्द

इस ब्रिज के बन जाने के बाद राजाजीपुरम, हैदरगंज, चौक, नक्खास, टूड़ियागंज, चारबाग, आलमबाग, आर.डी.एस.ओ. और आलमनगर रेलवे स्टेशन आना-जाना सुगम होगा और बहुत समय बचेगा।

मुख्‍यमंत्री को बार –बार सराहा

रक्षामंत्री ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की कई बार सराहना की और उनसे विकास कार्यों में सहयोग की अपेक्षा भी की। उन्‍होंने दोनों फलाईओवर के नीचे की सडक निर्माण का अनुरोध करने के साथ ही उनका धन्‍यवाद किया कि 334 करोड़ रूपये से हैदर कैनाल एसटीपी निर्माण को स्वीकृति उनके द्वारा दी गयी और दौलतगंज एसटीपी अपग्रेडेशन की योजना भी राज्य सरकार द्वारा प्रयास करके नमामि गंगे कार्यक्रम के अन्तर्गत स्वीकृत कराई गयी। कैंसर अस्‍पताल की तारीफ करते हुए कहा कि कैंसर जैसे प्राणघातक रोग के इलाज के लिए लखनऊ में इतना बड़ा अस्पताल होना अपने आप में बहुत बड़ी बात है। इस अस्पताल के खुलने से अब कैंसर के इलाज के लिए लखनऊ ही नहीं बल्कि आस पास के सभी जिलों में भी किसी को दिल्ली, मुम्बई, चेन्नई के चक्कर काटने की जरूरत नही पड़ेगी।

मेयर को भी याद दिलाई जिम्‍मेदारी

रक्षामंत्री ने मेयर संयुक्‍ता भाटिया को भी जिम्‍मेदारी याद दिलाते हुए कहा कि दोनो फ्लाई ओवरों  के नीचे अवैध कब्जे न हों इसके लिए सेन्ट्रल वर्ज में लोहे के ग्रिल लगाकर सुन्दर पेड़ पौधे लगाए जाएं। नगर निगम की कार्य योजना के अनुरूप इसकी व्यवस्था करा दें। यह स्थानीय बाजार वालों की भी मांग है। उन्‍होंने यह भी बताया कि लखनऊ शहर में 2053 करोड़ की लागत से स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट भी क्रियान्वित हो रहा है। स्मार्ट सिटी बनाने की राह तभी खुलती है जब शहर का इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर स्‍मार्ट होता है।

ये भी पढ़ेंः तबाही की ओर बनारसी: 350 करोड़ रुपए का लगा झटका, हड़ताल बनी वजह

मुख्यमंत्री आवास पर वर्चुअल माध्यम से सम्पन्न इस कार्यक्रम में स्वास्थ्य मंत्री जय प्रताप सिंह, चिकित्सा शिक्षा मंत्री सुरेश खन्ना, स्थानीय जनप्रतिनिधि, मुख्य सचिव आरके तिवारी, अपर मुख्य सचिव सूचना नवनीत सहगल, कैंसर इंस्टिट्यूट के डायरेक्टर डॉ. शालीन कुमार सहित टाटा ट्रस्ट के प्रतिनिधि व शासन के अनेक अधिकारी उपस्थित रहे।

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App