×

लखनऊ के सीडीआरआई, आईआईटीआर तथा बीएसआईपी में कल से शुरू होगी टेस्टिंग

लखनऊ स्थित सीडीआरआई, आईआईटीआर तथा बीएसआईपी में टेस्टिंग कार्य के लिए माइक्रो बायोलाॅजिस्ट सहित अन्य मानव संसाधन उपलब्ध करा दिया गया है। इन संस्थानों में कल शनिवार से टेस्टिंग कार्य प्रारम्भ हो जाएगा।

Ashiki
Updated on: 1 May 2020 3:04 PM GMT
लखनऊ के सीडीआरआई, आईआईटीआर तथा बीएसआईपी में कल से शुरू होगी टेस्टिंग
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

लखनऊ: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा हैं कि वैश्विक स्तर पर उपलब्ध गुणवत्तापरक टेस्टिंग किट को प्राप्त करने पर विचार किया जाए। अवस्थी ने बताया कि लखनऊ स्थित सीडीआरआई, आईआईटीआर तथा बीएसआईपी में टेस्टिंग कार्य के लिए माइक्रो बायोलाॅजिस्ट सहित अन्य मानव संसाधन उपलब्ध करा दिया गया है। इन संस्थानों में कल शनिवार से टेस्टिंग कार्य प्रारम्भ हो जाएगा।

ये पढ़ें: पालघर लिंचिंग मामला: साधुओं की हत्या में शामिल 5 लोग हुए गिरफ्तार

अपर मुख्य सचिव अवनीश अवस्थी ने बताया कि मुख्यमंत्री ने कहा हैं कि एल-1, एल-2 तथा एल-3 अस्पतालों की क्षमता में वृद्धि करते हुए 52 हजार बेड की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। प्राइवेट इंजीनियरिंग काॅलेज, डेन्टल काॅलेज तथा नर्सिंग काॅलेज में आवश्यकतानुसार एल-1, एल-2 चिकित्सालय स्थापित करने की कार्य योजना बनायी जाए। उन्होंने जनपद आगरा और कानपुर नगर में अतिरिक्त प्रशासनिक एवं डेडिकेटेड मेडिकल टीम भेजने के निर्देश दिये हैं।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि सावधानी एवं सतर्कता से ही कोरोना संक्रमण से बचा जा सकता है। कोरोना को परास्त करने के लिए मेडिकल इन्फेक्शन को रोकना आवश्यक है। इमरजेन्सी सेवा उपलब्ध कराने वाले अस्पतालों में पीपीई किट, एन-95 मास्क सहित सुरक्षा के सभी आवश्यक मानक अपनाये जाए। उन्होंने कहा कि कोविड-19 के खिलाफ जंग में पुलिस कर्मी फ्रण्टलाइन पर कार्य कर रहे हैं। इन्हें संक्रमण से बचाने के लिए सभी सुरक्षा उपकरण प्रदान किये जाएं तथा मेडिकल प्रशिक्षण देने की व्यवस्था की जाए। प्रशिक्षण के लिए मास्टर ट्रेनर नियुक्त किये जाए तथा इस सम्बन्ध में एक एप भी डेवलप किया जाए। पुलिस लाइन, थाने आदि को सेनेटाइज किया जाए। रोडवेज बसों के चालकों को मास्क तथा ग्लव्स उपलब्ध कराए जाए।

ये पढ़ें: कमलनाथ का बड़ा बयान, कहा कि दिग्विजय के कारण नहीं बच सकी सरकार

अवस्थी ने बताया कि विभिन्न राज्यों के लिए नोडल अधिकारियों के कार्याें की जानकारी प्राप्त करते हुए निर्देश दिये हैं कि समस्त नोडल अधिकारी फोन पर उपलब्ध रहते हुए लोगों की दिक्कतों को सुनें एवं उनका समाधान कराएं। मण्डियों में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराने के लिए भीड़ एकत्र न होने दी जाए। उन्होंने कहा कि डिजिटल बैंकिंग को प्रोत्साहित करने से बैंकों में भीड़ नहीं लगेगी। इसके दृष्टिगत रुपे कार्ड से लेन-देन को बढ़ावा दिया जाए। उन्होंने कहा कि बाहर से आ रहे श्रमिकों के कौशल का विवरण संकलित करते हुए सूची तैयार की जाए, जिससे इन श्रमिकों को उनकी कार्य दक्षता के अनुरूप रोजगार के अवसर उपलब्ध कराये जा सकें।

रिपोर्ट: श्रीधर अग्निहोत्री

ये पढ़ें: पति दो प्रॉपर्टी लो: दौड़ी-दौड़ी घर पहुंची प्रेमिका, पत्नी ने देखा कुछ ऐसा और रह गई दंग

खुशखबरी: लॉकडाउन में फंसे लोगों को घर पहुंचाने के लिए चलेंगी स्पेशल ट्रेन

कमलनाथ का बड़ा बयान, कहा कि दिग्विजय के कारण नहीं बच सकी सरकार

मोदी सरकार का बड़ा ऐलान: 5 राज्यों को मिला वरदान, नहीं होगी कोई दिक्कत

Ashiki

Ashiki

Next Story