भारी बारिश से भूस्खलन: 12 लोगों की मौत, कई लापता, मचा हाहाकार

नेपाल से दिल दहला देने वाली खबर सामने आई है। पश्चिमी और पूर्वी नेपाल में भारी बारिश के बाद भूस्खलन हुआ है। भूस्खलन की घटनाओं में कम से कम 12 व्यक्तियों की मौत हो गई है जबकि 9 लोग लापता हो गए हैं।

Landslide in Nepal

भारी बारिश से भूस्खलन: 12 लोगों की मौत, कई लापता, मचा हाहाकार (फोटो: सोशल मीडिया)

लखनऊ: नेपाल से दिल दहला देने वाली खबर सामने आई है। पश्चिमी और पूर्वी नेपाल में भारी बारिश के बाद भूस्खलन हुआ है। भूस्खलन की घटनाओं में कम से कम 12 व्यक्तियों की मौत हो गई है जबकि 9 लोग लापता हो गए हैं।

बता दें कि नेपाल में मंगलवार से ही भारी से मध्यम बारिश हो रही है। मौसम विभाग के मुताबिक, यह बारिश शनिवार तक हो सकती है। अधिकारियों ने बताया कि पश्चिम नेपाल के वालिंग नगर पालिका क्षेत्र में एक मकान के भूस्खलन की चपेट में आ गया। इसके कारण तीन बच्चों सहित नौ लोगों की मौत हो गई और चार अन्य लापता हैं।

बचाव अभियान के लिए सुरक्षाकर्मी तैनात

पश्चिमी नेपाल में भी ऐसी ही घटना घटी है जिसमें सियांग्जा जिले में 15 वर्षीय एक लड़की की जान चली गई है। पल्पा जिले और पूर्वी नेपाल में धनुकुटा नगर पालिका क्षेत्र में एक-एक युवक की मौत हो गई है। पल्पा में भूस्खलन की चपेट में आने के बाद पांच व्यक्ति लापता हो गए हैं। नेपाल सेना और नेपाल पुलिस संयुक्त टीम को बचाव अभियान के लिए तैनात किया गया है।

यह भी पढ़ें…नाॅर्थ कोरिया की क्रूरता: अधिकारी को पहले मारी गोली, फिर तेल डालकर जलाया

कांगो में भी मरे थे 50 से ज्यादा

गौरतलब है कि इससे पहले पूर्वी कांगो के दक्षिणी कीवु प्रांत में भूस्खलन के बाद सोने की तीन खान धंस गई थीं। इस हादसे में 50 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई। कमीतुगा शहर में कुछ दिनों से लगातार भारी बारिश हो रही थी जिसके बाद यह भयानक हादसा हुआ था।

Landslide
प्रतीकात्मक तस्वीर (फोटो: सोशल मीडिया)

यह भी पढ़ें…कश्मीर में मौत का तांडव: आतंकियों ने वकील को मारी गोली, मची सनसनी

स्थानीय मेयर अलेक्सांद्र बुंदया ने इस बारे में जानकारी देते हुए कहा था कि मृतकों में खनिक और अन्य कर्मी शामिल हैं। तो वहीं गवर्नर ने कहा था कि दक्षिणी कीवु प्रांत के कमीतुगा शहर में शुक्रवार शाम करीब 3 बजे (स्थानीय समय) सोने की खान धंस गई। उन्होंने बताया कि मृतकों अधिकतर युवा और बच्चे शामिल थे।

यह भी पढ़ें…सीमा पर आतंक: SAARC की बैठक में घिरा पाकिस्तान, भारत ने गिनाई चुनौतियां

अधिकारियों का कहना है कि बीते कई दिनों से लगातार हो रही भारी बारिश के कारण यह हादसा हुआ था। गवर्नर ने इस हादसे के बाद राज्य में दो दिन के शोक की घोषणा की है। इसके साथ ही उन्होंने स्थानीय लोगों से शवों को निकालने में मदद की अपील की थी।

बता दें कि मानसून एक बार फिर सक्रिय हो गया है जिसकी वजह नेपाल समेत भारत के कई राज्यों में बारिश जारी है। बारिश की वजह से जान-माल का नुकसान हुआ है।

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App