यहां आतंकियों ने आर्मी कैंप पर किया भीषण हमला, 73 जवानों की मौत, कई घायल

आतंकियों ने एक दिल दहला देने वाली घटना को अंजाम दिया है। नाइजर में आतंकवादियों ने एक आर्मी कैंप पर हमला कर दिया जिसमें कम से कम 73 जवानों की मौत हो गई है। नाइजर में हथियारबंद आतंकवादियों ने सेना के कैंप पर तोप और मोर्टार से हमला किया जिसमें 73 जवानों की जान चली गई। कई जवानों के घायल होने की खबर है।

नई दिल्ली: आतंकियों ने एक दिल दहला देने वाली घटना को अंजाम दिया है। नाइजर में आतंकवादियों ने एक आर्मी कैंप पर हमला कर दिया जिसमें कम से कम 73 जवानों की मौत हो गई है। नाइजर में हथियारबंद आतंकवादियों ने सेना के कैंप पर तोप और मोर्टार से हमला किया जिसमें 73 जवानों की जान चली गई। कई जवानों के घायल होने की खबर है।

यह जानकारी दक्षिण अफ्रीकी देश के रक्षा मंत्री ने दी। विदेशी मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक हमला मंगलवार को माली के समीप नाइजर सीमा के पास स्थित आर्मी के शिविर पर हमला किया। मंत्रालय ने जारी बयान में बताया कि तीन घंटे तक चले हमले को भारी हथियारों से लैश सैकड़ों आतंकवादियों ने हमला किया। बयान में यह भी बताया गया कि 57 हमलावरों को भी मार गिराया गया है।

यह भी पढ़ें…फिल्म ‘पानीपत’ का ये सीन मेकर्स पर पड़ा भारी, अब फिल्म में करेंगे ये बड़ा बदलाव

इस पश्चिमी अफ्रीकी देश के हाल के इतिहास में सुरक्षा बलों पर यह सबसे भयानक हमला है। हिंसा की यह घटना फ्रांस में होने वाले एक सम्मेलन से सिर्फ कुछ दिन पहले हुई है। इस सम्मेलन में फ्रांस के राष्ट्रपति एमैनुएल मैक्रों के पश्चिमी अफ्रीकी नेताओं से साहेल क्षेत्र में फ्रांस की सेना की भूमिका पर चर्चा करने की संभावना है।

यह भी पढ़ें…ये यूजर्स नहीं कर पाएंगे WhatsApp का इस्तेमाल, कहीं आप भी तो इसमें शामिल नहीं

यह नहीं बताया कि किस समूह ने इस हमले की जिम्मेदारी ली है। लेकिन नाइजर बल माली के पास पश्चिमी क्षेत्र में इस्लामिक स्टेट से संबद्ध जिहादियों और दक्षिणपूर्व में बोको हराम के आतंकवादियों के खिलाफ लड़ाई लड़ रहे हैं।

यह भी पढ़ें…आखिर क्यों? माननीय को लुटियन जोन में अपने लिए चाहिए अलग लेन

राष्ट्रपति मोहम्मदू इसूफू के ट्विटर अकाउंट से एक ट्वीट कर बताया गया है कि वह नाइजर की माली के साथ लगती सीमा पर हुए इस हमले के बाद मिस्र की अपनी यात्रा को बीच में खत्म करके स्वदेश लौट रहे हैं। नाइजर की सेना ने अभी मृतकों की संख्या जारी नहीं की है, लेकिन नाम न जाहिर करने की शर्त पर सलाहकार ने इस अस्थायी संख्या की पुष्टि की है।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App