होगा ऐसा जोरदार हमला: अमेरिका ने दी धमकी, ईरान में मची हलचल

अमेरिका और ईरान के बीच तनाव चरम पर है और इस बीच अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का एक नया ट्वीट सामने आया है। ट्रंप ने इस ट्वीट में ईरान को चेतावनी देते हुए कहा है कि, ईरान को हम सलाह देते हैं कि वो ऐसा न करें। क्योंकि इस बार हम उन पर और जोरदार हमला करेंगे।

Published by Shreya Published: January 5, 2020 | 1:01 pm
Modified: January 5, 2020 | 1:09 pm

वॉशिंगटन: अमेरिका और ईरान के बीच तनाव चरम पर है और इस बीच अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का एक नया ट्वीट सामने आया है। ट्रंप ने इस ट्वीट में ईरान को चेतावनी देते हुए कहा है कि, ईरान को हम सलाह देते हैं कि वो ऐसा न करें। क्योंकि इस बार हम उन पर और जोरदार हमला करेंगे।

ट्रंप ने दी चेतावनी

ट्रंप ने ट्वीट किया कि, उन्होंने हम पर हमला किया और हमने उस हमले का जवाब दिया। यदि वे फिर से हमला करते हैं, जो मैं उन्हें सलाह देता हूं कि वे ऐसा न करें, तो हम उन पर पहले से कहीं ज्यादा जोरदार हमला करेंगे, जैसा अब तक कभी नहीं हुआ।

ईरान ने युद्ध का किया ऐलान

वहीं इस ट्वीट के बाद माना जा रहा है कि, दोनों देशों के बीच तनाव और बढ़ सकता है। जहां एक ओर ट्रंप ने हमले न करने की चेतावनी दी है तो वहीं दूसरी ओर ईरान ने प्रमुख मस्जि द पर लाल झंडा लहराकर युद्ध की स्थिति का ऐलान कर दिया है। शिया परंपरा के मुताबिक, मस्जिद पर लाल झंडा फहराना युद्ध और बदला लेने का प्रतीक होता है।

यह भी पढ़ें: Samsung ने लाजवाब फीचर्स के साथ की Galaxy Note 10 Lite की पेशकश

अमेरिका के स्ट्राइक में हुई थी सुलेमानी की मौत

दरअसल, बीते दिन शुक्रवार को अमेरिका के एयरस्ट्राइक में ईरान के कमांडर जनरल कासिम सुलेमानी के मारे जाने के बाद दोनों देशों के बीच तनाव चरम पर पहुंच गया है। वहीं अमेरिका ने ईरान समर्थित संगठन हशद अल शाबी को भी कल शनिवार को इराक में निशाना बनाया। जिसके बाद शनिवार रात बगदाद में अमेरिकी दूतावास और एयरफोर्स बेस पर रॉकेट से हमला किया गया है।

हमले के पीछ ईरान का हाथ!

इस हमले के पीछे ईरान का हाथ माना जा रहा है। दरअसल, कासिम सुलेमानी की बेटी जेनाब सुलेमानी ने राष्ट्रपति हसन रोहानी से बातचीत के दौरान कहा था कि, जब मेरे पिता के दोस्तों का खून बहता था तो वो बदला लेते थे। अब उनका बदला कौन लेगा। जिसका जवाब में रोहानी ने कहा कि, शहीद के खून का बदला लिया जाएगा, चिंता मत करो।

अमेरिका को नुकसान पहुंचाने वालों को ढूंढकर मारेंगे- ट्रंप

अमेरिका द्वारा बगदाद में एयर स्ट्राइक किए जाने के बाद ईराक के अमेरिका के ठिकानों पर हमला हुआ है। बगदाद में हुई एयर स्ट्राइक में टॉप कमांडर कासिम सुलेमानी की मौत हो गई थी। वहीं ट्रंप ने सुलेमानी की मौत को सही ठहराया है। ट्रंप ने कहा था कि, जो अमेरिका को नुकसान पहुंचाएगा उसे ढूंढ कर मारेंगे।

यह भी पढ़ें: बर्थडे स्पेशल: BJP नेता मुरली मनोहर जोशी का आज है जन्म दिन, PM मोदी ने दी बधाई

अमेरिका के ठिकानों पर हुए हमले के बाद ट्रंप ने ईरान को चेताते हुए कहा कि, अमेरिका की कुछ संपत्तियों को निशाना बनाने के बारे में ईरान बहुत ही साहस के साथ बात कर रहा है। जबकि अपने आतंकी नेता के बारे में नहीं बता रहा है, जिसने अपने जीवनकाल में कई अमेरिकियों को और कई लोगों की हत्या की।

उन्होंने लिखा कि, सैकड़ों ईरानी प्रदर्शनकारी अमेरिका के दूतावास पर हमला कर रहे हैं। कई जगहों पर हमले की तैयारी कर रहे हैं। ये ईरान की पुरानी समस्या है। मैं चेतावनी देता हूं अगर किसी भी अमेरिकन या उसके ठिकानों को निशाना बनाया। हमने इरान के 52 ठिकानों को टारगेट किया है। कुछ ठिकाने ईरान के लिए बेहद खास हैं। हम इनपर बहुत तेज और जोरदार हमला करेंगे। अमेरिका अब कोई धमकी बर्दाश्त नहीं करेगा।

वहीं अमेरिका इराक में अपने ठिकानों पर हमला होने के बाद इराक में लगातार अपने सैनिकों की संख्या बढ़ा रहा है। शनिवार को अमेरिका के 650 सैनिक इराक की राजधानी बगदाद पहुंचे हैं। ऐसा माना जा रहा है कि, अमेरिका आगे चलकर 3.5 हजार सैनिक को इराक भेजेगा।

यह भी पढ़ें: राम मंदिर आंदोलन का ‘नायक’, बाबरी की आखिरी ईंट गिरने पर लिया था बड़ा फैसला