×

अमीरों के डूब गए 27 लाख करोड़, मच गया हड़कंप

दुनिया भर के अमीरों के 38,800 करोड़ डॉलर (करीब 27 लाख करोड़ रुपये) एक साल में डूब गए। अमोरी को यह नुकसान इस दौरान 10 साल की सबसे बड़ी गिरावट की वजह से हुई है।

Dharmendra kumar
Updated on: 9 Nov 2019 2:16 PM GMT
अमीरों के डूब गए 27 लाख करोड़, मच गया हड़कंप
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

नई दिल्ली: दुनिया भर के अमीरों के 38,800 करोड़ डॉलर (करीब 27 लाख करोड़ रुपये) एक साल में डूब गए। अमोरी को यह नुकसान इस दौरान 10 साल की सबसे बड़ी गिरावट की वजह से हुई है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक अमीरों की दौलत 38,800 करोड़ डॉलर (करीब 27 लाख करोड़ रुपये) घटकर 8.539 लाख करोड़ डॉलर ( करीब 606.269 लाख करोड़ रुपये) रह गई।

यह भी पढ़ें...अयोध्या मामला: क्या आपको पता है पांच जजों में आखिर किसने लिखा फैसला

दुनिया की बड़ी इन्वेस्टमेंट कंपनी UBS और PWC ने यह आंकड़े जारी किए हैं। दोनों कंपनियों की तरफ से जारी रिपोर्ट में कहा गया है कि राजनीतिक और क्षेत्रीय विवादों की वजह से शेयर बाजार में भारी गिरावट आई है।

बता दें कि शेयर बाजार की गिरावट की वजह से 10 सालों में पहली बार अमीरों की संपत्ति में गिरावट आई है।

यह भी पढ़ें...अयोध्या फैसले पर VHP ने कहा- मंदिर निर्माण के लिए 60 फीसद खंभे तैयार

अमेरी को यह घाटा अमेरिका और चीन की लड़ाई की वजह से हुआ है। UBS और PWC ने अपने रिपोर्ट में कहा है कि चीन जहां दुनिया में अमेरिकियों के बाद सबसे ज्यादा अरबपति बसते हैं, उनकी संपत्ति को बहुत बड़ा नुकसान हुआ है।

अमेरिका और चीन के बीच ट्रेड वॉर से अरबपतियों को बहुत नुकसान हुआ है। 2008 के बाद पहली बार 2018 में अरबपतियों की दौलत घटी है।

यह भी पढ़ें...अयोध्या में राममंदिर का सपना संजोए ही दुनिया से चले गए ये आठ नायक

चीन के अरबपतियों की दौलत में करीब 12.80 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गई है। इस दौरान चीन की विकास की रफ्तार भी धीमी हुई है।

उन्होंने कहा कि करेंसी की कीमत में गिरावट आई है। जिसकी वजह से स्टॉक मार्केट में अनिश्चितता बढ़ी और अमीरों की वेल्थ घट गई।

रिपोर्ट के मुताबिक इन परिस्थितियों में भी चीन हर 2-2.5 दिनों में एक अरबपति को पैदा कर रहा है।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumar

Next Story