फ्रांस के राष्ट्रपति ने इमरान को लताड़ा, बौखलाया पाकिस्तान, जानिए क्या है पूरा मामला

फ्रांस के राष्ट्रपति ने पाकिस्तानी पीएम इमरान खान को करारा जवाब दिया है। उन्होंने अंग्रेजी और उर्दू में ट्वीट किया और कहा कि शांति की भावना में सभी मतभेदों का सम्मान करते हैं।

France-Pakistan

फ्रांस के राष्ट्रपति ने इमरान को लताड़ा, बौखलाया पाकिस्तान, जानिए क्या है पूरा मामला (फोटो: सोशल मीडिया)

पेरिस: फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों के इस्लाम पर दिए बयान को लेकर मुस्लिम देशों में गुस्सा बढ़ रहा है। तुर्की और पाकिस्तान ने फ्रांस के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। तुर्की के राष्ट्रपति रेचप तैय्यप एर्दोगन दुनिया में मुसलमानों के खलीफा बनने का सपना देख रहे हैं। एर्दोगन की सरकार के दौरान तुर्की के संबंध अमेरिका, भारत, सऊदी अरब, फ्रांस और ग्रीस से खराब हो चुके हैं। तुर्की के राष्ट्रपति लगातार ऐसे बयान दे रहे हैं जो कोई संप्रभु देश स्वीकार नहीं कर सकता है।

उन्होंने बयान देते हुए कहा कि फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों को अपने दिमाग की इलाज कराने की जरूरत है। एर्दोगन के बाद पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा कि राष्ट्रपति मैक्रों रेसिज्म और ध्रुवीकरण को हटाने की जगह अतिवादियों को हीलिंग टच और अस्वीकृत स्थान देने का कार्य कर रहे हैं। यह उनकी निश्चित रूप से कट्टरवादी सोच को दर्शाता है। तो वहीं बौखलाए पाकिस्तान ने बौखलाए पाकिस्तान ने फ्रांस के राजदूत मार्क बेर्टी को तलब किया और कड़ी आपत्ति जताई।

फ्रांस के राष्ट्रपति का इमरान को करार जवाब

इसके बाद फ्रांस के राष्ट्रपति ने पाकिस्तानी पीएम इमरान खान को करारा जवाब दिया है। उन्होंने अंग्रेजी और उर्दू में ट्वीट किया और कहा कि शांति की भावना में सभी मतभेदों का सम्मान करते हैं। इमरान के इस्लामोबोफिया को बढ़ावा देने के आरोप पर मैक्रों ने कहा कि हम कभी ऐसा नहीं होने देंगे।

france president Emmanuel Macron

ये भी पढ़ें…चुनाव जीत गई भाजपा: इस जगह हुआ मतदान, कांग्रेस को मिली करारी हार

उन्होंने कहा कि हम शांति की भावना में सभी मतभेदों का सम्मान करते हैं। हम अभद्र भाषा को स्वीकार नहीं करते हैं और तर्कसंगत बहस का बचाव करते हैं। हम हमेशा मानवीय गरिमा और सार्वभौमिक मूल्यों के लिए खड़े रहेंगे।

ये भी पढ़ें…कुश्ती का अखाड़ा: पहलवानों का सपना पूरा कर रहे सूबेदार, जमीन रखी गिरवी

इमरान खान ने लगाया था आरोप

इमरान खान ने आरोप लगाया था कि दुर्भाग्यपूर्ण है कि राष्ट्रपति मैक्रों हिंसा करने वाले आतंकवादियों के बजाय इस्लाम पर हमला कर रहे हैं और इस्लामोफोबिया को बढ़ावा दे रहे हैं। अफसोस है कि राष्ट्रपति मैक्रो ने इस्लाम और इस्लाम के रहनुमा पैगंबर साहब को निशाना बनाने वाले कार्टून के प्रदर्शन को बढ़ावा दिया हैं। वह जानबूझकर मुसलमानों को भड़काने का काम कर रहे हैँ। उन्होंने कहा कि फ्रांस के राष्ट्रपति को इस्लाम की कोई समझ नहीं है, इसके बावजूद उन्होंने मुसलमानों को चोट पहुंचाई।

Imran Khan

ये भी पढ़ें…सेना पर गिरे बम-गोले: भारत-अमेरिका ने कसी कमर, चीन ने किया ताबड़तोड़ हमला

इसलिए हुआ है विवाद

बता दें कि 16 अक्टूबर को अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता का पाठ पढ़ाने के दौरान एक टीचर ने पैगंबर मोहम्मद कार्टून दिखाया। इसके बाद उस टीचर की सिर काटकर हत्या कर दी गई। इसके बाद फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने टीचर को श्रद्धांजलि दी। इसके बाद उन्होंने कहा था कि टीचर को मार दिया गया, क्योंकि इस्लामवादी हमारा भविष्य चाहते हैं।

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App