आसमान से लाखों की बारिश: गांव के लोगों की किस्मत खुली, बने लखपति-करोड़पति

धरती पर अतंरिक्ष से जो पत्थर, उल्कापिंड गिरते हैं, उनमें इतना कुछ खास नहीं रहता और न हीं कोई अहम बात रहती, जिसके ऊपर ध्यान दिया जाएं। लेकिन इनमें से कुछ को वैज्ञानिक शोध करने के लिए ले जाते हैं।

Brazil meteorite fell

फोटो-सोशल मीडिया

नई दिल्ली। धरती पर अतंरिक्ष से जो पत्थर, उल्कापिंड गिरते हैं, उनमें इतना कुछ खास नहीं रहता और न हीं कोई अहम बात रहती, जिसके ऊपर ध्यान दिया जाएं। लेकिन इनमें से कुछ को वैज्ञानिक शोध करने के लिए ले जाते हैं। वहीं कुछ लोग इन एलियन गिफ्ट्स को अपने घरों में सजावट के तौर पर रख लेते हैं। ऐसे में ब्राजील के एक गांव में ऐसा ही कुछ हुआ। यहां गांव में उल्कापिंड के सैकड़ों टुकड़े गिरे। इन टुकड़ों की कीमत लाखों बताई जा रही है। इसमें सबसे बड़े टुकड़े की कीमत 19 लाख रूपये से ज्यादा बताई जा रही है।

ये भी पढ़ें… ‘बाहुबली’ से भिड़ेंगे सैफ: ऐसा होगा खूंखार अवतार, देखें Adipurush का धांसू पोस्टर

पैसों की आसमानी बारिश

ब्राजील के इस गांव का नाम सैंटा फिलोमेना है। यहां पर 19 अगस्त को उल्कापिंडों की भरभराकर बारिश हुई थी। स्थानीय लोग इसे पैसों की आसमानी बारिश बोल रहे हैं। साथ ही यहां के लोगों ने इन टुकड़ों को इकठ्ठा करके रख लिया है।

ऐसे में अब जब वैज्ञानिकों ने इन टुकड़ो की जांच की तो पता चला कि ये दुर्लभ हैं। इसके बाद वैज्ञानिक ने लोगों से पत्थर मांगे तो गांववालें इनके बदले कीमत मांग रहे हैं। अधिकतर लोगों ने लाखों रुपये कमा भी लिए हैं।

meteorite
फोटो-सोशल मीडिया

ये भी पढ़ें… यूपी में गुंडा राज: दबंगों ने चौराहे में प्रधान प्रतिनिधि को पीटा, बरसाई लाठियाँ

ब्रह्मांड के कई रहस्यों से पर्दा हटाया

बताया जा रहा कि 40 किलोग्राम वजनी सबसे बड़े टुकड़े की कीमत 26 हजार डॉलर है। मतलब की करीब 19 लाख रुपये है। साथ ही ये भी बताया जा रहा है कि सैंटा फिलोमेना में छोटे-बड़े मिलाकर 200 से ज्यादा टुकड़े गिरे हैं। ये टुकड़े उस उल्कापिंड के हैं जो सौर मंडल बनने के समय का है। इन टुकड़ों की जांच करके ब्रह्मांड के कई रहस्यों से पर्दा हटाया है।

ऐसा माना जा रहा है कि ये उल्का पिंड लगभग 4.6 बिलियन साल पुराने हैं। और ये बहुत ही रेयर उल्का पिंड हैं। इनकी कीमत हजारों पाउंड्स में होती है। इस बारे में साओ पाओलो यनिवर्सिटी में कैमिस्ट्री इंस्टीट्यूट के गेब्रियल सिल्वा ने कहा कि संभवत: यह उल्का उस पहले खनिज में से है जिनसे ये सोलर सिस्टम बना है।

ये भी पढ़ें… पुलिस पर गुस्साए सभी: रसड़ा में किया गया चक्का जाम, हो रहा प्रदर्शन

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App