चीन ने कनाडा को दे दिया इतना बड़ा धोखा, मचा हड़कंप, सरकार ने शुरू की जांच

दुनियाभर में कोरोना वायरस के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं तो वहीं सभी देश कोरोना वायरस को लेकर अपने-अपने तरीके लड़ाई लड़ रहे हैं। दुनिया के कई देश कोरोना वायरस से लड़ने के लिए उपयोग होने वाले उपकरणों की कमी की मार झेल रहे हैं।

चौंकाने वाला सर्वे: यूपी वाले रहें सावधान, ये लोग ज्यादा हो रहे कोरोना संक्रमित

नई दिल्ली: दुनियाभर में कोरोना वायरस के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं तो वहीं सभी देश कोरोना वायरस को लेकर अपने-अपने तरीके लड़ाई लड़ रहे हैं। दुनिया के कई देश कोरोना वायरस से लड़ने के लिए उपयोग होने वाले उपकरणों की कमी की मार झेल रहे हैं। उनके पास मेडिकल सामानों की भारी कमी हो गई है।

चीन ने कई देशों के मास्क की आपूर्ति के लिए मदद का हाथ बढ़ाया है, लेकिन चीन मदद के नाम लोगों को धोखा दे रहा है। अब खबर सामने आ रही है कुछ दिनों पहले चीन ने कनाडा को 60 हजार से भी ज्यादा मास्क भेजे थे। उनमें से ज्यादातर मास्क खराब निकल गए हैं। इससे पहले भी वह कई देशों के साथ ऐसा कर चुका है।

यह भी पढ़ें…20 करोड़ महिलाओं को मिला तोहफा, सरकार ने खातों में ट्रांसफर किये इतने रुपये

खराब मास्क की वजह से कनाडा के सामने बड़ी मुश्किल खड़ी हो गई है। कनाडा सरकार को शक है कि कहीं इन खराब मास्कों के उपयोग के चलते हेल्थकेयर स्टाफ कोरोना वायरस के संपर्क में तो नहीं आए हैं। इसके लिए कनाडा सरकार तेजी से जांच में जुट गई है। मिली जानकारी के मुताबिक चीन से आए इन मास्कों को एक हफ्ते पहले ही टोरंटो के अलग-अलग अस्पताल में भेजा गया था।

यह भी पढ़ें…20 साल से फरार चल रहे हत्या के आरोपी हुए गिरफ्तार, ऐसे दे रहे थे अदालत को चकमा

विदेश मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक टोरंटों के अस्पतालों में बांटे गए मास्क फट रहे हैं इसके बाद से सभी मास्कों को वापस ले लिया गया है। यहीं नहीं ऐसे और भी देश हैं जहां चीन के भेजे गए खराब मास्क पाए गए हैं उनमें स्पेन, नीदरलैंड, चेक रिपब्लिक और तुर्की जैसे देश शामिल हैं, लेकिन कनाडा की सभी जगहों से खराब मास्क मिलने की पुष्टि नहीं हुई है, बल्कि सिर्फ टोरंटो शहर में ही चीन के खराब मास्कों का मामला सामने आया है।

यह भी पढ़ें…कोरोना से जंग में भारत-पाकिस्तान ऐसे आ सकते हैं साथ, शोएब अख्तर ने बताया

जानकारी के मुताबिक पब्लिक सर्विस ऐंड प्रोक्योरमेंट मंत्री अनिता आनंद का कहना है कि ओटावा की प्राइवेट कंपनियों से कहा गया है कि वे कनाडा सामान भेजने से पहले उसकी जांच करवाएं। यही नहीं सभी जरूरी समानों को अस्पताल भेजने से पहले भी उनकी जांच आवश्यक रूप से करें।

इसके अलावा टोरंटो के 10 केयर होम में 19 कोरोना वायरस के मामले सामने आए हैं। साथ ही हर जगह डिफ्केटिव मास्क सामने आए हैं ऐसे में उनकी चिंता और बढ़ गई है। शहर के प्रवक्ता ब्रैड रॉस ने कहा कि खराब मास्क का तब पता चला जब उन मास्कों को पहना जा रहा था।