गजब की धाकड़ महिला: जिसके आगे झुकना पड़ा सरकार को, लेना पड़ा ये फैसला

ऐसा नहीं है कि प्रशासन ने इसे यहां से हटाने की कोशिश नहीं की, लेकिन इस घर की मालकिन के जिद के आगे प्रशासन को भी झुकना पड़ा।

Tiny house sits in middle of busy motorway

Tiny house sits in middle of busy motorway

नई दिल्ली: मामला चीन के गुआंगडोंग प्रांत का है, जहां पर एक हाइवे के बीचोबीच एक घर बसा हुआ है, जिसे देख आप चौंक जाएंगे। आप सोच रहे होंगे कि हाइवे के बीचोबीच घर कैसे हो सकता है और प्रशासन ने इसे हटाया क्यों नहीं। ऐसा नहीं है कि प्रशासन ने इसे यहां से हटाने की कोशिश नहीं की, लेकिन इस घर की मालकिन के जिद के आगे प्रशासन को भी झुकना पड़ा। इस घर की मालकिन आज भी हाइवे पर गाड़ियों की तेज रफ्तार के बीच अपनी जिंदगी बिता रही है।

यह भी पढ़ें: रेलवे का बड़ा काम: महामारी से लड़ने के लिए प्रयास तेज, उठाए ये पुख्ता कदम

अपने फैसले पर अड़ी रही मालकिन

दरअसल, जिस समय वहां पर हाइवे बन रहा था, उस वक्त स्थानीय प्रशासन ने बीच रास्ते में आ रहे इस घर को हटाने की कई कोशिशें की। लेकिन उस घर की मालकिन वहीं रहने पर अड़ी रही और वहां से हटने से मना कर दिया। सरकार ने काफी कोशिश की कि महिला अपने घर को बेच दे, लेकिन महिला ने अपना घर नहीं बेचा और इसके लिए सरकार से मिलने वाले मुआवजा लेने से भी इनकार कर दिया। जिसके बाद सरकार को उसे छोटे से घर के चारों ओर एक राजमार्ग पुल का निर्माण कराना पड़ा।

यह भी पढ़ें: तबाही का भयानक मंजर: बादल फटने से उजड़े गांव के गांव, हजारों जिंदगियाँ खराब

China

एक दशक तक किया प्रयास

सरकार ने एक दशक तक घर की मालिकन से घर की कोशिश की थी, लेकिन महिला की जिद के आगे प्रशासन कुछ नहीं कर सकी। आज भी वो महिला दक्षिण चीन के गुआंगडोंग प्रांत में बने नए हाइज़ुआंग ब्रिज के बीच अपने छोटे से घर में रह रही है। यह एक मंजिला घर 40 वर्ग मीटर का है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, यह घर चार लेन के ट्रैफिक लिंक के बीच में एक गड्ढे में स्थित है। इस घर की मालकिन का नाम लिआंग है।

यह भी पढ़ें: सरकार का बड़ा फैसला: कॉलेज-यूनिवर्सिटी की परीक्षा पर एलान, पढ़ें पूरी खबर

इसलिए नहीं यहां से हटी महिला

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, लिआंग वहां से स्थानांतरित होने के लिए इसलिए राजी नहीं हुई, क्योंकि सरकार उसे एक आदर्श स्थान पर बसाने में नाकाम रही। महिला का कहना है कि आपको लगता है कि यह माहौल खराब है, लेकिन मुझे लगता है कि यह शांत, मुक्त, सुखद और आरामदायक है। महिला ने कहा कि वह नतीजों से निपटने के लिए खुश थी और इस बारे में नहीं सोचती थी कि दूसरे लोग उसके बारे में क्या सोचते हैं।

यह भी पढ़ें: बेरहम कोरोना: पति ने की पत्नी से आखिरी मुलाकात, दोनों को मिली मौत

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App