×

चीन का खुलासा: 18 की वो कोरोना वाली रात, क्या यही करा रहा लाखों मौतें

आपको बात बता रहे है 18 सितंबर के दोपहर की, जब वुहान के तिआन्हे एयरपोर्ट के कस्टम ऑफिस में एक इमरजेंसी मैसेज आया। इस इमरजेंसी मैसेज में कहा गया कि लैंड करने वाली फ्लाइट में एक पैसेंजर बीमार है और उसे सांस लेने में तकलीफ हो रही है।

Vidushi Mishra
Updated on: 10 May 2020 9:09 AM GMT
चीन का खुलासा: 18 की वो कोरोना वाली रात, क्या यही करा रहा लाखों मौतें
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

नई दिल्ली: आपको बात बता रहे है 18 सितंबर के दोपहर की, जब वुहान के तिआन्हे एयरपोर्ट के कस्टम ऑफिस में एक इमरजेंसी मैसेज आया। इस इमरजेंसी मैसेज में कहा गया कि लैंड करने वाली फ्लाइट में एक पैसेंजर बीमार है और उसे सांस लेने में तकलीफ हो रही है। तो तुरंत इसके बाद एयरपोर्ट के स्टाफ इमरजेंसी मोड में आ गए। ये घटना चीन के शहर वुहान की है।

ये भी पढ़ें...अभी-अभी भूकंप से भारत हिला: लोगों में खौफ का माहौल, तूफान का कहर भी जारी

इमरजेंसी मैसेज मिलने के बाद

सूत्रों से जो रिपोर्ट मिली है उसके हिसाब से, वुहान एयरपोर्ट पर 18 सितंबर को इमरजेंसी मैसेज मिलने के बाद वहां पर मैनेजर ने अपने स्टाफ को इमरजेंसी डील की पूरी प्रक्रिया समझाई। फिर एयरपोर्ट के स्टाफ प्रोटेक्टिव मास्क लगाकर जरूरी कार्रवाई करने लगे।

इसके बाद चीन के एक पत्रकार ने बताया कि इसके कुछ समय बाद वुहान के प्राथमिक सहायता केंद्र ने जानकारी दी कि जांच में संबंधित मरीज के नॉवेल कोरोना वायरस से संक्रमित होने का पता चला है। चीनी मीडिया ने पूरी घटना को एक ड्रिल यानी प्रैक्टिस बताया गया।

10 हजार प्रतिभागी

इस पर चीन की मीडिया ने कहा था कि वर्ल्ड मिलिट्री गेम्स के आयोजन को लेकर इमरजेंसी रेस्पॉन्स की जांच करने के लिए कोरोना वायरस ड्रिल किया गया। अगले महीने चीन में होने वाले वर्ल्ड मिलिट्री गेम्स में 10 हजार प्रतिभागी हिस्सा लेने वाले थे। अधिकारियों ने ड्रिल को सफल करार दिया था।

ये भी पढ़ें...महान शख्सियत की मौत: पूरे देश में शोक की लहर, जादू के थे बादशाह

हालांकि इंटरनेशनल मीडिया में अब सवाल उठ रहे हैं कि चीन ने इसी अभ्यास को क्यों चुना? सोशल मीडिया पर भी लोगों ने सवाल उठाए हैं कि उन्होंने नए कोरोना वायरस को लेकर ही ड्रिल क्यों किया?

और तो और बीते हफ्ते पहले एक फ्रेंच एथलीट ने कहा था, उन्हें लगता है कि वर्ल्ड मिलिट्री गेम्स में हिस्सा लेने के दौरान कई लोग कोविड-19 से संक्रमित हो गए थे। आखिर ये क्या है।

कई एथलीट काफी अधिक बीमार

वर्ल्ड चैंपियन पेंटाथलीट इलोडी क्लाउवेल ने कहा- 'मिलिट्री गेम्स के दौरान कई एथलीट काफी अधिक बीमार हो गए थे।' 18 अक्टूबर 2019 से शुरू हुआ वर्ल्ड मिलिट्री गेम्स 9 दिन तक चला था।

ये भी पढ़ें...नई खतरनाक बीमारी: बच्चे तेजी से हो रहे इसका शिकार, कई की हुई मौत

जानकारी के लिए बता दें कि कुछ ही दिन पहले ये जानकारी सामने आई थी कि पेरिस के एक अस्पताल में 27 दिसंबर को ही एक व्यक्ति कोरोना संक्रमित हो चुका था।

वहीं मछली बेचने वाले व्यक्ति को तब न्यूमोनिया का मरीज समझा गया था। अस्पताल में मौजूद उसके सैंपल की डॉक्टरों ने जब कोरोना के लिए जांच की तो वायरस की पुष्टि हुई। और तब वह व्यक्ति विदेश भी नहीं गया था।

ये भी पढ़ें...अचानक आंधी-तूफान से छाया अंधेरा, मौसम विभाग ने जारी किया अलर्ट

Vidushi Mishra

Vidushi Mishra

Next Story