Top
TRENDING TAGS :Coronavirusvaccination

चीन पर नया खुलासा: नेपाल का कर रहा इस्तेमाल, इस तरह दिया चकमा

हाल ही में चीन की एक नई चाल का खुलासा हुआ है। दरअसल, अमेरिकी प्रतिबंध के बाद भी ईरान से सौदे के लिए भी चीन नेपाली बैंकों और कंपनियों का इस्तेमाल कर रहा है।

Shreya

ShreyaBy Shreya

Published on 21 Sep 2020 11:16 AM GMT

चीन पर नया खुलासा: नेपाल का कर रहा इस्तेमाल, इस तरह दिया चकमा
X
चीन पर नया खुलासा: नेपाल का कर रहा इस्तेमाल, इस तरह दिया चकमा
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: भारत और नेपाल के बीच सालों से चले आ रहे मैत्रीपूर्ण रिश्ते में बीते कई महीनों से खटास पैदा हो गई है। इसका बड़ा कारण चीन को माना जा रहा है। चीन नेपाल को लगातार भारत के खिलाफ इस्तेमाल करता आया है। केवल इतना ही नहीं चालबाज चीन नेपाल का कई तरह से फायदा उठा रहा है। हाल ही में चीन की एक नई चाल का खुलासा हुआ है। दरअसल, अमेरिकी प्रतिबंध के बाद भी ईरान से सौदे के लिए भी चीन नेपाली बैंकों और कंपनियों का इस्तेमाल कर रहा है।

बैंक और कंपनियां संदिग्ध रूप से ट्रांसफर कर रहीं पैसे

सेंटर फॉर इंवेस्टिगेशन जर्नलिज्म नेपाल, इंटरनेशनल कंस्टोर्डियम ऑफ इंवेस्टिगेटिव जर्नलिस्ट्स और बजफीड की संयुक्त खोजबीन में यह बात सामने आई है कि कुछ नेपाली बैंक और कंपनियां विदेशों से संदिग्ध रूप से प्राप्त पैसे को ट्रांसफर कर रही हैं। रविवार को जारी हुई जांच रिपोर्ट में पता चला है कि अमेरिकी प्रतिबंधों को चकमा देते हुए कुछ नेपाली बैंक और कंपनियां ईरान और चीन के बीच व्यापार कराने में मदद कर रही हैं।

यह भी पढ़ें: BJP के खिलाफ हल्लाबोल: बड़ी संख्या में सड़क पर उतरे सपाई, सरकार को घेरा

व्यापार के नाम हो रहे लेनदेन

रिपोर्ट के मुताबिक, दिसंबर 2006 और मार्च 2017 के बीच नेपाल में नौ बैंक, दस कंपनियों और कई व्यक्तियों ने व्यापार के नाम बॉर्डर पार कई संदिग्ध लेनदेन किए हैं। इस रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि नेपाल की कुछ इकाइयां सोने, पुराने सामान, बिटुमन, टेलिकम्युनिकेशन इक्विपमेंट्स की तस्करी (Smuggling) में जुटी हुई हैं।

यह भी पढ़ें: UP ने हर क्षेत्र में किया विकास, बनाया 20 हजार एकड़ का अपना लैंड बैंक: CM योगी

Nepal-China ये कंपनियां कर रही हैं संदिग्ध रूप से पैसे का ट्रांंसफर (फोटो- सोशल मीडिया)

ये कंपनियां कर रही हैं संदिग्ध रूप से पैसे का ट्रांंसफर

इस लिस्ट में चार्टर्ड फाइनेंशियल इंस्टीट्यूट, एवरेस्ट फाइनेंशियल इंस्टीट्यूट, फाइनेंशियल इंस्टीट्यूशन ऑफ काठमांडू, प्राइम बिजनेस फाइनेंशियल इंस्टीट्यूट, हिमालयन फाइनेंशियल इंस्टीट्यूट, नेपाल फंडिंग फाइनेंशियल इंस्टीट्यूट, मेगा फाइनेंशियल इंस्टीट्यूट, कास्की की एपेक्स ग्रोथ फाइनेंशियल इंस्टीट्यूट और नेपाल बांग्लादेश फाइनेंशियल इंस्टीट्यूट शामिल हैं, जो संदिग्ध रूप से पैसे ट्रांसफर कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें: इस देश में भारतीयों को देखते ही डिटेंशन सेंटरों में बंद करने का आदेश, वजह जान रो देंगे

11 सालों में 292.7 मिलियन डॉलर का लेन-देन

रिपोर्ट में कहा गया है कि नेपाल की करीब दस ऐसी कंपनियां हैं जिन्होंने व्यापार के नाम संदिग्ध लेनदेन किए हैं। रिपोर्ट के मुताबिक, इन बैंकों और कंपनियों के माध्यम से बीते 11 सालों में 292.7 मिलियन डॉलर का लेन-देन किया गया है। इन कंपनियों में राउनियर ब्रदर्स एंड कंपनी, सेतीदेवी एक्सपोर्ट इंपोर्ट प्राइवेट लिमिटेड, शुभ समृद्धि ट्रेडर्स प्राइवेट लिमिटेड, शासता ट्रेडिंग कंपनी, वूमन्स पेपर क्राफ्ट, एकमी मनी ट्रांसफर सर्विस और सन्नी एंटरप्राइजेज शामिल हैं, जो संदिग्ध लेनदेन कर रही हैं।

यह भी पढ़ें: शिक्षक भर्ती पर ऐलान: जान लें सभी अभ्यर्थी, आरक्षण के तहत इतने पदों पर भर्तियाँ

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shreya

Shreya

Next Story