कोरोना वायरस के वैक्सीन के परीक्षण के दौरान घटी बड़ी घटना, एक की मौत

भारत, अमेरिका, जापान, रूस और ब्राजील समेत दुनिया भर के कई बड़े मुल्क इस समय कोरोना के खिलाफ जंग लड़ रहे हैं। वैज्ञानिक दिन- रात कोरोना की वैक्सीन बनाने के काम में जुटे हुए हैं। इन दौरान उन्हें तमाम तरह की चुनौतियों का भी सामना करना पड़ रहा है। लेकिन उन्होंने हार नहीं मानी है। तमाम बाधाओं को पार करते हुए उन्होंने आआगे भी वैक्सीन की परीक्षण का काम जारी रखने की बात कही है।

Corona

कोरोना वैक्सीन का परीक्षण करते डॉक्टर(फोटो:सोशल मीडिया)

नई दिल्ली: कोरोना वैक्सीन के परीक्षण के दौरान एक वालंटियर की अचानक डेथ हो गई। जो कि वैक्सीन के क्लीनिकल ट्रायल में शामिल था। अभी तक ये बात पता नहीं चल पाई है कि ट्रायल के दौरान वालंटियर को वैक्सीन या एक प्लेसबो की डोज़ दी गई थी या नहीं।

चिकित्सा गोपनीयता के कारणों का हवाला देते हुए इस बारें में अधिक जानकारी देने से मना कर दिया गया है। ये वाकया ब्राजील का है।ब्राजील के स्वास्थ्य एजेंसी एविसा एनविसा ने ये जानकारी दी है।

उन्होंने बताया कि एस्ट्राज़ेनेका और ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय द्वारा विकसित की जा रही कोरोना वैक्सीन के क्लीनिकल ट्रायल में शामिल एक वालंटियर की डेथ हो गई है। लेकिन इसके बाद भी वैक्सीन का ट्रायल बंद होगा बल्कि जारी रहेगा।

coronavirus
डॉक्टर्स की फोटो(सोशल मीडिया)

ये भी पढ़ें… मुलायम के करीबी किरण पाल सिंह अब BJP के साथ, जानें राजनीति में इनकी तगड़ी भूमिका

कोरोना पर भारत से आई राहत की खबर

कोरोना वायरस से भारत को इन दिनों राहत मिलती नजर आ रही है। कोरोना वायरस के नए मामले में बड़ी गिरावट दर्ज की गई है। करीब तीन महीने में यह पहली बार ऐसा हुआ है। भारत में जुलाई के बाद पहली बार कोरोना के नए मामले बीते 24 घंटे में 50 हजार से भी कम आए हैं।

ये भी पढ़ें…फिल्म इंडस्ट्री को झटका: अब इस एक्टर की मौत, घर में ऐसे हाल में मिली लाश

Corona Test
कोरोना के मरीज का इलाज करते डॉक्टर(फोटो:सोशल मीडिया)

स्वास्थ्य कर्मचारियों की लिस्ट तैयार करने को कहा

अब इस बीच एक बड़ी खबर सामने आई है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से एक एडवायजरी जारी की गई है। इसमें जिला और राज्य स्तर पर कोरोना फ्रंट पर काम कर रहे स्वास्थ्य कर्मचारियों की लिस्ट तैयार करने को कहा गया है। मंत्रालय ने नोडल अधिकारियों को बताया है कि ये लिस्ट कैसे तैयार करना है। इस लिस्ट में प्राइवेट और सरकारी दोनों अस्पतालों के कर्मचारी शामिल किए जाएंगे।

ये भी पढ़ें…पाकिस्तान में भारी उथल-पुथल, किसी भी पल इस बड़े नेता की हो सकती है गिरफ्तारी

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें – Newstrack App

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App