×

G-7: चीन से बढ़े ट्रेड वॉर के बीच मोदी से मिलेंगे ट्रंप, कश्मीर पर हो सकती है चर्चा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी G-7 बैठक के दौरान राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से मुलाक़ात कर सकते हैं। इस दौरान दोनों नेता कश्मीर मुद्दे पर खुलकर चर्चा भी कर सकते हैं। इसके अलावा दोनों नेता व्यापार पर बातचीत कर सकते हैं।

Manali Rastogi

Manali RastogiBy Manali Rastogi

Published on 25 Aug 2019 5:18 AM GMT

G-7: चीन से बढ़े ट्रेड वॉर के बीच मोदी से मिलेंगे ट्रंप, कश्मीर पर हो सकती है चर्चा
X
G-7: चीन से बढ़े ट्रेड वॉर के बीच मोदी से मिलेंगे ट्रंप, कश्मीर पर हो सकती है चर्चा
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

बिआरित्ज: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज G-7 की बैठक में भाग लेने वाले हैं। यह बैठक फ्रांस में होने वाली है। कयास लगाए जा रहे हैं कि इस दौरान पीएम मोदी अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से मुलाक़ात कर कश्मीर मामले पर चर्चा कर सकते हैं। G-7 की बैठक में देश के सात अमीर देश भाग लेते हैं।

यह भी पढ़ें: अरुण जेटली का अंतिम संस्कार आज, BJP मुख्यालय ले जाया जा रहा पार्थिव शरीर

मालूम हो, इस समूह (G-7) की बैठक में भारत विशेष आमंत्रित सदस्य है। इस बैठक का मकसद वैश्विक अर्थव्यवस्था में सुस्ती और ट्रेड वॉर को कम करना है। इसके अलावा बैठक में अमेजन के जंगलों में लगी आग को लेकर भी चर्चा होनी है। G-7 बैठक में फ्रांस, जर्मनी, यूके, इटली, अमेरिका, कनाडा और जापान शामिल हैं।

अमेरिका-यूरोप में जारी है तनातनी

बता दें, ये बैठक अमेरिका-यूरोप के बीच जारी तनातनी के माहौल में होने वाली है। यूरोपीय संघ के अध्यक्ष डॉनल्ड टस्क ने कहा था कि, 'व्यापार युद्ध से मंदी आएगी जबकि व्यापार समझौते से अर्थव्यवस्था को बल मिलेगा।' जबकि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने इस बैठक से पहले धमकी देते हुए कहा कि अगर फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने अमेरिकी टेक्नॉलजी कंपनियों पर लगाया कर वापस नहीं लेते हैं तो वह फ्रेंच वाइन पर भारी-भरकम शुल्क लगाएंगे।

यह भी पढ़ें: पीएम मोदी आज करेंगे ‘मन की बात’, सुबह 11 बजे से होगा प्रसारण

ऐसे में टस्क ने इसके जवाब में कहा कि यूरोपीय संघ भी बराबर की प्रतिक्रिया करेगा। उन्होंने कहा, 'अपने सबसे अच्छे सहयोगी अमेरिका के साथ टकराव का रास्ता हमारे लिए अंतिम विकल्प होगा। हमने यह पहल नहीं की है, व्यापार और शुल्क का यह संघर्ष... हमने शुरू नहीं किया है, लेकिन हमें तैयार रहना चाहिए और हम तैयार हैं।'

चीन से भी ट्रेड वॉर कर बैठे ट्रंप

वैसे यूरोप अकेले नहीं है जिससे अमेरिका की तनातनी की खबरे सामने आ रही हैं। चीन और अमेरिका के बीच भी ट्रेड वॉर काफी बढ़ गया है। यही नहीं, ट्रंप ने तो इस ट्रेड वॉर को काफी बढ़ा भी दिया है। ट्रंप ने ट्रेड वॉर को भड़काने की बात की है।

यह भी पढ़ें: जम्मू-कश्मीर: बड़े एक्शन में मोदी सरकार, उमर-महबूबा से होगी बातचीत

ट्रंप ने चीन द्वारा अमेरिका से आने वाले 75 अरब डॉलर के सामान पर शुल्क लगाने की प्रतिक्रिया में चीन के सामान पर लगा अतिरिक्त शुल्क पांच प्रतिशत और बढ़ा दिया है। उन्होंने कहा, 'स्पष्ट कहें तो हमें चीन की जरूरत नहीं है। चीन के बिना हम अच्छी स्थिति में होंगे।'

कयास लगाए जा रहे हैं कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी G-7 बैठक के दौरान राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से मुलाक़ात कर सकते हैं। इस दौरान दोनों नेता कश्मीर मुद्दे पर खुलकर चर्चा भी कर सकते हैं। इसके अलावा दोनों नेता व्यापार पर बातचीत कर सकते हैं।

Manali Rastogi

Manali Rastogi

Next Story