भगवान श्री राम के बाद अब भगवान बुद्ध को लेकर नेपाल ने किया ये बड़ा दावा

नेपाल भारत के खिलाफ लगातार उकसाने वाले बयान दे रहा है। पहले भगवान राम श्रीराम का जन्म नेपाल में बताने के बाद अब गौतम बुद्ध को लेकर भी उसने कई बातें कही हैं।

Published by Aditya Mishra Published: August 9, 2020 | 9:24 pm
Modified: August 9, 2020 | 9:28 pm
भगवान गौतम बुद्ध की फ़ाइल फोटो

भगवान गौतम बुद्ध की फ़ाइल फोटो

काठमांडू: नेपाल भारत के खिलाफ लगातार उकसाने वाले बयान दे रहा है। पहले भगवान राम श्रीराम का जन्म नेपाल में बताने के बाद अब गौतम बुद्ध को लेकर भी उसने कई बातें कही हैं।

नेपाल के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने रविवार को कहा कि गौतम बुद्ध का जन्म हमारे ही देश में हुआ था। ये निर्विवाद तथ्य है जो ऐतिहासिक और पुरातात्विक साक्ष्यों पर आधारित है। आगे कहा कि यह सच है कि बौद्ध धर्म नेपाल के बाद दुनिया के दूसरे हिस्सों में फैला।

मामला संदेह और विवाद से परे है और इस तरह बहस का विषय नहीं हो सकता। पूरा अंतर्राष्ट्रीय समुदाय इससे भली भांति परिचित है।

उन्होंने कहा कि गौतम बुद्ध का जन्म लुंबिनी, नेपाल में हुआ था। गौतम बुद्ध का जन्मस्थान लुंबिनी युनेस्को की विश्व धरोहर स्थलों में से एक है।

ये भी पढ़ेंः ओली के अड़ियल रुख से नेपाल में फंसा पेंच, बेनतीजा रही शीर्ष नेताओं की बैठक

नेपाल के प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली की फ़ाइल फोटो
नेपाल के प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली की फ़ाइल फोटो

भगवान राम पर दिए बयान को लेकर भारत में नेपाल के पीएम के खिलाफ विरोध

नेपाल के प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली की ओर से भगवान श्री राम और अयोध्या पर दिए गये विवादित बयान का  भारत में जमकर विरोध हो रहा है। इसका असर भारत में बसे नेपालियों पर भी पड़ रहा है। ऐसा ही एक मामला सामने आया, जिसमें एक नेपाली शख्स का मुंडन करवा कर उसके सिर पर जय श्री राम लिखवा दिया गया। पीएम ओली के विवादित बयान का खामियाजा नेपालियों को भुगतना पड़ रहा है।

ये भी पढ़ेंः वेंटिलेटर पर 97 फीसदी मरीजों की मौत, दहशत में लोग, राज्य में मचा हड़कंप

भगवान राम पर दिए नेपाल के पीएम के बयान के बाद वाराणसी में नेपाली युवक का मुंडन कराकर जताया गया विरोध
भगवान राम पर दिए नेपाल के पीएम के बयान के बाद वाराणसी में नेपाली युवक का मुंडन कराकर जताया गया विरोध

नेपाली पीएम के विवादित बयान से फैली नफरत

भारत और नेपाल के बीच का तनाव अब सीमा मात्र तक नहीं रहा, पीएम केपी शर्मा ओली के विवादित बयान के बाद अब आस्था और संस्कृति से जुड़ गया है। जिसका असर दोनों देशों के नागरिकों के बीच नफरत फैला रहा है। दरअसल, उत्तर प्रदेश के वाराणसी जिले में केपी शर्मा ओली के बयान के विरोध का ऐसा ही मामला सामने आया, जिसकी भरपाई नेपाली व्यक्ति को करनी पड़ी।

ये भी पढ़ें… बौखलाया पाकिस्तान: भारत ने सुनाई खरी-खोटी, टिपण्णियां करना पड़ा भारी

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App