इमरान का ये जहर! दे सकता है दिल्ली हिंसा को बढावा, कही ऐसी बात

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने बुधवार को एक बार फिर दिल्ली हिंसा को लेकर मोदी सरकार और आरएसएस पर हमला बोला। इमरान खान ने कहा कि आज भारत…

Published by Deepak Raj Published: February 27, 2020 | 2:32 pm
Modified: February 27, 2020 | 2:45 pm

नई दिल्ली। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने बुधवार को एक बार फिर दिल्ली हिंसा को लेकर मोदी सरकार और आरएसएस पर हमला बोला। इमरान खान ने कहा कि आज भारत एक बहुत ही खतरनाक रास्ते पर है जिससे वापस आना बहुत मुश्किल है।

ये भी पढ़ें-बड़ी खबर: करोड़ों का जुर्माना जॉनसन एंड जॉनसन पर, 3 महीने में ही भरना होगा

इमरान खान ने कहा, इतिहास बताता है कि भारत में जिस तरह से राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की फासीवादी और नस्लीय विचारधारा अपनाई गई है, उससे केवल खूनखराबा ही होगा। उन्होंने कहा कि भारत में हिंदुत्व विचारधारा मुस्लिमों और ईसाइयों के खिलाफ नफरत फैला रही है और इसके अगले टारगेट देश के अन्य अल्पसंख्यक समुदाय होंगे।

पाकिस्तान की तारीफ करने  पर भारतीय मीडिया ने आलोचना की

अंतरराष्ट्रीय समुदाय से कार्रवाई की अपील करते हुए इमरान खान ने कहा, इतनी बड़े अल्पसंख्यक समुदाय को हाशिए पर रखे जाने के गंभीर नतीजे होंगे। भारत अब पूरी तरह से फंस चुका है। इमरान खान ने कहा कि भारतीय मीडिया ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के पाकिस्तान की तारीफ करने को लेकर उनकी आलोचना की ।

लेकिन इससे साबित होता है कि भारत की अंतरराष्ट्रीय समुदाय में पाकिस्तान की वर्तमान छवि क्या है। अर्थव्यवस्था की खराब हालत पर उन्होंने कहा कि अब मुश्किल वक्त गुजर गया है और अब हालात सुधरेंगे।

ये भी पढ़ें-रिजर्व बैंक के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन ने आर्थिक मंदी पर मोदी सरकार को घेरा

इमरान खान ने कहा, मुझे लगता है कि जब तक अंतरराष्ट्रीय समुदाय हस्तक्षेप नहीं करता है, भारत ऐसे रास्ते पर निकल पड़ा है जो उसके लिए आत्मघाती साबित होगा.. क्योंकि जब नस्लीय और धार्मिक श्रेष्ठता पर आधारित विचारधारा अरबों की आबादी वाले परमाणुशक्ति संपन्न देश पर नियंत्रण कर लेती है तो इसके नतीजे भुगतने होंगे।

इमरान खान ने कहा कि उन्होंने पिछले साल अगस्त महीने में कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटने के बाद ही विश्व के नेताओं को हिंदुत्व विचारधारा के नतीजे बताने की पूरी कोशिश की थी लेकिन बदकिस्मती से किसी ने नहीं समझा। इसके बाद भारत ने नागरिकता कानून और एनआरसी लाने का फैसला किया।

ये सब कुछ ऐसा था जो आधुनिक दुनिया में नहीं होना चाहिए था। इससे सभी मानवाधिकारों का हनन होता है। इमरान खान ने कहा, मेरी अंतरराष्ट्रीय समुदाय से अपील है कि अब कदम उठाने का वक्त आ गया है। अगर दुनिया अभी कार्रवाई नहीं करती है तो स्थिति और खराब ही होती जाएगी।

ये भी पढ़ें-अयोध्या विवाद पर उद्धव का वार! फैसले का श्रेय नहीं ले सकती भाजपा

दिल्ली में हुई हिंसा को लेकर पाकिस्तानी पीएम ने कहा, हमने दिल्ली में जो कुछ देखा, वह तो बस शुरुआत है। मुझे नहीं पता कि ये सब कैसे रुकने जा रहा है।