चीन-पाक की खतरनाक साजिश, यहां तैनात कर दिए 20 हजार सैनिक, भारत भी तैयार

लद्दाख में भारत और चीन के बीच लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल (एलएसी) पर तनाव चरम पर है। अब इसका फायदा पाकिस्तान उठाने की कोशिश कर रहा है।

नई दिल्ली: लद्दाख में भारत और चीन के बीच लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल (एलएसी) पर तनाव चरम पर है। अब इसका फायदा पाकिस्तान उठाने की कोशिश कर रहा है।

भारतीय खुफिया एजेंसियों की रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि पाकिस्तानी सेना ने उत्तरी लद्दाख में अपनी तैनाती बढ़ा दी है। इसके साथ ही चीनी सेना भी आतंकियों के साथ मिलकर साजिश रच रही है। चीनी सेना ने आतंकी संगठन अल बद्र से बात कर रहा है।

खुफिया एजेंसियों रिपोर्ट में बताया गया है कि पाकिस्तान ने अपने सैनिकों के दो डिविजन को गिलगित-बालटिस्तान इलाके में तैनात कर दिया है। पाकिस्तान की तरफ से करीब 20 हजार अतिरिक्त सैनिकों को उत्तरी लद्दाख में तैनाती की गई है। रिपोर्ट में सूत्रों के हवाले से कहा गया है कि पाकिस्तान दो फ्रंट वार का अवसर देख रहा है।

यह भी पढ़ें…अनलॉक 2.0 की शुरुआत: जानें क्या मिलेगी छूट, क्या रहेगा बंद

चीनी सेना ने जम्मू-कश्मीर में हिंसा फैलाने के लिए आतंकी संगठन अल बद्र से गुपचुप बात की है। पाकिस्तान की दुर्दांत खुफिया एजेंसी आईएसआई चीन के साथ मिलकर जम्मू-कश्मीर में आतंकी हमले की साजिश रच रही है। यहां तक पाकिस्तान बैट ऑपरेशन को अंजाम देने की योजना तैयार कर रहा है। रिपोर्ट में बताया गया है कि चीन कश्मीर में मौजूद 100 आतंकियों की मदद ले सकता है।

यह भी पढ़ें…अमेरिका ने चीन को दिया तगड़ा झटका, इन दो कंपनियों को बताया देश के लिए खतरा

ऑपरेशन से पाकिस्तान खौफ में

बता दें कि जम्मू-कश्मीर में भारतीय सुरक्षाबल आतंकियों के खिलाफ ऑपरेशन चला रहे हैं। सुरक्षबलों ने हाल ही में 120 से अधिक आतंकियों को मौत के घाट उतारा है। इसमें से अधिकतर स्थानीय आतंकी थे। इन आतंकियों में कुछ ही विदेशी भी थे। सुरक्षाबलों के ऑपरेशन से पाकिस्तान खौफ में है और नए हथकंडे अपनाने की तैयारी कर रहा है।

यह भी पढ़ें…चीन की शातिर चाल, अब हांगकांग और सिंगापुर के जरिए शुरू किया ये खेल

सुरक्षा एजेंसियां अलर्ट

दो फ्रंट वार की स्थिति में पाकिस्तान ने कश्मीर में मौजूद आतंकियों से सुरक्षाबलों पर हमले कराने की योजना तैयार किया है। इस खुफिया जानकारी के बाद सुरक्षा एजेंसियां अलर्ट हो गई हैं और जरूरी कदम उठा रही हैं।