बड़ी खुशखबरी: इस देश ने कर दिखाया, तैयार की कोरोना की वैक्सीन

इजरायल के रक्षामंत्री नैफताली बन्नेट ने दावा किया है कि कोरोना वायरस की वैक्सीन तैयार कर ली गई है। रक्षामंत्री का कहना है कि इजरायल इंस्टीट्यूट फॉर बायोलॉजिकल रिसर्च (IIBR) ने कोरोना वायरस की वैक्सीन विकसित कर ली है।

नई दिल्ली: चीन से फैले कोरोना वायरस से दुनियाभर के तमाम देशों को अपनी चपेट में ले रखा है। ऐसे में इस महामारी से निपटने के लिए दुनियाभर के वैज्ञानिक कोरोना की वैक्सीन बनाने में जुटे हुए हैं। इस बीच इजरायल के रक्षामंत्री नैफताली बन्नेट ने दावा किया है कि कोरोना वायरस की वैक्सीन तैयार कर ली गई है। रक्षामंत्री का कहना है कि इजरायल इंस्टीट्यूट फॉर बायोलॉजिकल रिसर्च (IIBR) ने कोरोना वायरस की वैक्सीन विकसित कर ली है।

यह भी पढ़ें: पेट्रोल-डीजल और शराब पर टैक्स बढ़ाएं जाने पर गौतम गंभीर ने कसा तंज

IIBR ने विकसित की कोरोना की वैक्सीन

उन्होंने सोमवार को यह दावा किया है कि इजरायल इंस्टीट्यूट फॉर बायोलॉजिकल रिसर्च (IIBR) ने वायरस की एंटीबॉडी बना ली है। वैक्सीन के विकास का स्टेज पूरा किया जा चुका है। साथ ही वैक्सीन के पेटेंट और इसके बड़े स्केल पर उत्पादन की तैयारी शुरु की जा चुकी है।

इजरायल का बेहद गुप्त संस्थान है IIBR

बता दें कि IIBR इजरायल का बेहद गुप्त संस्थान है। यहां पर होने वाले एक्सपेरिमेंट्स के बारे में बाहरी दुनिया को ज्यादा जानकारी नहीं मिलती है। लेकिन नेस जियोना इलाके में स्थित इस लैब में दौरा करने के बाद रक्षा मंत्री ने दुनिययाभर को वैक्सीन बन जाने की खुशखबरी दी है। इस खबर को टाइम्स ऑफ इजरायल की वेबसाइट के साथ-साथ कई मीडिया संस्थानों ने भी प्रकाशित की है।

यह भी पढ़ें: सस्ते वेंटिलेटर बनाने के लिए आईआईटी कानपुर व बीडीएल के बीच हुआ करार

कैसे करता है कोरोना वायरस पर हमला?

इजरायल के रक्षामंत्री नैफताली बन्नेट ने बताया कि यह एंटीबॉडी मोनोक्‍लोनल तरीके से वायरस पर हमला करता है। यह कोरोना से ग्रसित मरीजों के शरीर के अंदर ही कोरोना वायरस को खत्म कर देती है। जिसके बाद वायरस शरीर के अन्य हिस्सों में या फिर दूसरे व्यक्ति में नहीं फैलता है।

बड़े पैमाने पर शुरू किया जाएगा उत्पादन

IIBR देश के रक्षा मंत्रालय के अधीन आता है। लैब द्वारा वैक्सीन को पेटेंट कराने का प्रोसेस शुरू किया जा चुका है। इसके बाद वैक्सीन का बड़े पैमाने पर उत्पादन शुरू किया जाएगा। ताकि दुनियाभर के तमाम देशों को इस वैक्सीन का फायदा मिल सके।

यह भी पढ़ें: हो गया एलान: इस दिन होंगी NEET और JEE Mains की परीक्षा

IIBR पर है बेहद गर्व- रक्षामंत्री

रक्षा मंत्री ने कहा कि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर वैक्सीन के उत्पादन के लिए हम दुनियाभर की कंपनियों से बात करेंगे। उन्होंने कहा कि मुझे इजरायल इंस्टीट्यूट फॉर बायोलॉजिकल रिसर्च (IIBR) पर बेहद गर्व है। हालांकि उन्होंने इस बात की जानकारी नहीं दी कि इस वैक्सीन का क्लीनिकल ट्रायल या ह्यूमन ट्रायल हुआ है या नहीं।

दुनिया के लिए होगी बड़ी उम्मीद

इजरायल के रक्षामंत्री नैफताली बेन्नेट ने कहा कि हम अपने नागरिकों के स्वास्थ्य और अर्थव्यवस्था को संतुलन करने की कोशिश कर रहे हैं। अगर रक्षा मंत्री का यह दावा सही है तो कोरोना के प्रकोप का सामना कर रही दुनिया के लिए बड़ी उम्‍मीद होगी।

यह भी पढ़ें: झटका लाखों भारतीयों की नौकरी पर, जल्द सख्त फैसला लेने वाला है देश

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App