Top

अब मालिक जाएगा जेल: कर्मचारियों की गलती का करेगा भुगतान, आ गया ये कानून

कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को रोकने के लिए लगे लॉकडाउन की वजह से बंद पड़ी कंपनियों ने अब फिर से काम को लेकर रफ्तार पकड़ ली है। हालांकि महामारी को ध्यान में रखते हुए कोई भी चीज पहले जैसी न रही।

Vidushi Mishra

Vidushi MishraBy Vidushi Mishra

Published on 8 Jun 2020 11:11 AM GMT

अब मालिक जाएगा जेल: कर्मचारियों की गलती का करेगा भुगतान, आ गया ये कानून
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को रोकने के लिए लगे लॉकडाउन की वजह से बंद पड़ी कंपनियों ने अब फिर से काम को लेकर रफ्तार पकड़ ली है। हालांकि महामारी को ध्यान में रखते हुए कोई भी चीज पहले जैसी न रही। इन हालातों में कंपनियों के मालिकों को अपने कर्मचारियों की साफ-सफाई, सुरक्षा और सोशल डिस्टेंशिंग का बहुत ध्यान रखना होगा।

ये भी पढ़ें... रेलमंत्री कोरोना पॉजिटिव: 4 सांसदों की हुई मौत, पाकिस्तान सरकार की हालत खराब

दोनों तरह के मुकदमे चलाए जा सकते

कोरोना वायरस के कंपनियों के लिए ब्रिटेन में काफी सख्त कानून बनाए गए हैं। सोशल डिस्टेंसिंग और साफ-सफाई में लापरवाही करने पर कंपनी के मालिक के खिलाफ स्वास्थ्य और सुरक्षा कानून के उल्लंघन के तहत सिविल या क्रिमिलन दोनों तरह के मुकदमे चलाए जा सकते हैं।

साथ ही ऐसा करने पर जुर्माना या कम से कम दो साल की जेल भी हो सकती है। इसलिए ब्रिटेन की कंपनी के मालिक को विशेष रूप से यह ध्यान रखना होगा कि उसका कोई कर्मचारी कोरोना का शिकार ना हो।

ये भी पढ़ें...अभी-अभी हिली धरती: भूकंप के जोरदार झटकों से डरे लोग, इतनी रही तीव्रता

इसी सिलसिले में एक ब्रिटिश लॉ फर्म के अधिवक्ता डैनियल पार्सन्स ने कहा, 'यदि आपका कार्यस्थल असुरक्षित है तो कुछ चीजों को ध्यान में रखकर काम करते हुए आप सुरक्षित रह सकते हैं। ऐसा भी हो सकता है कि कुछ लोग डर की वजह से कार्यस्थल पर आने से ही ऐतराज करें। इसके बावजूद आप ये सब नहीं छोड़ पाएंगे।'

साफ-सफाई का ध्यान

आगे उन्होंने कहा, 'जब मसला आपकी सुरक्षा का हो तो कानून आपकी रक्षा करता है। ऐसे में कंपनी के मालिकों को काम के लिए एक सुरक्षित प्रणाली अपनानी चाहिए और कार्यस्थल पर जोखिम का आकलन भी करना चाहिए।'

मतलब की कंपनी को कुछ नियमों का बेहद सख्ती से पालन करना होगा। रोज अच्छे से साफ-सफाई का ध्यान रखना बहुत जरुरी होगा। फ्लोर चेंजिंग प्लान से लेकर सोशल डिस्टेंसिंग को मेंटेन रखने के बारे में प्लानिंग करना होगा।

ये भी पढ़ें...केजरीवाल की तबीयत बिगड़ी: दिखे डराने वाले लक्षण, तुरंत हुए आइसोलेट

इंफेक्शन का खतरा और ज्यादा ना बढ़े

वहीं लॉकडाउन हटने के बाद हमारी कोशिश यही होनी चाहिए कि देश-दुनिया में इंफेक्शन का खतरा और ज्यादा ना बढ़े। ऐसा करने से वायरस की दूसरी लहर का खतरा भी झेलना पड़ सकता है।

आपको बता दें कि भारत में भी लॉकडाउन हटने के बाद से मामलों में तेजी आई है लेकिन पहले फेज़ में कई बड़े मंदिर, रेस्टोरेंट और मॉल्स खोलने की अनुमति मिल गई है।

ऐसे में कई बड़ी कंपनियों ने भी कार्यस्थल पर काम शुरू कर दिया है। साथ ही कार्यस्थल पर काम कर रहे कर्मचारियों को कई खास दिशा-निर्देश और गाइडलाइन के पालन भी कराए जा रहे हैं।

ये भी पढ़ें...खूबसूरती बनी मौत: मकान मालकिन ने किया घिनौना काम, तड़पाते हुए ली जान

Vidushi Mishra

Vidushi Mishra

Desk Editor

Next Story