मर रही पाकिस्तान की जनता, पीएम इमरान खान बोल रहे क्या करें अब?

इमरान खान से एक इंटरव्यू में सवाल किया गया कि गरीबी से परेशान लोग आखिरकार क्या खुदकुशी कर लें। अपने देश की जनता के लिए जवाब देते हुए इमरान ने कहा कि ‘क्या करें अब?’ बस इसके बाद से इमरान खान की जबरदस्त तरीके से आलोचना हो रही है।

Published by Vidushi Mishra Published: December 19, 2020 | 6:47 pm
imran pak pm

फोटो:सोशल मीडिया

इस्लामाबाद: पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान अपने ही देश की जनता की परेशानियों को दूर नहीं कर पा रहे हैं। ऐसे में इमरान खान से एक इंटरव्यू में सवाल किया गया कि गरीबी से परेशान लोग आखिरकार क्या खुदकुशी कर लें। अपने देश की जनता के लिए जवाब देते हुए इमरान ने कहा कि ‘क्या करें अब?’ बस इसके बाद से इमरान खान की जबरदस्त तरीके से आलोचना हो रही है। एक देश का पीएम जब ऐसे जवाब देगा तो उस देश की जनता का क्या हाल होगा।

ये भी पढ़ें… पाकिस्तान पर सर्जिकल स्ट्राइक: खौफ से कांप रहा है देश, भारत से बचेगा नहीं

तो लोग खुदकुशी कर लें?

इंटरव्यू में इमरान कहते हैं कि दो लाख वेतन में उनका गुजारा नहीं होता, तो लोग 17-18 हजार में कैसे गुजारा करेंगे? इमरान ने जवाब दिया कि इसका हल यह है कि देश की दौलत बढ़ाएं। फिर सवाल किया गया कि जब तक ऐसा नहीं होता तो लोग खुदकुशी कर लें? गौर फरमाइये इस पर इमरान ने कहा- ‘क्या करें अब?…अब क्या करेंगे मुझे बताएं।’

ऐसे में पाकिस्तान के डॉन अखबार के अनुसार, आबादी के मामले में दुनिया में छठे स्थान पर खड़े देश में एक बड़ा हिस्सा बेरोजगार है। देश की 64% आबादी 30 साल की उम्र के नीचे है और युवा बेरोजगारी दर 8.5% है। साथ ही 80% युवा मजदूर या तो अशिक्षित है या कुशलता में कमी है। देश के प्राइवेट सेक्टर में ट्रेनिंग की कीमत काफी ज्यादा है जिसकी वजह से लोग इसका खर्च उठा नहीं पाते हैं।

IMRAN KHAN
फोटो:सोशल मीडिया

ये भी पढ़ें…पाकिस्तानी एक्ट्रेस की मौतः सिनेमा जगत को तगड़ा झटका, इन फिल्मों से हुई मशहूर

पाकिस्तान कर्ज में बुरी तरह से डूबा

बता दें कि पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था बहुत बुरे दौर से गुजर रही है। ऐसे में कोरोना वायरस ने उसकी कमर और ज्यादा तोड़ दी। ऐसे में अभी तक कि अर्थव्यवस्था के और गर्त में जाने के डर से इमरान ने देश को पूरी तरह से लॉकडाउन भी नहीं किया।

साथ ही पाकिस्तान दूसरे देशों के कर्ज में भी बुरी तरह से डूबा है। वहीं सऊदी अरब का 2 अरब डॉलर का कर्ज चुकाने के लिए पाकिस्तान ने चीन से 1.5 डॉलर की सहायता मांगी है। जिसके लिए चीन का पाकिस्तान गुलाम बन बैठा है।

ये भी पढ़ें…मारे पाकिस्तानी सैनिक: LoC पर ताबड़तोड़ गोलाबारी, आर्मी ने दिया करारा जवाब

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App