×

अमेरिका की चीन के खिलाफ कड़ी कार्रवाई: अब क्या करेगा ड्रैगन, हो जाएगा पागल

अमेरिका ने चीन के पश्चिमी शिनजियांग प्रांत के उत्पादों को बैन किया है। इनमें संदिग्ध सामूहिक जेल शिविरों के उत्पाद भी शामिल हैं। हाल के दिनों में देखें तो अमेरिका ने चीन के खिलाफ कई कड़े फैसले लिए हैं।

Newstrack
Updated on: 9 Oct 2020 4:40 PM GMT
अमेरिका की चीन के खिलाफ कड़ी कार्रवाई: अब क्या करेगा ड्रैगन, हो जाएगा पागल
X
चीन ने अमेरिका के इस कदम पर नाराजगी जाहिर करते हुए कहा कि इससे वैश्विक आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में अमेरिका का 'दोहरा चरित्र' उजागर हो गया है।
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

वॉशिंगटन: अमेरिकी ने चीन के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की है। ट्रंप प्रशासन ने अब चीनी कंपनियों के खिलाफ नया आयात प्रतिबंध लगा दिया है। ट्रंप प्रशासन ने आरोप लगाया है कि चीन के पश्चिम शिनजियांग क्षेत्र में जिन प्रोडक्ट्स का उत्पादन किया जाता है वहां के कैंपों में लोगों से गुलाम या जबरन बंधुआ मजदूर बनाकर काम करवाया जाता है।

अमेरिका ने चीन के पश्चिमी शिनजियांग प्रांत के उत्पादों को बैन किया है। इनमें संदिग्ध सामूहिक जेल शिविरों के उत्पाद भी शामिल हैं। हाल के दिनों में देखें तो अमेरिका ने चीन के खिलाफ कई कड़े फैसले लिए हैं। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप अक्सर चीन पर निशाना साधते रहते हैं।

इसके बाद ट्रंप प्रशासन ने चीन खिलाफ एक नया US ट्रेड कड़ी कार्रवाई की है। अमेरिका ने शिनजियांग क्षेत्र में मानवाधिकारों के हनन का आरोप लगा है और इसी को ध्यान में रखकर यह कार्रवाई की है। इस कार्रवाई में अमेरिका ने चीनी अधिकारियों और व्यवसायों को निशाना बनाया है।

ये भी पढ़ें...कंगना बुरी फंस गईं: कोर्ट ने सुनाया ये फैसला, अब FIR दर्ज करने के आदेश

Donald Trump

चीनी कंपनियों पर लगा बैन

गौरतलब है कि चीन के शिनजियांग में पांच कंपनियां और पूर्वी अनहुई प्रांत में एक है। इन कंपनियों में परिधान, कपास यानी सूती, कंप्यूटर पार्ट्स और बाल के प्रोडक्ट्स का निर्माण किया जाता है। इस तरह के माल को अमेरिका ने प्रतिबंध कर दिया है। ये कंपनियां अमेरिका के सीमा शुल्क और सीमा सुरक्षा के नए प्रतिबंध के दायरे में शामिल हैं।

ये भी पढ़ें...मोदी मंत्रिमंडल का विस्तार: बढ़ा दबाव, इन 6 मंत्रियों पर टिकी सारी जिम्मेदारी

लोगों को बनाया जाता है बंधुआ मजदूर

अमेरिकी ने अपने आदेश में 5 कंपनियों पर प्रतिबंध लागाया है। इसके साथ ही इसमें शिनजियांग का व्यावसायिक कौशल शिक्षा और प्रशिक्षण केंद्र भी शामिल है। चीन इस शब्द का इस्तेमाल व्यावसायिक कौशल शिक्षा और प्रशिक्षण केंद्र का उपयोग बड़े शिविरों के लिए करता है। वहां मुस्लिमों को कैदियों की तरह हिरासत में लिया जाता है और फिर बंधुआ मजदूर बनाकर इस्तेमाल किया जाता है। इसके साथ ही उनसे जबरन और मनमाने तरीके से काम लिया जाता है। अमेरिका ने कड़ी कार्रवाई करते हुए चीन के शिनजियांग प्रांत से आने वाले उत्पादों पर बैन लगा दिया है।

ये भी पढ़ें...भारतीय रेलवे का बड़ा फैसला: अब लागू होगा ये नया नियम, खूशी से झूम उठेंगे रेल यात्री

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Newstrack

Newstrack

Next Story