लंदन आतंकी हमला: मारे गए आतंकी का पाक कनेक्शन, POK में बनाना चाहता था……

ब्रिटेन के मशहूर लंदन ब्रिज के पास हुए आतंकी हमले में शामिल संदिग्ध उस्मान खान का संबंध पाकिस्तान से जुड़ा है। वह 10 साल पहले अपने तीन आतंकी साथियों के साथ पाकिस्तान भी गया था।

नई दिल्ली: ब्रिटेन के मशहूर लंदन ब्रिज के पास हुए आतंकी हमले में शामिल संदिग्ध उस्मान खान का संबंध पाकिस्तान से जुड़ा है। वह 10 साल पहले अपने तीन आतंकी साथियों के साथ पाकिस्तान भी गया था। वह पाक अधिकृत कश्मीर (पीओके) में आतंकी ट्रेनिंग कैंप बनाना चाहता था इसलिए वह पाकिस्तान गया था।

ब्रिटिश कोर्ट ने उस्मान को 2012 में भी आतंकी गतिविधियों में शामिल होने का दोषी पाया था। ब्रिटेन के मशहूर लंदन ब्रिज के पास शुक्रवार को हुई चाकूबाजी में दो लोगों की मौत हो गई थी। वहीं स्कॉटलैंड यार्ड ने फर्जी विस्फोटक जैकेट पहने एक पुरुष संदिग्ध को घटनास्थल पर मारने की पुष्टि की थी। लंदन ब्रिज इलाके में ही जून 2017 में आईएसआईएस आतंकी हमले में 11 लोगों की मौत हो गई थी।

यह भी पढ़ें…हैदराबाद मर्डर केस: 14 दिन की रिमांड पर भेजे गए चारों आरोपी

उस्मान आतंकवादी संगठन अल-कायदा की विचारधारा से प्रभावित था। एक विदेश मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक उस्मान खान को साल 2010 में लंदन स्टॉक एक्सचेंज पर हमले की साजिश रचने का दोषी करार दिया गया था और फरवरी 2012 में वुलविच क्राउन कोर्ट ने उसे आठ साल की जेल की सजा सुनाई थी।

यह भी पढ़ें…प्रियंका रेड्डी: दरिंदगी को लेकर सोशल मीडिया पर उबाल, इन हस्तियों ने जताया गुस्सा

उस्मान स्टोक-ऑन-ट्रेंट, कार्डिफ और लंदन के 9 कट्टरपंथी समूह का एक सदस्य था। उस्मान ने पाक अधिकृत कश्मीर (पीओके) में अपनी खानदानी जमीन पर आतंकियों के लिए ट्रेनिंग कैंप बनाने की योजना बनाई थी। 2010 में वह कट्टरपंथी समूह के सभी 9 सदस्यों में सबसे कम उम्र (19 वर्ष) का था।

यह भी पढ़ें…उद्धव सरकार में कैबिनेट पर बनी सहमति, जानिए किसे मिल सकता है कौन सा मंत्रालय

जस्टिस विल्की ने बताया था कि उस्मान अपने दो साथियों नजम हुसैन और मोहम्मद शाहजहां के साथ फंड इकट्ठा कर आतंकी ट्रेनिंग कैंप बनाना चाहता था।