×

भारत समेत सभी पड़ोसी कोरोना से बेहाल, मगर इस देश में बेदम हुआ वायरस

भारत में कोरोना के बढ़ते संक्रमण के कारण दिन- प्रतिदिन स्थिति गंभीर होती जा रही है। देश में कोरोना से संक्रमिक मरीजों का आंकड़ा तीन लाख के ऊपर पहुंच गया है।

Ashiki
Updated on: 13 Jun 2020 3:22 PM GMT
भारत समेत सभी पड़ोसी कोरोना से बेहाल, मगर इस देश में बेदम हुआ वायरस
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

अंशुमान तिवारी

नई दिल्ली: भारत में कोरोना के बढ़ते संक्रमण के कारण दिन- प्रतिदिन स्थिति गंभीर होती जा रही है। देश में कोरोना से संक्रमिक मरीजों का आंकड़ा तीन लाख के ऊपर पहुंच गया है। भारत के पड़ोसी देशों पाकिस्तान और बांग्लादेश में भी कोरोना वायरस के कारण हालात गंभीर हो चुके हैं मगर भारत का एक पड़ोसी देश ऐसा भी है जिसने कोरोना वायरस को काबू में कर रखा है और वहां अभी तक कोरोना से एक भी मौत नहीं दर्ज की गई है।

ये भी पढ़ें: सीएचसी में तैनात सरकारी डॉक्टर रहता है लापता, चला रहा प्राइवेट अस्पताल

भूटान में अब तक सिर्फ 62 मरीज

कोरोना वायरस पर काबू पाने वाले वाले इस देश का नाम है भूटान। सिक्किम और पश्चिम बंगाल की सीमा से सटे बेहद खूबसूरत इस छोटे से देश में अपने यहां कोरोना के फैलाव को रोकने में कामयाबी हासिल की है। भारत की तरह ही पड़ोसी देश पाकिस्तान में भी कोरोना कहर ढा रहा है और वहां मरीजों की संख्या 1,34,000 से अधिक हो गई है। बांग्लादेश में भी यह वायरस कहर ढाने लगा है और यहां 84 हजार से अधिक लोग इस वायरस से संक्रमित हो चुके हैं मगर भूटान में अब तक सिर्फ 62 लोग ही कोरोना से संक्रमित हुए हैं।

ये भी पढ़ें: नेपाल की भारतीय शख्स के साथ अमानवीयता, 20 घंटों में कर दिया ऐसा हाल

20 लोग इलाज के बाद हुए ठीक

साढ़े सात लाख की आबादी वाला देश भूटान पहाड़ों की सुंदर वादियों से घिरा हुआ है। भूटान में कोरोना से संक्रमित होने वाले 62 लोगों में से 20 लोग इलाज के बाद ठीक हो चुके हैं। भूटान में कोरोना का पहला केस 6 मार्च को दर्ज किया गया था और 10 मई तक यहां कोरोना से संक्रमित सात ही मरीज थे। 14 मई तक यहां कोरोना के बीस केस दर्ज किए गए और 12 जून तक कोरोना मरीजों का आंकड़ा 62 तक पहुंचा। इनमें से 20 मरीजों कोरोना से पूरी तरह ठीक हो चुके हैं। यहां अभी तक 20,000 से अधिक लोगों की कोरोना संबंधी जांच की जा चुकी है। सुविधाओं के मामले में भी यह देश काफी पिछड़ा हुआ है मगर फिर भी यहां अभी तक कोरोना काबू में बना हुआ है।

नेपाल और मालदीव में भी कोरोना की मार

भूटान के अलावा भारत के अन्य पड़ोसी देशों की बात की जाए तो वहां कोरोना के संक्रमण की रफ्तार काफी तेज है। भारत के पड़ोसी एक और छोटे देश नेपाल में कोरोना संक्रमित मरीजों का आंकड़ा पांच हजार के ऊपर पहुंच चुका है और वहां इस वायरस ने अब तक 16 लोगों की जान ले ली है। भूटान से भी कम जनसंख्या वाले देश मालदीव में भी 2,000 से अधिक लोग कोरोना वायरस का शिकार हो चुके हैं और अब तक 8 लोगों की मौत हुई है। भारत के दक्षिण में स्थित एक और पड़ोसी देश श्रीलंका में भी करीब 19 सौ लोग कोरोना से संक्रमित हैं और अब तक 11 लोगों की मौत हो चुकी है।

ये भी पढ़ें: अखिलेश बोले- विदेश नीति के मोर्चे पर सरकार फेल, इस क्षेत्र पर चीन की निगाह

पाकिस्तान दुनिया में 15वें नंबर पर

भारत के पड़ोसी देश पाकिस्तान में तो हालात बेहद खराब हैं और यह 1,34,000 मरीजों के साथ दुनिया का 15वां सबसे प्रभावित देश बन गया है। पाकिस्तान में कोरोना से ढाई हजार से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है। बांग्लादेश में भी कोरोना के आक्रमण की रफ्तार काफी तेज है और संक्रमित 84,000 से अधिक लोगों में करीब 12 सौ लोगों की मौत हो चुकी है।

ये भी पढ़ें: दुष्कर्म का आरोपी गिरफ्तार, 8 साल की मासूम को बनाया हवस का शिकार

Ashiki

Ashiki

Next Story