ये महिला है कोरोना वायरस की पहली मरीज, सुनाई आपबीती,जानकर दंग रह जाएंगे

कोरोना वायरस ने आम और खास सबको चपेट में ले लिया है। अब तक पूरी दुनिया में करीब 7 लाख लोग इस  वायरस की चपेट में आ चुके हैं। वहीं 32 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो गई है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि कोरोना वायरस से पीड़ित दुनिया का पहला मरीज कौन है? दुनिया में कोरोना वायरस के पहले मरीज के तौर पर चीन की 57 साल की एक महिला की पहचान हुई है।

Published by suman Published: March 30, 2020 | 8:18 am
Modified: March 30, 2020 | 8:42 am

नई दिल्ली  कोरोना वायरस ने आम और खास सबको चपेट में ले लिया है। अब तक पूरी दुनिया में करीब 7 लाख लोग इस  वायरस की चपेट में आ चुके हैं। वहीं 32 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो गई है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि कोरोना वायरस से पीड़ित दुनिया का पहला मरीज कौन है? दुनिया में कोरोना वायरस के पहले मरीज के तौर पर चीन की 57 साल की एक महिला की पहचान हुई है। जो चीन के वुहान में झींगा बेचती थी। इसका नाम वेई गुइजियान है और इसे पेशेंट जीरो बताया जा रहा है।

यह पढ़ें…‘कोरोना दान’ पर अमिताभ से पूछे गए सवाल, मिला ऐसा जवाब

पहला मरीज पेशेंट जीरो

पेशेंट जीरो उस मरीज को कहते हैं, जिसमें सबसे पहले किसी बीमारी के लक्षण देखे जाते हैं। हालांकि कोरोना के पेशेंट जीरो में अब पूरी तरह से ठीक हो चुकी हैं। करीब एक महीने तक चले इलाज के बाद यह महिला पूरी तरह से ठीक हो चुकी है। हालांकि ये जरूरी नहीं है कि जिस व्यक्ति में सबसे पहले लक्षण दिखें वही पहला संक्रमित व्यक्ति हो। दुनिया भर की मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक ये महिला उस समय संक्रमित हुई, जब वह वुहान के सी-फूड मार्केट में 10 दिसंबर को झींगे बेच रही थीं।

 

यह पढ़ें…लॉकडाउन: मजदूरों के पलायन पर सरकार सख्त, इन 4 अधिकारियों पर कड़ी कार्रवाई

महिला की जुबानी

इस महिला ने बताया, ‘मुझे हर बार ठंड के मौसम में सर्दी-जुकाम हो जाता है। 10 दिसंबर को ऐसा ही हुआ। मुझे थोड़ी ज्यादा थकान लगने लगी। मैं उसी दिन अपने पास के एक क्लीनिक पर गई और दवा लेने के बाद फिर से मार्केट में अपना काम करने लगी। मेरी हालत बिगड़ने लगी तो मैंने वुहान के द इलेवंथ हॉस्पिटल में डॉक्टर को दिखाया। वहां पर भी मेरी बीमारी का पता नहीं चला और मुझे दवाइयां दे दी गईं।

 

यह पढ़ें…फ्रांस में शोक की लहर: पूर्व मंत्री पैट्रिक का कोरोना वायरस से निधन

चीन के प्रशासन ने लापरवाही

इसके बाद 31 दिसंबर को इस महिला को कोरोना वायरस से पीड़ित बताया गया। महिला उन 27 मरीजों में शामिल थी, जिन्हें सबसे पहले कोरोना वायरस से संक्रमित पाया गया। शुरुआत में चीन के प्रशासन ने लापरवाही बरती और इस महिला से इसके परिवार को और फिर दूसरे कई लोगों को संक्रमण हो गया। चीन के प्रशासन ने दिसंबर के आखिर में इस महिला को क्वारंटीन किया।

अमेरिकी मीडिया ने भी इस महिला को ही पहला मरीज बताया था, लेकिन चीन सरकार ने इस बात को खारिज किया था कि ये महिला पेशेंट जीरो है। 57 साल की इस महिला ने कहा है कि अगर चीन की सरकार ने समय पर कदम उठाए होते तो मरने वालों की संख्या कम होती ।