Astro

माह – भाद्रपद, तिथि – द्वितीया – 22:50, पक्ष – कृष्ण, वार – शनिवार, नक्षत्र – शतभिषा – 13:55,सूर्योदय – 05:51, सूर्यास्त – 18:59।

लोगों की नजर दूसरे की गर्दन पर भी कई बार जाती है। उनकी गर्दन को देखकर भी उनके व उनके भविष्य के बारे में अंदाजा लगाया जा सकता है। समुद्रशास्त्र की मानें तो गर्दन देखकर यह पता चल सकता है कि दूसरे व्यक्ति के पास भविष्य में पैसा होगा या नहीं? या फिर वह भाग्यशाली है या नहीं।

शुक्र ग्रह अपनी राशि को छोड़ अब दूसरी राशि में जाने वाला है।कहने का मतलब की शुक्र कर्क राशि से अब सिंह राशि जाने वाला है।  जो 17 अगस्त से 9 सितंबर तक रहेंगे। इससे 12 राशियों पर क्या होगा असर जानते हैँ। ज्योतिष के अनुसार शुक्र का सिंह राशि में जाना बहुत शुभ नहीं है।

माह – भाद्रपद ,तिथि – प्रतिपदा – 20:23,पक्ष – कृष्ण,वार – शुक्रवार,नक्षत्र – धनिष्ठा , सूर्योदय – 05:50, सूर्यास्त – 19:00। शुक्रवार को मां लक्ष्मी का दिन है , इस दिन उन्हे प्रसन्न करने के लिए पूजा व्रत का विधान है।

हर बहन अपने भाई की कलाई में राखी बांधते हुए उनके शुभ जीवन की कामना करती हैं। और भाई बहन को उपहार देता है। इसी के साथ ही बहन भी भाई को तोहफा देती हैं। अगर राशि के अनुसार भाई को उपहार दे तो भाई के जीवन में खुशहाली बनी रहती है।

माह – श्रावण,तिथि –पूर्णिमा ,पक्ष – शुक्ल, वार – गुरुवार ,सूर्योदय – 05:49: सूर्यास्त – 19:01 । राखी व आजादी का दिन एक साथ होने से किस जातक के जीवन मे कैसा गुजरेगा गुरुवार जानिए राशिफल।

माह – श्रावण, तिथि – चतुर्दशी ,पक्ष – शुक्ल,वार – बुधवार,नक्षत्र – श्रवण  ,सूर्योदय – 05:49: सूर्यास्त – 19:01। बुधवार के दिन 12 राशियों के लिए क्या कुछ रहने वाला है खास

माह – श्रावण, तिथि – त्रयोदशी ,पक्ष – शुक्ल, वार – मंगलवार, नक्षत्र – उत्तराषाढ़ा ,सूर्योदय – 05:48,सूर्यास्त – 19:02।

माह – श्रावण, तिथि – द्वादशी ,पक्ष – शुक्ल, वार – सोमवार,नक्षत्र – पूर्वाषाढ़ा ,सूर्योदय – 05:48,सूर्यास्त – 19:03।

कुरान की रोशनी में देखा जाए तो जो लोग हज करने जा रहे हैं, उन्हें कुर्बानी जरूर देनी चाहिए। साथ ही उन लोगों को भी कुर्बानी देनी चाहिए, जिनकी क्षमता है कुर्बानी देने की। हर किसी के लिए कुर्बानी देना अनिवार्य नहीं है। इस्लामिक विषयों के जानकार ने बताया कि