Top

महिला सिपाही से गंदी डिमांडः बोली इज्जत बेचकर नहीं करनी नौकरी, की शिकायत

बिहार पुलिस विभाग से कास्टिंग काउच का मामला सामने आया है। यहां पर एक महिला पुलिसकर्मी ने दरभंगा के आईजी दफ्तर में तैनात एक पुलिस अधिकारी पर गंभीर आरोप लगाते हुए इस बारे में आईजी से लिखित शिकायत की है।

Shreya

ShreyaBy Shreya

Published on 24 Sep 2020 7:36 AM GMT

महिला सिपाही से गंदी डिमांडः बोली इज्जत बेचकर नहीं करनी नौकरी, की शिकायत
X
लेडी पुलिसकर्मी ने पुलिस अधिकारी पर लगाए गंभीर आरोप
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

दरभंगा: आपने फिल्म इंडस्ट्री में तो कास्टिंग काउच के मामले अक्सर सुने ही होंगे। कई एक्टर्स और प्रोड्यूसर्स पर इसका आरोप लगता रहा है। इस बीच बिहार पुलिस विभाग से कास्टिंग काउच का मामला सामने आया है। यहां पर एक महिला पुलिसकर्मी ने दरभंगा के आईजी दफ्तर में तैनात एक पुलिस अधिकारी पर गंभीर आरोप लगाते हुए इस बारे में आईजी से लिखित शिकायत की है।

अश्लील हरकतें और बातें करने का लगाया आरोप

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, महिला पुलिसकर्मी ने अपनी लिखित शिकायत में पुलिस अधिकारी शुभ करण पर उनके साथ अश्लील हरकत करने और उनके शरीर और प्राइवेट पार्ट को गलत तरीके से छूने का गंभीर आरोप लगाया है। महिला ने बताया कि जब वे सरकारी कामकाज के सिलसिले में आईजी दफ्तर जाया करती थी, तभी उनसे जान-पहचान हुई थी। महिला पुलिसकर्मी ने बताया कि एक पर्सनल काम कराने के बदले शुभ करण ओझा उनके करीब आए।

शारीरिक संबंध बनाने को कहा तो की शिकायत

उसके बाद फोन पर उनसे अश्लील बातें और अश्लील मैसेज करने लगे। महिला पुलिसकर्मी ने पहले तो बहुत बर्दाश्त की, लेकिन जब उनसे शारीरिक संबंध बनाने पर जोर दिया गया तो महिला के सब्र का बांध टूट गया। इसके बाद महिला पुलिसकर्मी ने सीधा दरभंगा के आईजी से इसे लेकर लिखित शिकायत कर दी। साथ ही पुलिस अधिकारी शुभ करण द्वारा किए गए अश्लील मैसेज और अश्लील बातों के ऑडियो भी सबूत के तौर पर दिए हैं।

यह भी पढ़ें: इंसान के शरीर में डाला जाएगा कोरोना वायरस, विश्व में पहली बार होगा ऐसा, ये है वजह

क्या है पूरा मामला?

वहीं इस मामले के सामने आने के बाद एसएसपी ने पूरे मामले की जांच का आदेश दिया है। एसएसपी ने मामले को गंभीरता से लेते हुए मामले की जांच शुरू कर दिया है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, महिला पुलिसकर्मी ने निजी तौर एक पुलिसकर्मी रागीव आलम खां को 60 हजार रुपये तक का कर्ज दिया था। लेकिन काफी वक्त गुजरने के बाद वह पैसा लौटाने में आनाकानी करने लगा। जिसके बाद अपने पैसे डूबने के डर से पुलिसकर्मी ने आईजी के रीडर शुभ करण ओझा से मदद मांगी।

यह भी पढ़ें: सरकार के प्रोजेक्ट को झटकाः यहां लाइट एंड साउंड शुरू होने से पहले स्पीकर चोरी

मदद करने के बाद से शुरू की अश्लील हरकत

वहीं आईजी के रीडर शुभ करण ओझा के कहने पर रागीव आलम ने पूरे पैसे दामिनी को लौटा दिए। इसके बाद महिला पुलिसकर्मी के सामने दूसरी परेशानी खड़ी हो गई। इसके बाद पुलिस अधिकारी शुभ करण ने उनके साथ अश्लील हरकत और मैसेज करना शुरू कर दिया। इसके बाद महिला पुलिसकर्मी ने वरिष्ठ अधिकारी के पास अपनी फरियाद लगाई। शिकायत के बाद भी उनकी परेशानी कम नहीं हुई।

यह भी पढ़ें: बुलेट ट्रेन पर बोली: ये भारतीय कंपनियां सबसे आगे, जल्द दौड़ेगी पटरी पर

अधिकारी से की दोनों के खिलाफ की शिकायत

महिला पुलिसकर्मी का कहना है कि रागीव आलम खां और आईजी के रीडर ओझा एक हो गए हैं और उन्हें तरह-तरह से प्रताड़ित कर रहे है। साथ ही उन्हें तरह-तरह की धमकी भी मिल रही है। पीड़ित पुलिसकर्मी ने अधिकारी को दो लिखित शिकायत दी है। एक में रागीव आलम खां के खिलाफ फोन करने, धमकाने और रास्ते पर अभद्र भाषा का प्रयोग करने की बात कही है। तो दूसरे में रीडर ओझा पर गलत नीयत से प्राइवेट पार्ट छूने और अश्लील बातें करने का आरोप लगाया है।

यह भी पढ़ें: नौकरीवालों खुशखबरी: नहीं करना होगा अब 5 साल का इंतजार, सरकार ने दिया तोहफा

इज्जत बेचकर नौकरी नहीं करूंगी

महिला पुलिस कर्मी का कहना है कि अगर महिला पुलिसकर्मी डिमांड को पूरी कर देते है तो उन्हें ड्यूटी करने में सहूलियत दी जाती है नहीं तो उन्हें तबाह और तंग किया जाता है। उन्होंने कहा कि पुलिस विभाग में कास्टिंग काउच बहुत है। महिला के मुताबिक, महिला पुलिसकर्मी डर के चलते अपनी बात नहीं रखती हैं, लेकिन वो पीछे नहीं हटने वाली हैं। पुलिस कर्मी ने आरोपियों के खिलाफ सख्त सजा देने की मांग की है। महिला का कहना है कि इज्जत बेचकर नौकरी नहीं करूंगी।

यह भी पढ़ें: Google Map बताएगा आपके क्षेत्र में कहां है कोरोना के मरीज, यहां जानें कैसे

एसएसपी ने शुरू की मामले की जांच

वहीं इस मामले पर दरभंगा के एसएसपी बाबू राम ने कहा कि उन्हें महिला सिपाही की ओर से दो शिकायतें मिली हैं, जिसमें एक सिपाही पर पैसों के लेन-देन और धमकी देने का आरोप लगाया है। वहीं दूसरे शिकायत में अधिकारी पर अश्लील हरकत करने और अश्लील बातें करने का आरोप लगाया है। एसएसपी के मुताबिक, दोनों मामले की जांच की जा रही है, आरोप सिद्ध हो जाने पर कार्रवाई अवश्य की जाएगी।

यह भी पढ़ें: खाकी पर भारी खादीः राजनीति में बढ़ती दिलचस्पी, एक और अधिकारी कतार में

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shreya

Shreya

Next Story