लॉकडाउन में राहत: लोगों ने PF से निकाले इतने करोड़ रुपये, नहीं कट रहा टैक्स

लॉकडाउन के बीच कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) ने अपने सब्सक्राइबर में पिछले 15 दिन में करीब 946 करोड़ रुपये वितरित कर दिए हैं। दरअसल…

नई दिल्ली: लॉकडाउन के बीच कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) ने अपने सब्सक्राइबर में पिछले 15 दिन में करीब 946 करोड़ रुपये वितरित कर दिए हैं। दरअसल, ईपीएफओ ने प्रावधान करते हुए लॉकडाउन के दौरान लोगों को पीएफ से एडवांस निकासी करने की अनुमति दे दी है।

ये पढ़ेंः यहां जिला प्रशासन ने दिल्ली घटना से लिया सबक, शहर में ऑनलाइन फूड डिलेवरी बन्द

नहीं कटेगा टैक्स

कोरोना संकट के ऐसे समय में लोगों को किसी तरह की आर्थिक समस्या न आए, इसके लिए EPFO ने पीएफ एकाउंट से एडवांस पैसा निकालने की सुविधा दी है। और तो और इस रकम पर टैक्स भी नहीं कट रहा है।

ये पढ़ेंः सुरक्षाबलों पर आतंकी हमला: भयानक गोलीबारी से गूंजा कैंप, जवान को लगी गोली

दूसरे संस्थानों ने भी दिए पैसे

ईपीएफओ ने 15 दिन में तीन लाख से ज्यादा क्लेम निपटाते हुए सब्सक्राइबर को 946.49 करोड़ रुपये वापस किए हैं। यह वो रकम है, जो उनके अपने प्रोविडेंट फंड में जमा थी। यह जानकारी श्रम मंत्रालय द्वारा जारी एक बयान में दी गई है। इसके अलावा, ईपीएफओ से अलग चल रहे संस्थानों ने भी 284 करोड़ रुपये पीएफ बांटा है।

ये पढ़ेंः सात फेरों पर कोरोना का साया, टल गई आपकी शादी तो समय रहते कर लें ये सारे काम

श्रम मंत्रालय का क्या कहना है

श्रम मंत्रालय ने शुक्रवार को कहा, ‘इस संकट के दौरान EPFO अपने सदस्यों की सेवा करने के लिए प्रतिबद्ध है। ईपीएफओ के सभी दफ्तरों से इस कठिन समय के बीच भी काम करते हुए जरूरी सेवाएं मुहैया करा रहे हैं।’ बता दें कि पीएफ की निकासी ऑनलाइन ही हो रही है। बता दें कि इस रकम को एडवांस की तौर पर दिया जा रहा है। इसे कर्मचारी को फिर से जमा करने की जरूरत नहीं होगी।

ये पढ़ेंः अखिलेश ने PPE किट पर सरकार को घेरा, लगाया घोटाले का आरोप

इतनी निकाली जा सकती है रकम

पीएफ खाते में उपलब्ध बैलेंस (कर्मचारी और नियोक्ता दोनों के हिस्से) के 75 फीसदी तक या तीन महीने के वेतन के बराबर (जो भी कम हो) रकम निकाली जा सकती है। मालूम हो कि मार्च में श्रम मंत्रालय ने ऐलान किया था कि कोविड-19 महामारी को देखते हुए इन प्रावधानों के साथ पीएफ रकम के निकासी अनुमित दी थी। इसके लिए बाकायदा नोटिफिकेशन जारी करके कर्मचारी भविष्य निधि में बदलाव दर्शाया गया था।

ये पढ़ेंः जमात और रोहिंग्या मुसलमानों पर सनसनीखेज खुलासा, गृह मंत्रालय ने राज्यों को चेताया

एक्सपर्ट्स ने क्या कहा

एक्सपर्ट्स ने कहा है कि निकासी की रकम पर टैक्स भी नहीं कटेगा। जरूरत को देखते हुए ईपीएफओ सभी दावों को तुरंत निपटा रहा है और एक बार जांच के बाद आवेदक के बैंक खाते में 3 दिन के भीतर रकम डाली जा रही है।

ये पढ़ेंः मुख्य गृह सचिव का निर्देश, कोरोना संक्रमण को छुपाने वाले लोगों के खिलाफ हो सख्त कार्रवाई

संदिग्धावस्था में शव मिलने से फैली सनसनी, पढ़ें भदोही की बड़ी खबरें

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App