रिलायंस की बड़ी पहल, कोरोना से भारत की लड़ाई में कई तरह की मदद का किया एलान

रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (आरआईएल) ने कोरोना वायरस (कोविड-19) के खिलाफ हमारी सामूहिक लड़ाई में राष्ट्र की सेवा में अपनी ड्यूटी 24 घंटे 7 दिन देने का संकल्प लिया है।

मुंबई: रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (आरआईएल) ने कोरोना वायरस (कोविड-19) के खिलाफ हमारी सामूहिक लड़ाई में राष्ट्र की सेवा में अपनी ड्यूटी 24 घंटे 7 दिन देने का संकल्प लिया है। आरआईएल ने पहले से ही एक बहु-आयामी और बहुस्तरीय रोकथाम, प्रभाव को न्यूनतम करने और जारी समर्थन रणनीति शुरू कर दी है जो कि व्यापक, सक्षम और सुविधाजनक है। यह दृष्टिकोण राष्ट्र के लिए जरूरी सेवाओं को आगे बढ़ाने में व्यापक स्तर पर सहायक साबित हो सकती है।

आरआईएल ने कोविड-19 के खिलाफ इस एक्शन प्लान को अमल में लाने के लिए रिलायंस फाउंडेशन, रिलायंस रिटेल, जियो, रिलायंस लाइफ साइंसिज, रिलायंस इंडस्ट्रीज ओर रिलायंस परिवार के सभी 6,00,000 सदस्यों की संयुक्त ताकत को अमल में लाना शुरू कर दिया है।
कार्य योजना के प्रमुख तत्वों में निम्नलिखित शामिल हैं:

1.रिलायंस फाउंडेशन और आरआईएल हॉस्पिटल्स:

भारत का पहला समर्पित कोविड-19 अस्पताल: सर एच.एन. रिलायंस फाउंडेशन: सिर्फ दो सप्ताह के थोड़े समय में, सर एचएन रिलायंस फाउंडेशन हॉस्पिटल ने बृहन्मुंबई नगर निगम (बीएमसी) के सहयोग से, सेवन हिल्स हॉस्पिटल, मुंबई में एक समर्पित 100 बिस्तर का सेंटर स्थापित किया है। ये सेंटर मुंबई के उन मरीजों के लिए है जो कि कोविड-19 के लिए हुए टेस्ट में पॉजिटिव आए हैं। यह भारत में अपनी तरह का पहला सेंटर है, जो कि पूरी तरह से रिलायंस फाउंडेशन द्वारा फंडेंड है और इसमें एक निगेटिव प्रेशर रूम शामिल है जो क्रॉस कंटेमीनेशन को रोकने में मदद करता है और संक्रमण को नियंत्रित करने में मदद करता है। सभी बेड आवश्यक बुनियादी ढांचे, बायो मेडिकल उपकरण जैसे वेंटिलेटर, पेसमेकर, डायलिसिस मशीन और रोगी निगरानी उपकरणों से सुसज्जित हैं।

यह भी पढ़ें…बेलआउट पैकेज का एलान जल्द: महामारी से लड़ाई में ऐसे खर्च होगी रकम

2. मुंबई में एक विश्वस्तरीय स्वास्थ्य सेवा संस्थान, सर एच.एन. रिलायंस फाउंडेशन हॉस्पिटल ने भी अधिसूचित देशों के यात्रियों और संपर्क ट्रेसिंग के माध्यम से पहचाने गए संदिग्ध मामलों के लिए विशेष चिकित्सा सुविधाएं स्थापित करने की पेशकश की है। यह संक्रमित रोगियों को अगल थलग करने और उपचार के लिए अतिरिक्त सुविधाओं को जल्दी से बढ़ाएगा।

3. विभिन्न शहरों में मुफ्त भोजन: रिलायंस फाउंडेशन मौजूदा संकट की स्थिति में आवश्यक आजीविका राहत की पेशकश करने के लिए गैर सरकारी संगठनों के साथ सहभागिता में विभिन्न शहरों में लोगों को मुफ्त भोजन प्रदान करेगा।

4.लोधीवली में आइसोलेशन की सुविधा: आरआईएल ने लोधीवली, महाराष्ट्र में पूरी तरह से सुसज्जित आइसोलेशन सुविधा का निर्माण किया है और इसे जिला अधिकारियों को सौंप दिया है।

यह भी पढ़ें…लॉकडाउन: सीएम योगी का आदेश, ये आवश्यक सेवाएं रहेंगी जारी

5. रिलायंस लाइफ साइंसेज प्रभावी टेस्टिंग के लिए अतिरिक्त टेस्ट किट्स  और उपभोग्य सामग्रियों का आयात कर रही है। हमारे डॉक्टर और शोधकर्ता भी इस घातक वायरस का इलाज खोजने के लिए ओवरटाइम काम कर रहे हैं।

6. स्वास्थ्य कर्मियों के लिए मास्क और सुरक्षा सूट: आरआईएल अपनी उत्पादन क्षमता को बढ़ाकर प्रति दिन 100,000 फेस-मास्क और बड़ी संख्या में व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरण (पीपीई), जैसे सिक्योरिटी सूट्स और गारमेंट्स का निर्माण कर रही है ताकि राष्ट्र के हेल्थ वर्कर्स को कोरोनोवायरस की चुनौती से लड़ने के लिए अच्छी तरह से सुसज्जित किया जा सके।

7. आरआईएल ने आज प्रारंभिक समर्थन की घोषणा की है  और महाराष्ट्र मुख्यमंत्री राहत कोष में 5 करोड़ रुपए का योगदान दिया है।

यह भी पढ़ें…कोरोना से पहले इन महामारियों ने मचाई तबाही, इंसानों ने ऐसे जीती जंग

8. जियो का हैशटैग कोरोना हारेगा जीतेगा इंडिया अभियान:

ये बेहद महत्वपूर्ण है कि सामाजिक दूरी बनाए रखते हुए भारत के लोगों को अपने करीबी मित्रों, परिवारों, सहकर्मियों, व्यवसायों और समुदायों के साथ संपर्क में रहना जरूरी है।
भारत को जुड़े रहने के लिए जियो ने हैशटैग कोरोना हारेगा जीतेगा इंडिया पहल की शुरुआत की है।

यह पहल भारतीय नागरिकों को जुड़े और उत्पादक रहते हुए सुरक्षित रहने में सक्षम बनाएगी, जिससे रिमोट वर्किंग, रिमोट लर्निंग, रिमोट जुड़ाव और रिमोट केयर की सुविधा प्राप्त होगी।
जियो ने अपने विश्वास को दोहराया, कि एक देश के रूप में, हम इस में एक साथ हैं – जियो टुगेदर।

ए. विश्व का प्रमुख सहयोग मंच
जियो ने माइक्रोसॉफ्ट टीमों के साथ अपनी डिजिटल क्षमताओं को मिलाते हुए ऑफिस 365 में टीमवर्क के लिए एकीकृति कम्युनिकेशन और कोलेबरेशन हब को तैयार किया है ताकि ताकि व्यक्तियों, छात्रों, शैक्षिक और स्वास्थ्य देखभाल संस्थानों को अपने प्रोफेशनल लाइफ को जारी रखने के लिए सक्षम किया जा सके, जबकि इसके साथ ही वे सामाजिक तौर पर दूरी बना कर चलने का अभ्यास कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें…यहां सबकुछ मुफ्त: कोरोना से लड़ने के लिए राशन, स्कॉलरशिप-अतिरिक्त वेतन

(1) घर पर स्वास्थ्य देखभाल:

लक्षण परीक्षक: चिकित्सा प्रणाली पर अनावश्यक दबाव को रोकने के लिए उपयोगकर्ताओं को घर पर अपने लक्षणों को ठीक से जांचने में सक्षम बनाता है और कोरोनोवायरस स्थिति पर निरंतर वास्तविक समय के अपडेट और जानकारी भी प्रदान करता है।
जियोहैप्टिक पॉवर्स मॉयगॉव कोरोना हेल्पडेस्क: रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड की सहायक कंपनी जियो हैप्टिक टेक्नोलॉजीज ने भारत सरकार की नई व्हाट्सएप चैटबोट को संचालित किया है, जिसे ‘मॉयगॉव कोरोना हेल्पडेस्क’ नाम दिया गया है, जो कोरोवायरस वायरस के प्रकोप के बारे में पता करने में मदद करने और सत्यापित जानकारी का प्रसार करने के लिए है। इस चैटबोट को जियोहैप्टिक द्वारा सरकार के लिए उनकी आवश्यकता के अनुसार, निशुल्क डेवलप किया गया और इसे रियल टाइम में अपडेट किया जा रहा है।

यह भी पढ़ें…कोरोना वायरस: अमिताभ बच्चन के ट्वीट का उड़ा मजाक, यूजर्स ने कही ऐसी बात…

मेडिकल कंसल्टेशन, वास्तविक समय में चिकित्सकों और डॉक्टरों से जुड़कर घर पर ही सही सलाह प्राप्त करने की सुविधा

सिंगल हब में चैट, वीडियो, वॉइस और हेल्थकेयर टूल के साथ सरल, सुरक्षित सहयोग और संचार को सक्षम करता है

इलेक्ट्रॉनिक हेल्थ रिकॉर्ड, बिजनेस और ऑफिस एप्पस के कनेक्शन के माध्यम से रियल टाइम मरीज अपडेट कम्युनिकेट करे

(2) घर पर पढ़ाई:

छात्रों और शिक्षकों को वीडियो कॉलिंग के साथ ही तय समय पर क्लासरूम सेशंस, डॉक्यूमेंट और स्क्रीन शेयरिंग और अनौपचारिक चैट चैनलों पर कॉल करने में सक्षम किया गया है।

एक स्कूल वर्ष में सभी लेसंस के लिए एक कम्युनिकेशन हब प्रदान करना, जिसमें व्यक्तियों और टीमों के लिए फ्री स्टोरेज उपलब्ध है।

(3) घर से काम:

उपभोक्ताओं को रिमोट ऑडियो और वीडियो मीटिंग आयोजित करने में सक्षम करने के लिए, कोलेबोरेटिव बातचीत और फाइल शेयरिंग की सुविधा भी

रिकॉर्डिंग, स्क्रीन शेयरिंग और दस्तावेजों पर रिमोट सहयोग के साथ उत्पादकता को बढ़ावा देना

असीमित संदेश, शेड्यूलिंग, चैट और सर्च ऐप्प क्षमताओं के साथ सभी संचार जरूरतों के लिए वन-स्टॉप समाधान

बी. घर पर ब्रॉडबैंड

जियोफाइबर, जियोफाई और इसकी मोबिलिटी सर्विस, के माध्यम से, जियो विश्व स्तरीय और भरोसेमंद इंटरनेट सेवाओं तक पहुंच को सक्षम करेगा।

यह भी पढ़ें…राहत की खबर: दिल्ली आईआईटी ने खोज निकाली कोरोना की सबसे सस्ती टेस्ट किट

(1) फाइबर: यह सुनिश्चित करने के लिए कि हर कोई घर से संपर्क में रहे, जियो इस अवधि के लिए, बिना किसी सेवा शुल्क के, जियोग्रॉफिकली तौर पर जहां से सभी संभव है, बेसिक जियोफाइबर ब्रॉडबैंड कनेक्टिीविटी (10 एमबीपीएस) प्रदान करेगा। जियो न्यूनतम रिफंडेबल डिपॉजिट के साथ होम गेटवे राउटर भी प्रदान करेगा।

सभी मौजूदा जियोफाइबर ग्राहकों के लिए, जियो सभी प्लान्स में डबल डेटा प्रदान करेगा।
(2) मोबिलिटी: जियो अपने 4जी डेटा ऐड-ऑन वाउचर में डबल डेटा प्रदान करेगा। यह इन सेवाओं की बढ़ी हुई आवश्यकता को पूरा करने के लिए इन वाउचर में गैर-जियो वॉयस कॉलिंग मिनटों को भी बंडल करेगा। अपनी चल रही प्रतिबद्धता के रूप में, जियो यह सुनिश्चित कर रहा है कि इसकी मोबिलिटी सर्विसेज पूरे देश में चौबीसों घंटे रोटेशन पर आवश्यक टीमों की तैनाती के साथ चल रही हैं।

अधिक जानने और इन सेवाओं का लाभ उठाने के लिए, मॉयजियो ऐप डाउनलोड करें या www.jio.com/jiotogether पर विजिट करें।

यह भी पढ़ें…कोरोना: इस मेयर ने गरीबों के लिए बुक किया होटल, हर तरफ हो रही तारीफ

एफ. इमरजेंसी सर्विस वाहनों के लिए फ्री-ईंधन:

परिवहन के लिए इस्तेमाल होने वाले सभी आपातकालीन सेवा वाहनों के लिए रिलायंस मुफ्त ईंधन प्रदान करेगी:

ए. कोविड-19 मरीजों को (सर्विस सिर्फ कोविड-19 रोगियों के लिए उपयोग किए जाने वाले वाहन के लिए और सरकारी एजेंसियों द्वारा प्रदान की गई सूची के अनुसार, महामारी और अलगाव की सुविधाओं के लिए और महामारी से कुशल प्रभाव और वापसी के बाद के अंत को सुनिश्चित करने के लिए प्रदान की जाती है)।
बी.सरकारी एजेंसियों द्वारा प्रदान की गई सूचियों के आधार पर लोगों को क्वारेंटाइन करने के लिए सहयोग करना।

जी: रिलायंस रिटेल:

देश भर में रिलायंस रिटेल के सभी 736 किराना स्टोर स्टेपल, फल और सब्जियां, रोटी, नाश्ता अनाज और दैनिक उपयोग की अन्य वस्तुओं सहित आवश्यक वस्तुओं की पर्याप्त आपूर्ति सुनिश्चित करेंगे, ताकि नागरिकों को स्टॉक की आवश्यकता न हो।
ए. ग्रॉसरी स्टोर्स को लंबे समय तक खोलने के लिए – सुबह 7 से 11 बजे तक – जहां भी संभव हो।

बी. सभी दुकानों में सब्जियों, स्टेपल और दैनिक आवश्यकताओं जैसे आवश्यक सामान रखे जाते हैं और यह सुनिश्चित करेंगे कि कोई कमी न हो।

सी.स्टोरफ्रंट से ऑर्डर और पिक-अप को सक्रिय करना ताकि उपभोक्ता और स्टोर स्टाफ वायरस के एक्सपोजर में ना आएं। यह स्टोर में लोगों की कम संख्या भी सुनिश्चित करेगा।
डी. वरिष्ठ नागरिकों के लिए घर से ऑर्डर लेना और सामान की घर पर ही डिलीवरी।

ई. पूर्ण लॉकडाउन के दौरान अपने ग्राहकों के घर के करीब कुछ क्षेत्रों में जरूरी सामान प्रदान करने वाले वाहनों को पहुंचाना।

यह भी पढ़ें…वर्क फ्रॉम होम: Jio लाया दमदार प्लान, तेज स्पीड के साथ मिलेगा 2GB डेटा

एफ. रिलायंस रिटेल आउटलेट्स में सरकार द्वारा घोषित दरों पर स्वच्छता उत्पाद और सैनिटाइजर प्रदान किए जा रहे हैं।

जी. ईंधन की कमी नहीं है, यह सुनिश्चित करने के लिए सभी पेट्रो रिटेल आउटलेट ग्राहकों के लिए खुले रहेंगे।

एच.सभी स्टोर कर्मचारी मास्क के साथ पर्याप्त रूप से प्रशिक्षित और सुरक्षित हैं और एक सख्त स्वच्छता प्रक्रिया का पालन करते हैं।
आई. हम हम अपनी वेबसाइट www.Reliancedigital.in पर अपने सभी उपभोक्ताओं के लिए ‘वर्क फ्रॉम होम’ समाधान प्रदान कर रहे हैं।

एच. कर्मचारी सहायता पहल:

कर्मचारियों का हमारा रिलायंस परिवार हमारी ताकत और हमारे विश्वास का स्रोत है जो प्रभावी रूप से और निरंतर विकसित हो रहे कोरोनोवायरस चुनौती का जवाब देने में सक्षम है।

आरआईएल ने यह सुनिश्चित करने के लिए सभी बाधाओं को दूर कर दिया है ताकि हमारे कर्मचारी इस संकट से सुरक्षित और सुरक्षित रहें:

ए. आरआईएल अनुबंध और अस्थायी श्रमिकों को भुगतान करना जारी रखेगा, भले ही इस संकट के कारण काम रुक गया हो।

बी. 30,000 रुपए प्रति माह से कम आय वालों के लिए, वेतन को महीने में दो बार दिया जाएगा ताकि उनको नकदी की समस्या पेश ना आए और उन पर किसी भी तरह का भारी वित्तीय बोझ ना आए।

सी. आरआईएल ने अपने अधिकांश कर्मचारियों को अपने वर्क-फ्रॉम-होम प्लेटफॉर्म पर काम करने की सुविधा प्रदान की है, जो कि लगभग 40 करोड़ ग्राहकों के लिए जियो नेटवर्क को बनाए रखने और दैनिक उपभोग के अन्य आवश्यक वस्तुओं, ईंधन, किराने और अन्य आवश्यक वस्तुओं की निर्बाध आपूर्ति प्रदान करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे हैं।