‘अम्फान’ के बाद आ रही ये बड़ी तबाही! देश के इन राज्यों में अलर्ट जारी

साल 2020 में एक तरफ कोरोना महामारी चल रही है तो दूसरी तरफ कई दूसरी आपदाएं भी जारी हैं। हाल ही में आए अम्फान तूफान ने तबाही मचायी अब उसके बाद एक और तूफान निसारगा आने वाला है।

नई दिल्ली: साल 2020 में एक तरफ कोरोना महामारी चल रही है तो दूसरी तरफ कई दूसरी आपदाएं भी जारी हैं। हाल ही में आए अम्फान तूफान ने तबाही मचायी अब उसके बाद एक और तूफान निसारगा आने वाला है। यह पूर्वी नहीं बल्कि पश्चिमी तट पर आने वाला है। मौसम विभाग ने सोमवार को इसकी चेतावनी दी। विभाग का कहना है कि तीन जून को यह चक्रवाती तूफान महाराष्ट्र के रायगढ़ में हरिहरेश्वर और दमन के बीच से उत्तर महाराष्ट्र और दक्षिण गुजरात के तटों को पार करेगा।

ये भी पढ़ेंः पाकिस्तान का हाल बुरा: आतंकियों के नीच इरादे हुए फेल, सेना ने सिखाया सबक

यहां होगा केंद्र

भारतीय मौसम विभाग के वैज्ञानिक आनंद कुमार दास के मुताबिक, निसारगा का केंद्र कुछ इस तरह रहेगा। यह पणजी से करीब 370 किलोमीटर दक्षिण-पश्चिम में, सूरत से 920 किलोमीटर दक्षिण-दक्षिण-पश्चिम में और मुंबई से 690 किलोमीटर दक्षिण-दक्षिण पश्चिम में स्थित है।

ये भी पढ़ेंः ट्रंप का खास ‘बंकर’, जिसका न्यूक्लियर बम भी कुछ नहीं बिगाड़ सकता, सुविधाएं ऐसी…

आनंद दास ने बताया कि इसके दो जून की सुबह तक उत्तर की ओर बढ़ने फिर उत्तर-उत्तर-पूर्व की ओर बढ़ने के बाद हरिहरेश्वर और दमन के बीच उत्तर महाराष्ट्र और दक्षिण गुजरात के तटों से तीन जून की शाम या रात तक टकराने की बहुत ज्यादा संभावना है। हरिहरेश्वर शहर मुंबई और पुणे दोनों से 200 किलोमीटर की दूरी पर है। दमन से 360 किलोमीटर दूर है।

ये भी पढ़ें: देश भर में बिजली कर्मियों का विरोध, काली पट्टी बांध कर किया प्रदर्शन

कुछ यूं बनाएगा भूमिका

वैज्ञानिकों के अनुसार, दक्षिण-पूर्व और इससे सटे पूर्व-मध्य अरब सागर और लक्षद्वीप एरिया में कम दबाव वाला एरिया सोमवार तड़के एक डिप्रेशन में बदल गया है। यह डिप्रेशन सोमवार शाम तक गहरे डिप्रेशन में बदलने की संभावना है। यह आगे और भी उग्र रूप धारण कर लेगा और दो जून को सुबह के समय चक्रवाती तूफान में बदल जाएगा। फिर तीन की शाम या रात तक एक गंभीर चक्रवाती तूफान में बदल जाएगा।

ये भी पढ़ेंः चीनी घुसपैठ बढ़ीः इन चोर रास्तों के जरिये भारत में कुंडली मारकर बैठा

करीब 24 घंटे रहेगा प्रभाव में

इसके एक भयंकर चक्रवाती तूफान में बदलने पर हवा की गति 105 से 115 किमी प्रति घंटा होगी। वहीं, तीन की सुबह 5.30 बजे 125 किलोमीटर प्रति घंटा तक पहुंच जाएगी। आईएमडी के मुताबिक, इस चक्रवात के कमजोर पड़ने की संभावना चार जून को शाम 5.30 बजे तक है। तब हवा की गति 60 से 70 किमी प्रति घंटा तक रह जाएगी। चक्रवात के दौरान प्रभावित इलाकों में बारिश भी होने की संभावना है।

ये भी पढ़ेंः कहां है विकास: गांव में बिना खंबे लगे आया बिजली का बिल, बहुत बुरा है हाल