×

डॉक्टरों से मकान खाली कराने वालों की अब खैर नहीं, शाह ने दिए कड़ी कार्रवाई के निर्देश

कोरोना मरीजों का इलाज कर रहे डॉक्टरों को परेशान करने वाले मकान मालिकों की अब खैर नहीं। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने दिल्ली के पुलिस आयुक्त को उन मकान मालिकों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं जो कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों का इलाज करने वाले डॉक्टरों और नर्सों से मकान खाली करने को कह रहे हैं।

Shivani Awasthi
Updated on: 25 March 2020 2:33 AM GMT
डॉक्टरों से मकान खाली कराने वालों की अब खैर नहीं, शाह ने दिए कड़ी कार्रवाई के निर्देश
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

अंशुमान तिवारी

नई दिल्ली: कोरोना मरीजों का इलाज कर रहे डॉक्टरों को परेशान करने वाले मकान मालिकों की अब खैर नहीं। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने दिल्ली के पुलिस आयुक्त को उन मकान मालिकों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं जो कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों का इलाज करने वाले डॉक्टरों और नर्सों से मकान खाली करने को कह रहे हैं।

एम्स के रेजीडेंट डॉक्टर एसोसिएशन ने गृह मंत्री से की थी शिकायत

गृह मंत्री अमित शाह ने डॉक्टरों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए दिल्ली के पुलिस कमिश्नर से फोन पर बातचीत की। एम्स के रेजीडेंट डॉक्टर एसोसिएशन ने इस बाबत गृह मंत्री को पत्र लिखकर शिकायत दर्ज कराई थी। इस पत्र में बताया गया था कि कोरोना से संक्रमित मरीजों का इलाज करने वाले डॉक्टरों और नर्सों को मकान मालिक घरों से निकाल रहे हैं।

ये भी पढ़ें: कोरोना वायरस से 11वीं मौत, मरीजों का आंकड़ा हुआ 560

डॉक्टरों की ओर से यह शिकायत मिलने के बाद गृह मंत्री ने दिल्ली के पुलिस आयुक्त से बातचीत की। गृह मंत्री ने पुलिस आयुक्त से कहा कि ऐसे मकान मालिकों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जानी चाहिए जो डॉक्टरों और नर्सों से जबरन मकान खाली करवा रहे हैं।

ये भी पढ़ें: लॉकडाउन: यहां सीएम ने दी चेतावनी, आदेश का पालन नहीं तो देंगे गोली मारने…

मालूम हो कि एम्स के रेजीडेंट डॉक्टर एसोसिएशन ने गृह मंत्री अमित शाह को पत्र लिखकर कहा था कि लोग अपने घरों से हेल्थ केयर प्रमोशन से जुड़े लोगों को निकाल रहे हैं। इस पत्र में एसोसिएशन ने डाक्टरों के हित में जल्द से जल्द कदम उठाने की मांग की थी।एम्स के रेजीडेंट डॉक्टर एसोसिएशन के महासचिव डॉ श्रीनिवास राजकुमार की ओर से गृह मंत्री अमित शाह को यह पत्र लिखा गया था।

पत्र में कहा गया है कि डॉक्टर नर्स और अस्पताल के अन्य कर्मचारी जिन घरों में रह रहे हैं वहां के मकान मालिक उन्हें संदेह की नजर से देखते हुए उनसे तमाम सवाल कर रहे हैं। कोरोना वायरस के संक्रमण के डर से डॉक्टरों, नर्सों और अन्य स्टाफ को मकान खाली करने की धमकी दी जा रही है।

ये भी पढ़ें:21 दिन का लॉकडाउन: घबराएं नहीं, सरकार देगी आपको ये सुविधाएं

डॉ राजकुमार ने अपने पत्र में यह भी लिखा था कि इनमें से कुछ लोगों को जबरदस्ती घर से निकाला भी जा चुका है। इस कारण उनके पास रहने का कोई ठिकाना नहीं रह गया है।उन्होंने मकान मालिकों के इस कदम की निंदा करते हुए गृह मंत्री से मांग की है कि जल्द से जल्द कोई आदेश पारित किया जाए ताकि मकान मालिकों को ऐसे कदम उठाने से रोका जा सके।

ये भी पढ़ें: लॉक डाउन पर जेल: इन राज्यों में घर से निकलने पर मिलेगी कड़ी सजा

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी मकान मालिकों के इस कदम की निंदा की है। केजरीवाल ने ट्वीट करके कहा कि यह डॉक्टर अपनी जान जोखिम में डालकर हमारी जान बचा रहे हैं। यह डॉक्टर किसी देवदूत से कम नहीं है और इसलिए मकान मालिकों को ऐसे कदम उठाने से परहेज करना चाहिए। केजरीवाल ने कहा कि मकान मालिकों का यह कदम पूरी तरह गलत है। उन्होंने कहा कि भगवान ना करे लेकिन कल अगर मकान मालिकों के परिवार का कोई सदस्य कोरोना से संक्रमित हो गया तो यही डॉक्टर उनकी जान बच आएंगे।

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shivani Awasthi

Shivani Awasthi

Next Story