×

भूकंप से हिली धरती: बार-बार आ रहे ऐसे भयानक झटके, खौफ में आए लोग

मंगलवार को उत्तर प्रदेश, हिमाचल प्रदेश और अरुणाचल प्रदेश में भूकंप के झटके महसूस किए गए।

Shreya
Updated on: 7 July 2020 10:32 AM GMT
भूकंप से हिली धरती: बार-बार आ रहे ऐसे भयानक झटके, खौफ में आए लोग
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

नई दिल्ली: भारत के कई राज्यों और क्षेत्रों में लगातार भूकंप के झटके महसूस किए जा रहे हैं। इस कड़ी में मंगलवार को उत्तर प्रदेश, हिमाचल प्रदेश और अरुणाचल प्रदेश में भूकंप के झटके महसूस किए गए। हालांकि इस दौरान भूंकप की तीव्रता कम मापी गयी। इस प्राकृतिक आपदा में किसी के भी हताहत होने की खबर नहीं है।

अरुणांचल में देर रात महसूस किए गए भूकंप के झटके

अरुणांचल के तवांग में देर रात भूकंप के झटके महसूस गए। जिसकी तीव्रता 3.4 तीव्रता मापी गई। भूंकप के झटके रात 1 बजकर 33 मिनट के करीब महसूस किए गए थे। इसकी जानकारी नेशनल सेंटर फॉर सीस्मोलॉजी ने दी। इसके अलावा मंगलवार को हिमाचल प्रदेश के किन्नौर में भी 3.2 तीव्रता का भूंकप आया। इस प्राकृतिक आपदा में किसी के भी जानमाल का नुकसान नहीं हुआ है।

हिमाचल में रात एक बजकर तीन मिनट पर भूंकप के झटके महसूस किए गए। भूकंप का केंद्र किन्नौर के पूर्वोत्तर इलाके में सात किलोमीटर धरती के नीचे था।

यह भी पढ़ें: शौकीन विकास दुबे: खुद को किसी हीरो से कम नहीं मानता था, जीता था ऐसी लाइफ

UP में 5.0 तीव्रता पर आया भूकंप

इसके अलावा उत्तर प्रदेश में भी भूकंप के झटके महसूस किए गए। यूपी के फतेहपुर में मंगलवार को भूंकप के झटके महसूस किए गए, जिसकी तीव्रता 5.0 रही। नैशनल सेंटर फॉर सिसमॉलजी के मुताबिक, भूकंप का केंद्र उत्तर प्रदेश की राजधानी से 59 किलोमीटर उत्तर-पूर्वोत्तर में धरती के 5 किमी नीचे रहा। यहां पर भूकंप के झटके सुबह नौ बजकर 55 मिनट पर महसूस किए गए।

यह भी पढ़ें: चीन नहीं हटा पीछेः इसमें है गहरी साजिश, जो लाएगी बर्बादी ही बर्बादी

बीते दो महीनों में 14 बार से अधिक आया भूकंप

बता दें कि भारत के अलग-अलग हिस्सों में बीते कई दिनों से भूकंप के झटके महसूस किए जा रहे हैं। बीते दो महीने में दिल्ली समेत पूरे उत्तर भारत में 14 बार भूकंप आया। केंद्रीय पृथ्वी एवं विज्ञान मंत्रालय के मुताबिक, इन भूकंप की तीव्रता काफी कम रही। हालांकि लगातार आ कांप रही धरती को भूकंप पर शोध करने वाले बड़े खतरे की आहट मान रहे हैं।

यह भी पढ़ें: महिलाएं हुई बेहाल: सुरक्षा कानूनों के तहत कोई सुरक्षा नहीं, काम पर पड़ा बुरा प्रभाव

भूकंप एक्सपर्ट्स ने किया आगाह

भूकंप एक्सपर्ट्स का कहना है कि भूकंप को लेकर कोई पूर्वानुमान नहीं हो सकता, लेकिन इन झटकों के पीछे तीन स्थितियां बन रही हैं। एक तो इस तरह के छोटे झटके लगातार आएंगे और फिर स्थिति सामान्य हो जाएगी। दूसरा ये कि इन छोटे झटकों के बाद एक बड़ा भूकंप आए, लेकिन इस स्थिति में आम तौर पर 5-7 झटकों के बाद बड़ा भूकंप आ जाता है।

यह भी पढ़ें: राहुल ने किया पीएम मोदी से तीन सवाल, 20 निहत्थे जवानों की हत्या क्यों हुई

तीसरी स्थिति यह मानी जा रही है कि दिल्ली-NCR में आ रहे भूकंप किसी दूर के इलाके में आने वाले बड़े भूकंप का संकेत हों। इसे लेकर भारतीय मौसम विभाग के भूकंप रिस्क असेसमेंट सेंटर ने चेताया है कि कि दिल्ली-NCR में बिल्डिंग्स के मानक में जल्द से जल्द बदलाव किया जाना चाहिए।

यह भी पढ़ें: चीन पर शुरू ऑपरेशन: भारत की ताकत से पगलाया ड्रैगन, ऐसे राखी जा रही नजर

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shreya

Shreya

Next Story