बदला HRD का नाम: मोदी कैबिनेट में इन प्रस्ताव पर लगी मुहर, इसको भी मंजूरी

मोदी कैबिनेट की बैठक में मानव संसाधन विकास मंत्रालय (MHRD) का नाम बदल दिया गया है, जिसके बाद इस मंत्रालय का नाम शिक्षा मंत्रालय हो गया है।

Published by Shreya Published: July 29, 2020 | 1:24 pm
Modified: July 29, 2020 | 1:38 pm
Modi cabinet meeting

Modi cabinet meeting

नई दिल्ली: मोदी कैबिनेट की बैठक (Modi cabinet meeting) में मानव संसाधन विकास मंत्रालय (MHRD) का नाम बदल दिया गया है, जिसके बाद इस मंत्रालय का नाम शिक्षा मंत्रालय हो गया है। इसके अलावा बैठक के दौरान मोदी कैबिनेट की तरफ से नई शिक्षा नीति को भी हरी झंडी दे दी गई है। सरकार की तरफ से इससे संबंधित विस्तृत जानकारी शाम 4 बजे होने वाली कैबिनेट ब्रीफिंग में दी जाएगी।

यह भी पढ़ें: सुशांत की GF को जेल: पटना पुलिस पहुंची मुंबई, ले सकती है ट्रांजिट रिमांड पर

मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने दिया था ये प्रस्ताव

बता दें कि मानव संसाधन विकास मंत्रालय द्वारा मंत्रालय का मौजूदा नाम बदलकर शिक्षा मंत्रालय करने का प्रस्ताव दिया गया था, जिस पर मोदी सरकार ने मुहर लगा दी है। इसके साथ ही कैबिनेट ने नई शिक्षा नीति को भी मंजूरी दे दी है। जिसके बाद से अब पूरे उच्च शिक्षा क्षेत्र के लिए एक ही रेगुलेटरी बॉडी (Regulatory body) होगी। जिससे शिक्षा क्षेत्र में अव्यवस्था खत्म हो सके।

यह भी पढ़ें: राफेल पर बड़ी खबर: अंबाला नहीं बल्कि यहां होगी लैंडिग, इसलिए हुआ फेरबदल

शिक्षा मंत्रालय ने उच्च शिक्षा के लिए तय की एक ही रेगुलेटरी बॉडी

शिक्षा मंत्रालय ने उच्च शिक्षा (Higher education) के लिए एक ही रेगुलेटरी बॉडी नेशनल हायर एजुकेशन रेगुलेटरी अथॉरिटी (NHERA) या हायर एजुकेशन कमिशन ऑफ इंडिया तय किया है। मोदी सरकार का मानना है कि दुनिया में भारत को ज्ञान का सुपरपावर बनाने के लिए शिक्षा के क्षेत्र में बड़े स्तर पर बदलाव करने की आवश्यकता है। इसके लिए सभी को अच्छी क्वालिटी की शिक्षा दिए जाने की जरूरत है ताकि एक प्रगतिशील और गतिमान समाज बनाया जा सके।

यह भी पढ़ें: WHO का बड़ा बयान: की भारत की तारीफ, कोरोना वैक्सीन पर कही ये बड़ी बात

नए राष्ट्रीय पाठ्यक्रम का फ्रेमवर्क तैयार करने पर जोर

शिक्षा मंत्रालय का एक नए राष्ट्रीय पाठ्यक्रम का फ्रेमवर्क तैयार करने पर जोर है, ताकि प्राथमिक स्तर पर दी जाने वाली शिक्षा की क्वालिटी सुधारी जा सके। इस फ्रेमवर्क में 21वीं सदी के कौशल, अलग-अलग भाषाओं के ज्ञान, कोर्स में खेल, कला और वातारण से जुड़े टॉपिक भी शामिल किए जाने का प्लान है।

यह भी पढ़ें: बड़ी कामयाबी: आतंकियों की साजिश हुई नाकाम, सीमा पर कई दुश्मन हुए ढेर

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App