रबी फसलों पर MSP की बढ़ोतरी को मंजूरी, तोमर ने बताई नई कीमत

संसद के मॉनसून सत्र का आज आठवां दिन है। राज्यसभा में कृषि विधेयक पास होने के बाद काफी हंगामा हुआ था। सभापति ने हंगामा करने वाले सांसदों को निलंबित कर दिया है।

Published by Shivani Awasthi Published: September 21, 2020 | 9:57 am
Modified: September 21, 2020 | 7:55 pm

मॉनसून सत्र का आठवां दिन (photo Social media)

नई दिल्ली: संसद के मॉनसून सत्र का आज आठवां दिन है। बीते दिन राज्यसभा में कृषि विधेयक पास होने के बाद काफी हंगामा हुआ था, माइक तक तोड़ दिए गए। जिसके बाद आज विपक्षी सांसदों के हंगामे का मुद्दा संसद में उठा। सभापति ने हंगामा करने वाले सांसदों के खिलाफ कार्रवाई करते हुए उन्हें निलंबित कर दिया है। इसके अलावा विपक्ष के सांसदों ने उपसभापति के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाया है।

Monsoon Session Live

पंजाब के सांसदों ने किया वॉकआउट

पंजाब के कांग्रेस सांसद लोकसभा में कृषि मंत्री के बयान से असंतुष्ट दिखे। वह पेपर पढ़कर फेंके और बिल को किसान विरोधी बताया और वॉकआउट कर गए।

रबी फसलों पर MSP की बढ़ोतरी को मंजूरी

कृषि बिल के विरोध के बीच रबी फसलों पर MSP की बढ़ोतरी को मंजूरी मिल गई है। कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने लोकसभा में नई कीमत बताई है। गेहूं-50 रुपये की बढ़ोतरी, चना -225 रुपये  की बढ़ोतरी, मसूर-300 रुपये की बढ़ोतरी, सरसो-225 रुपये  की बढ़ोतरी, जौ- 75 रुपये  की बढ़ोतरी और कुसुम्भ-112 रुपये  की बढ़ोतरी हुई है।

ये भी पढ़ेंः जेल में महामारी: बंदियों के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने से मचा हड़कंप

विदेशी अभिदाय संशोधन विधेयक लोकसभा से पास

विदेशी अभिदाय संशोधन विधेयक लोकसभा से पास हो गया है।

सुप्रिया सुले का सत्यपाल सिंह से सवाल

एनसीपी की सुप्रिया सुले ने कहा कि महाराष्ट्र से रिटायर हुए पुलिसकर्मी के तौर पर उन्होंने (सत्यपाल सिंह) क्या उदाहरण पेश किया है कि एक एनजीओ ने अच्छा काम नहीं किया? अगर वह पुलिस कमिश्नर थे तो उन्होंने क्या कार्रवाई की।

ये भी पढ़ेंः हैवान बना नशेड़ी पति: ली अपनी पत्नी की जान, फिर शव गोद में रखकर रोया

उत्तर-पूर्व में एक विशेष धर्म तेजी से बढ़ा: बीजेपी सांसद

बीजेपी सांसद सत्यपाल सिंह ने कहा कि उत्तर-पूर्व में क्या हुआ ये सबको पता है। पिछले 50 सालों में चीजें कैसे बदलीं और एक विशेष धर्म तेजी से बढ़ा। सरकारी और खुफिया रिपोर्ट है कि FCRA के पैसों से वहां कैसे उग्रवाद बढ़ा। ग्राहम स्टेन्स के मुद्दे पर हंगामा हुआ। उसके और उसके 2 बच्चों के साथ गलत हुआ, लेकिन सीबीआई, ओडिशा क्राइम ब्रांच और जस्टिस डीपी वाधवा कमीशन की रिपोर्ट के अनुसर आदिवासियों का वहां धर्मांतरण कराया जा रहा था। ये एक बड़ी वजह थी कि लोग उसके खिलाफ हुए।

कृषि बिल को लेकर राष्ट्रपति से मिलने पहुंचे शिरोमणि अकाली दल के सांसद

शिरोमणि अकाली दल के सांसद राष्ट्रपति कोविंद से मुलाकात करने पहुंचे हैं। वे कृषि बिल को लेकर राष्ट्रपति से मिलने पहुंचे हैं।

कल 4 अहम बिल हुए पास

लोकसभा के स्पीकर ओम बिरला ने ट्वीट किया कि लोकसभा ने माननीय सदस्यों के सहयोग से कल 219% की उत्पादकता दर्ज की और राष्ट्रीय महत्व के 4 बिल पारित किए गए। मैं लोगों और देश के हित में इस तरह के और अधिक उत्पादक बैठकों के लिए तत्पर हूं।

ये भी पढ़ेंः कृषि बिल से तिलमिलाए किसान, इस दिन करेंगे देशव्यापी प्रदर्शन

विदेशी अभिदाय संशोधन विधेयक, 2020 पेश

लोकसभा में विदेशी अभिदाय संशोधन विधेयक, 2020 को पेश किया गया है। गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय ने इस बिल को पेश किया है।

लोकसभा में उठा विकास दुबे के एनकाउंटर का मामला

-बहुजन समाज पार्टी के सांसद रितेश पांडे ने लोकसभा में गैंगस्टर विकास दुबे के एनकाउंटर का मामला उठाया। उन्होंने कहा कि पुलिस एनकाउंटर के रूप में न्यायिक हिरासत में हत्याएं की कई घटनाएं सामने आई हैं। ये हत्याएं सभ्य समाज के लिए खतरा हैं। और इन हत्याओं से लोगों में पुलिस का विश्वास कम हो रहा है।  इनसे हिंसा और अपराधों के वास्तविक अपराधी नहीं पकड़े जाते हैं।

-जो पकड़े जाते हैं वो खासतौर से दलित, ओबीसी और मुस्लिम समाज के लोग होते हैं। इसमें ठेले वाले और कमजोर समाज के लोग हैं। नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरों के आंकड़ों के अनुसार न्यायिक हिरासत में हत्याएं फिर से बढ़ रही हैं।  2017 में ये आंकड़ा बढ़कर 772 हो गया।

-हाल ही में गैंगस्टर विकास दुबे जैसे अपराधी को भी देश की न्यायिक प्रक्रिया से गुजरते हुए ही सजा मिलनी चाहिए थी, ताकि देश में कानून के शासन पर लोगों का विश्वास कमजोर न होता।

-मैं गृह मंत्री और कानून मंत्री से मांग करता हूं कि वो इस गंभीर समस्या को संज्ञान में लेकर देश की आपराधिक न्यायिक प्रणाली में सुधार लाने का प्रयास करें ताकि, पुलिस, जज, ज्यूरी और जल्लाद का रोल अदा करना बंद करे।

लोकसभा की कार्यवाही शुरू

लोकसभा की कार्यवाही शुरू हो गई है। कार्यवाही शुरू होने के बाद चार सांसदों को श्रद्धांजलि दी गई।

ये भी पढ़ेंः पाकिस्तान का पर्दाफाश: इमरान की असलियत आई सामने, ऐसे कंट्रोल हुआ कोरोना

राज्यसभा की कार्यवाही दो बार स्थगित

राज्यसभा की कार्यवाही को आधे घंटे के लिए फिर से स्थगित कर दिया गया है। दोबारा कार्यवाही शुरू हुई लेकिन सांसदों ने सभापति की कार्रवाई से असंतुष्ट होते हुए हंगामा किया, जिसके बाद फिर से राज्यसभा की कार्यवाही को स्थगित कर दिया गया।

निलंबित सांसद सदन में मौजूद, बाहर न जाने पर अड़े

सभापति की कार्रवाई के बाद भी निलंबित आठों सांसद सदन में मौजूद हैं। उपसभापति 8 सांसदों को सदन से बाहर जाने के लिए कहा लेकिन वे इस कार्रवाई से नाराज होकर हंगामा करने लगे और सदन से बाहर न जाने पर अड़ गए।

उपसभापति के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव खारिज

राज्यसभा में हुए हंगामे के बाद उप-सभापति के ​खिलाफ विपक्ष की ओर से अविश्वास प्रस्ताव लाया गया था, जिसके आज सभापति वेंकैया नायडू ने खारिज कर दिया है। सभापति वेंकैया नायडू ने ये कहते हुए अविश्वास प्रस्ताव को खारिज किया कि यह उचित प्रारूप में नहीं है।

ये भी पढ़ेंः हट गईं पाबंदियां: आज से मिलेगी Unlock 4 में ये छूट, लोगों को बड़ी राहत

राज्यसभा में हंगामा करने वाले 8 सांसद निलंबित

हंगामा करने वाले विपक्षी दलों के सांसदों को निलंबित कर दिया गया है। 8 सांसदों को बचे हुए सत्र के लिए निलंबित किया गया है। निलंबित होने वाले सांसदों में डेरेक ओ ब्रायन, संजय सिंह, रिपुन बोरा, नजीर हुसैन, केके रागेश, ए करीम, राजीव साटव, डोला सेन हैं।

parliament-monsoon-session-day 8 Loksabha rajyaSabha

सभापति ने बताया कल का दिन राज्यसभा के लिए सबसे खराब

आज राज्यसभा के सभापति ने सदन की कार्यवाही शुरू होने के बाद कहा कि कल राज्यसभा के लिए सबसे खराब दिन था। कुछ सांसदों ने पेपर को फेंका। माइक को तोड़ दिया। रूल बुक को फेंका गया। इस घटना से मैं बेहद दुखी हूं। उपसभापति को धमकी दी गई। उनपर आपत्तिजनक टिप्पणी की गई।

ये भी पढ़ेंः राज्यसभा में कृषि विधेयकों पर हंगामा, राजनाथ सिंह बोले- जो हुआ वो शर्मनाक था

Rajyasabha Hangama

राज्यसभा की कार्यवाही शुरू

राज्यसभा में रविवार को भारी हंगामे और शोर-शराबे के बीच कृषि सुधार से जुड़े दो विधेयकों को ध्वनिमत से मंजूरी मिल गई। हालांकि इस दौरान विपक्ष की ओर से इतना जमकर हंगामा किया गया कि उच्च सदन की सारी मर्यादा तार-तार हो गई। राज्यसभा की कार्यवाही शुरू हुई है। इसी बीच संसदीय कार्य मंत्रालय हंगामे करने वाले सांसदों के खिलाफ आज निलंबन प्रस्ताव ला सकता है।

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App