पीएम मोदी ने राष्ट्र किया छठी बार संबोधित, ईमानदार टैक्स पेयर की तारीफ़ की

पीएम मोदी का यह संबोधन ऐसे समय में हो रहा है जब लद्दाख की गलवान घाटी में 15 जून को 20 भारतीय जवानों के शहीद होने के बाद भारत और चीन के बीच तनाव चरम पर है।

Published by SK Gautam Published: June 30, 2020 | 3:01 pm
Modified: June 30, 2020 | 4:38 pm

नई दिल्ली: इस समय देश कोरोना संकट और भारत-चीन सीमा विवाद से गुजर रहा है। जब-जब देश पर संकट की स्थिति आती है तो देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उस स्थिति से पूरे देश को अवगत कराते हैं। देश की जनता को उस संकट से निपटने के लिए एक नयी उर्जा मिलती है। जोकि एक देश के अच्छी बात है। इसी क्रम में आज शाम 4 बजे पीएम मोदी देश को संबोधित किया।

 संबोधन में इन मुद्दों पर कर सकते हैं बात

बता दें कि पीएम मोदी का यह संबोधन ऐसे समय में हो रहा है जब लद्दाख की गलवान घाटी में 15 जून को 20 भारतीय जवानों के शहीद होने के बाद भारत और चीन के बीच तनाव चरम पर है। साथ ही यह संबोधन ऐसे समय भी हो रहा है जब देश कोविड-19 महामारी के रोज बढ़ते मामलों के बीच लॉकडाउन में ढील के ‘अनलॉक-2’ में प्रवेश करने जा रहा है जिसके लिए केंद्रीय गृह मंत्रालय ने सोमवार रात दिशा-निर्देश जारी किए।


 Live Update

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्र के नाम अपने संबोधन में कहा कि कोरोना महामारी के खिलाफ लड़ते-लड़ते हम अनलॉक-2 में प्रवेश कर रहे हैं। साथ ही हम उस मौसम में भी प्रवेश कर रहे हैं जिसमें सर्दी, जुकाम बढ़ जाते हैं, इसलिए आप सबसे अपील है कि खुद का ख्याल रखें। कोरोना से होने वाली मौत की दर देखें तो दुनियाभर के देशों की तुलना में भारत बेहतर स्थिति में है।यह समय पर लिए गए लॉकडाउन के फैसले के कारण हुआ है।

कोरोना वायरस के मुद्दे पर जनता से की बात

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी देश को संबोधित कर रहे हैं। सबसे पहले उन्होंने कोरोना वायरस के मुद्दे पर जनता से बात की । उन्होंने कहा कि पहले हम हाथ धोने और सामाजिक दूरी को बनाए रखने, मास्क पहनने को लेकर काफी सतर्क थे लेकिन अब इसमें लापरवाही देखी जा रही है। हमें सतर्कता बरतनी होगी।

ये भी देखें: मामूली विवाद में 40 लोगों ने पीट पीटकर नौ लोगों को किया अधमरा

पीएम मोदी ने कहा कि एक देश के प्रधानमंत्री पर 13000 हजार रुपये का जुर्माना इसलिए लग गया क्योंकि उन्होंने मास्क नहीं पहना था। भारत में गांव का प्रधान हो या फिर देश का प्रधान मंत्री कोई भी नियमों से ऊपर नहीं।

पूरे भारत के लिए एक राशन कार्ड

पीएम मोदी ने कहा कि पूरे भारत के लिए एक राशन-कार्ड की व्यवस्था भी हो रही है। यानि एक राष्ट्र-एक राशन कार्ड। इसका सबसे बड़ा लाभ उन गरीब साथियों को मिलेगा, जो रोज़गार या दूसरी आवश्यकताओं के लिए अपना गांव छोड़कर के कहीं और जाते हैं।

उन्होंने कहा, ‘आज गरीब को, ज़रूरतमंद को, सरकार अगर मुफ्त अनाज दे पा रही है तो इसका श्रेय प्रमुख रूप से दो वर्गों को जाता है। पहला- हमारे देश के मेहनती किसान, हमारे अन्नदाता को और दूसरा- हमारे देश के ईमानदार टैक्सपेयर को।’

पीएम ने कहा, ‘आने वाले समय में हम अपने प्रयासों को और तेज करेंगे। हम गरीब, पीड़ित, शोषित, वंचित हर किसी को सशक्त करने के लिए निरंतर काम करेंगे। हुए आर्थिक गतिविधियों को और आगे बढ़ाएंगे।’

ये भी देखें:जानिये इसलिए फैल रहा है कोरोना, पब में जाने वाले 95 पॉजिटिव

टैक्स चुकाने वालों की तारीफ़

समय से टेक्स देने वालों पीएम मोदी ने किया धन्यवाद। जिनके कारण देश कोरोना संकट से लड़ सका। जिनकी वजह से देश की अर्थव्यवस्था को ज्यादा नुकसान नहीं हुआ ।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज के संबोधन में केवल कोरोना महामारी को लेकर बात की । कोरोना महामारी के दौरान देश की अर्थव्यवस्था में    समय से टेक्स चुकाने वाले ईमानदार टेक्स पेयरों की तारीफ की ।


 

 

देश के नाम पीएम मोदी का यह छठा संबोधन

प्रधानमंत्री कार्यालय ने सोमवार रात को ट्वीट कर बताया कि ‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कल (मंगलवार) शाम चार बजे राष्ट्र को संबोधित करेंगे।’ बता दें कि देश में कोविड-19 के प्रकोप के बीच प्रधानमंत्री का राष्ट्र के नाम यह छठा संबोधन होगा। इससे पहले अलग-अलग मौकों पर पीएम मोदी 5 बार कोरोना काल में देश की जनता को संबोधित कर चुके हैं।

ये भी देखें: अनलॉक-2 में बढ़ा यूपीः योगी ने लिया ये बड़ा फैसला, तुरंत शुरू करने के निर्देश

कोरोना काल में 5 बार मोदी का संबोधन

1-19 मार्च- जनता कर्फ्यू का ऐलान

2-24 मार्च- 21 दिन के लॉकडाउन का ऐलान

3-03 अप्रैल- दीप जलाने की अपील

4-14 अप्रैल- लॉकडाउन-2 की घोषणा

5-12 मई – लॉकडाउन 4 का ऐलान

गृहमंत्री अमित शाह ने की ये अपील

पीएम मोदी के इस संबोधन को लेकर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने भी एक ट्वीट किया। उन्होंने अपने ट्वीट में जनता से 4 बजे पीएम मोदी का संबोधन सुनने की अपील की है। अमित शाह ने लिखा, ‘महत्वपूर्ण, मैं सभी अपील करता हूं कि आप सभी शाम 4 बजे पीएम मोदी के संबोधन को जरूर सुनें।’

एलएसी पर कोई प्लान पेश कर सकते हैं

भारत-चीन सीमा पर चल रहे तनाव के बीच प्रधानमंत्री मोदी के इस संबोधन को लेकर लोगों में और उत्सुकता है। ऐसे में सवाल है कि प्रधानमंत्री देश के नाम संबोधन देंगे तो किस मुद्दे पर बोलेंगे। उनकी प्राथमिकता क्या होगी। एलएसी पर लगातार गुस्ताखी कर रहे चीन को रास्ते पर लाने के लिए मोदी कोई प्लान पेश करेंगे।

ये भी देखें: चीन पर दूसरे वार की तैयारीः चीन की ये कंपनी 5जी की रेस से हो सकती है बाहर

चीनी कंपनियों के टेंडर पर भी कुछ बोल सकते हैं

ये सवाल इसलिए उठ रहा है क्योंकि पीएम के संबोधन से एक दिन पहले ही भारत सरकार ने बहुत बड़ा फैसला किया है। भारत ने चीन के 59 ऐप्स पर बैन लगा दिया है। आज के संबोधन में क्या प्रधानमंत्री मोदी चीनी कंपनियों के टेंडर पर भी कुछ बोल सकते हैं। क्योंकि 15 जून को एलएसी पर हिंसक झड़प में भारत के जवानों की शहादत के बाद कई चीनी कंपनियों के टेंडर रद्द करने का फैसला किया गया है।

अनलॉक -2 लागू के लागू होने पर भी कर सकते हैं बात

वहीं, 1 जुलाई से देश में अनलॉक -2 लागू हो रहा है। ऐसे में कई लोग ये भी सोच रहे हैं कि क्या पीएम मोदी इस बारे में कुछ बोलेंगे। क्या कुछ नया ऐलान कर सकते हैं। मोदी ने पिछली बार देश को 12 मई को संबोधित किया था जब उन्होंने अर्थव्यवस्था को मजबूती देने के लिए 20 लाख करोड़ रुपये के वित्तीय पैकेज की घोषणा की थी।