प्रज्ञा ठाकुर की एक आंख से दिखना बंद, एम्स में भर्ती सांसद का कांग्रेस पर बड़ा हमला

भोपाल से सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर की एक आंख से दिखना बंद हो गया है और दूसरी आंख से भी धुंधला और 25 फीसदी ही दिख रहा है। यह जानकारी खुद प्रज्ञा ठाकुर ने एक वीडियो संदेश के जरिये दी है।

नई दिल्ली: भोपाल से सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर की एक आंख से दिखना बंद हो गया है और दूसरी आंख से भी धुंधला और 25 फीसदी ही दिख रहा है। यह जानकारी खुद प्रज्ञा ठाकुर ने एक वीडियो संदेश के जरिये दी है। एक दिन पहले ही भोपाल में उनके लापता होने के पोस्टर चस्पा किए गए थे जिसके बाद प्रज्ञा ठाकुर ने वीडियो संदेश के जरिए अपना स्वास्थ्य खराब होने की जानकारी दी है।

पोस्टर लगाने में कांग्रेसियों का हाथ बताया

अपने कट्टर हिंदुत्ववादी स्टैंड के कारण चर्चा में रहने वाली प्रज्ञा ठाकुर के एम्स दिल्ली में भर्ती होने की जानकारी मिली है। प्रज्ञा ठाकुर का कहना है कि उनकी आंखों की स्थिति काफी खराब है और ब्रेन से लेकर रेटीना तक सूजन और पस की शिकायत है। उन्होंने कहा कि उनका स्वास्थ्य खराब होने के कारण डॉक्टरों ने लोगों से बातचीत करने से मना कर दिया है।

यह भी पढ़ें…बंगाल, MP और पंजाब में बढ़ा लाॅकडाउन, जानिए क्या-क्या मिलेगी छूट

भोपाल में काम कर रही है मेरी टीम

उन्होंने भोपाल में अपने लापता होने के पोस्टर के पीछे कांग्रेसियों का हाथ बताया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के लोगों ने ही भोपाल में यह घृणित काम किया है। उन्होंने कहा कि लॉकडाउन के दौरान वे जरूर दिल्ली में हैं मगर उनके संसदीय क्षेत्र भोपाल में उनकी पूरी टीम लगी हुई है और लोगों की दिक्कतों का समाधान कर रही है।

बीमारियों के लिए कांग्रेस को दोषी बताया

उन्होंने कहा कि अपने क्षेत्र के लोगों की अनदेखी के कांग्रेसी नेताओं के आरोप में कोई दम नहीं है। कांग्रेसी नेताओं द्वारा अनर्गल बातें कहीं जा रही हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि आज जिन बीमारियों के कारण मुझे मुसीबतों का सामना करना पड़ रहा है, वे कांग्रेस की ही देन हैं।

यह भी पढ़ें…चीनी छात्रों पर लगी रोक: अमेरिका ने जिनपिंग को दिया झटका, किया ये बड़ा एलान

कांग्रेस शासनकाल में किया गया प्रताड़ित

सांसद प्रज्ञा ठाकुर के करीबी लोगों का कहना है कि सिर, आंख और कमर में परेशानियों के कारण उन्हें इलाज के लिए एम्स में भर्ती कराया गया है। डॉक्टरों ने उन्हें दूसरे लोगों से बातचीत करने से मना करने के साथ ही पूरी तरह आराम करने की सलाह दी है। प्रज्ञा ठाकुर के करीबी लोगों का आरोप है कि कांग्रेस सरकार के कार्यकाल के दौरान गिरफ्तारी और पूछताछ के दौरान प्रज्ञा ठाकुर को जमकर प्रताड़ित किया गया था। इसी दौरान उनके सिर और आंख में चोट आई थी और अब यह समस्या गंभीर हो गई है। उनके साथ जुल्म और ज्यादती के कारण ही सांसद को कमर दर्द की भी समस्या शुरू हो गई है।

यह भी पढ़ें…अभी-अभी लॉकडाउन 5 का एलान, 30 जून तक घर में रहना होगा बंद

मध्यप्रदेश में पोस्टर पॉलिटिक्स

मध्यप्रदेश में इन दिनों पोस्टर पॉलिटिक्स का दौर चल रहा है। गुरुवार की रात राजधानी भोपाल के कई इलाकों में सांसद प्रज्ञा ठाकुर के लापता होने के पोस्टर चस्पा किए गए थे। इस मामले में शिकायत किए जाने के बाद पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। इससे पहले छिंदवाड़ा में पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ और उनके सांसद बेटे नकुल नाथ के लापता होने के पोस्टर लगाए गए थे। कांग्रेस छोड़कर भाजपा में शामिल होने वाले दिग्गज नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया के खिलाफ भी इस तरह के पोस्टर ग्वालियर में लगाए जा चुके हैं। इस सिलसिले में एक व्यक्ति को गिरफ्तार भी किया गया है।

यह भी पढ़ें…Unlock 1.0: जानें-क्या-क्या रहेगी पाबंदी, किन सेवाओं में मिली छूट

विवादित बयान देते रहे हैं प्रज्ञा ठाकुर

सांसद प्रज्ञा ठाकुर को लेकर कांग्रेसी शुरू से ही हमलावर रुख अपनाती रही है। प्रज्ञा ठाकुर ने भोपाल में मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के दिग्गज नेता दिग्विजय सिंह को लोकसभा चुनाव में पराजित किया था। प्रज्ञा ठाकुर अपने विवादित बयानों के लिए भी जानी जाती रही हैं। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के बारे में दिए गए उनके एक बयान पर काफी हंगामा हुआ था और संसद में भी यह मामला उछला था।