Live: आलाकमान से नहीं हुई बात, गहलोत के साथ बस 84 MLA: पायलट

राजस्थान की गहलोत सरकार में सत्ता का संग्राम छिड़ चुका है। उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट खुलकर बगावत पर उतर आये हैं। आज 10.30 बजे मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के आवास पर विधायक दल की बैठक बुलाई गयी है, जिसमें सचिन पायलट ने शामिल होने से इनकार कर दिया।

जयपुर: राजस्थान की गहलोत सरकार में सत्ता का संग्राम छिड़ चुका है। उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट खुलकर बगावत पर उतर आये हैं। आज 10.30 बजे मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के आवास पर विधायक दल की बैठक बुलाई गयी है, जिसमें सचिन पायलट ने शामिल होने से इनकार कर दिया। वहीं दिल्ली से तीन नेताओं को राजस्थान कांगेस में आई फूट का समाधान निकालने के लिए भेजा गया है।

राजस्थान में सत्ता संग्राम LIVE 

गहलोत के साथ बस 84 MLA: पायलट

सचिन पायलट ने कहा है कि हमने कोई भी समझौते की शर्त नहीं रखी है, और किसी आलाकमान से उनकी बातचीत नहीं चल रही है। पायलट गुट का कहना है कि अशोक गहलोत के पास कांग्रेस के मात्र 84 विधायक हैं बाकी हमारे साथ हैं।

बीजेपी ने की फ्लोर टेस्ट की मांग

बीजेपी के अमित मालवीय ने कहा कि इस स्थिति में अशोक गहलोत को तुरंत फ्लोर टेस्ट के लिए बुलाना चाहिए। उन्हें बहुमत साबित करना चाहिए, ड्रामे से राजस्थान को बचाना होगा। शासन के काम को आगे बढ़ाना होगा। लेकिन अगर वह अपने विधायकों को रिसॉर्ट में भेज रहे हैं, तो स्पष्ट रूप से उनके पास संख्या नहीं है।

पायलट से बोला पार्टी आलाकमान- लौट आएं, बात करें

राजस्थान में अशोक गहलोत को 109 विधायकों का समर्थन हासिल है जिनमें 104 मौजूद हैं और पांच से समर्थन पत्र सौंपा है। वहीं सचिन पायलट के सपोर्ट में सिर्फ 17 विधायक हैं। फिलहाल पार्टी आलाकमान ने सचिन पायलट से कहा है कि वे लौट आएं। पार्टी ने सचिन पायलट को मैसेज भेजा है कि हमारा आप पर स्नेह है। हम आपका सम्मान करते हैं। हम खुले दिल से आपका स्वागत करने के लिए तैयार हैं। प्लीज आएं और बात करें।

पार्टी आलाकमान ने सचिन पायलट को मैसेज भेजा

पार्टी आलाकमान ने सचिन पायलट को मैसेज भेजा है कि हमारा आप पर स्नेह है। हम आपका सम्मान करते हैं। हम खुले दिल से आपका स्वागत करने के लिए तैयार हैं। प्लीज लौट आएं और बात करें।

ये भी देखें: PM मोदी का नया प्लान: गूगल CEO सुंदर पिचाई से की बात, होगा ये बड़ा काम

राजस्थान के विधायक दल में प्रस्ताव पारित किया है। प्रस्ताव में कहा गया है कि कोई भी कांग्रेस का पदाधिकारी और कांग्रेस का नेता या विधायक सरकार के खिलाफ षड्यंत्र में पाया जाता है तो उसके खिलाफ कठोर अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी।

सर्वसम्मति से अशोक गहलोत को नेता माना

कांग्रेस विधायक दल ने कांग्रेस अध्यक्षा सोनिया गांधी और पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी में पूरी आस्था व्यक्त करते हुए अपना नेता सर्वसम्मति से अशोक गहलोत को माना है। कांग्रेस विधायक दल में प्रस्ताव पारित हुआ है कि बीजेपी के षड्यंत्रकारी मंसूबों को पूरा नहीं होने दिया जाएगा। कांग्रेस पार्टी पूरी तरह से एकजुट है।

सचिन पायलट नहीं छोड़ेंगे कांग्रेस

शिवकुमारकर्नाटक कांग्रेस के अध्यक्ष डीके शिवकुमार ने राजस्थान के सियासी संकट पर कहा है कि बीजेपी हमें कमजोर करने की कोशिश कर रही है। ये उनका एजेंडा है, जो हमेशा करते रहते हैं। हमारे नेता इस मसले का हल निकाल लेंगे और सचिन पायलट पार्टी नहीं छोड़ेंगे। डीके शिवकुमार ने कहा कि सचिन पायलट बहुत ही सूझबूझ वाले नेता हैं, उन्होंने पार्टी खड़ी है।

ये भी देखें: भारत होगा अमीर: Google ने किया ये कमाल, तेजी से दौड़ेगी अब अर्थव्यवस्था

5 नेताओं ने की सचिन पायलट से बात

कांग्रेस के पांच बड़े नेताओं ने सचिन पायलट से बात की है। राहुल गांधी, प्रियंका गांधी, केसी वेणुगोपाल, पी। चिदंबरम और अहमद पटेल ने सचिन पायलट से बात की है। बताया जा रहा है कि सचिन पायलट से जयपुर जाने के लिए कहा गया है। वहीं, दूसरी तरफ जानकारी ये भी आ रही है कि सचिन पायलट अब बारगेनिंग के मूड में हैं। उन्होंने अपने समर्थक मंत्रियों को गृह और वित्त विभाग जैसे महत्वपूर्ण पोर्टफोलियो देने की मांग की है। साथ ही प्रदेश अध्यक्ष का पद अपने पास रखने की शर्त भी जाहिर की है।

सचिन पायलट ने की प्रदेश अध्यक्ष का पद की मांग

सचिन पायलट का संदेश लेकर अब एक नेता जयपुर जाएंगे। सूत्रों की मानें तो सचिन पायलट ने वित्त और गृह मंत्रालय मांगा है, साथ ही अपने लिए प्रदेश अध्यक्ष का पद मांगा है।

प्रियंका गांधी ने संभाली राजस्थान की कमान 

सूत्रों के मुताबिक यह पता चला है कि सचिन पायलट दो दिन पहले तक राहुल गांधी के संपर्क में थे। इसीके साथ राजनीतिक संकट सुलझाने के लिए अब प्रियंका गांधी ने कमान संभल लिया है।

ये भी देखें: Twitter पर फेल है यूपी पुलिस, नहीं सुनी महिला पत्रकार की शिकायत

सचिन पायलट के पोस्टर फिर लगे

जयपुर में कांग्रेस दफ्तर से सोमवार सुबह उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट के पोस्टर हटा दिए गए थे, जो अब फिर से लगा दिए गए हैं। अशोक गहलोत ने बहुमत की संख्या दिखा दी है। मीडिया के सामने उन्होंने समर्थक विधायकों को दिखाया है। इसके बाद कांग्रेस दफ्तर पर सचिन पायलट के पोस्टर फिर से लगा दिए गए हैं।

अशोक गहलोत ने दिखाया विक्ट्री साइन

-मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने मीडिया को अपने आवास में बुलाया है, जहां पर विधायकों की संख्या का शक्ति प्रदर्शन किया जा रहा है। अशोक गहलोत की ओर से लगातार 100 से अधिक विधायकों के समर्थन की बात कही जा रही थी। इस दौरान अशोक गहलोत ने मीडिया के सामने विक्ट्री साइन दिखाया।

-मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने मीडिया को अपने आवास में बुलाया है, जहां पर विधायकों की संख्या का शक्ति प्रदर्शन किया जा रहा है। अशोक गहलोत की ओर से लगातार 100 से अधिक विधायकों के समर्थन की बात कही जा रही थी।

-सीएम गहलोत के घर विधायकों की परेड, संजय निरुपम बोले- पार्टी सचिन पायलट को रोके, सभी चले गए तो बचेगा कौन?

-सचिन पायलट विधायकों के साथ दिल्ली में मौजूद, 25 विधायकों के समर्थन का किया दावा। सचिन पायलट के करीबी सूत्र का दावा- हमारे पास 25 विधायकों का समर्थन, गहलोत का 102 विधायकों के समर्थन का दावा झूठा।

-सचिन पायलट समेत कांग्रेस के सभी विधायकों के लिए हमारे दरवाजे खुले थे और खुले रहेंगेः सुरजेवाला

भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष ओम प्रकाश माथुर पहुंचेंगे जयपुर

-राजस्थान में उठापटक के बीच कल सुबह भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष ओम प्रकाश माथुर पहुंचेंगे जयपुर। भाजपा केंद्रीय नेतृत्व ने उन्हें स्थिति पर नजर बनाए रखने के दिए निर्देश

ये भी देखें: PM मोदी का नया प्लान: गूगल CEO सुंदर पिचाई से की बात, होगा ये बड़ा काम

-विधायक दल की बैठक खत्म होने के बाद केसी वेणुगोपाल सचिन पायलट से बात करेंगे।

-कांग्रेस के दफ्तर से सचिन पायलट की तस्वीरें हटाई गई।

https://www.facebook.com/877336255717207/videos/3296765523702662

कांग्रेस विधायक दल की बैठक शुरू:

सीएम गहलोत के बुलाने पर उनके आवास पर विधायक दल की बैठक शुरू हो गयी है। बताया जा रहा है कि 60 से ज्यादा विधायक बैठक के लिए पहुंच चुके हैं। विधायकों का आने का सिलसिला जारी है। हालाँकि 16 विधायकों के बैठक में शामिल न होने की भी जानकारी मिल रही हैं। सचिन पायलट के करीबी माने जा रहे दानिश अबरार भी अशोक गहलोत की बैठक में पहुंचे हैं।

पायलट बना सकते हैं अपनी पार्टी, भाजपा में नहीं होंगे शामिल

सचिन पायलट ने बीजेपी में शामिल होने की तमाम अटकलों को नकार दिया है। ऐसे में चर्चा तेज हो गयी है कि पायलट कांग्रेस छोड़कर अलग पार्टी बना सकते हैं, जिसका नाम ‘प्रगतिशील कांग्रेस’ हो सकता है।

ये भी पढ़ेंः राजस्थान में अब आर-पार की जंग, सचिन के बगावती तेवर से सुलह के सारे रास्ते बंद

कांग्रेस नेता पीएल पुनिया का बड़ा बयान- सचिन पायलट अब बीजेपी में हैं

सियासी संकट के बीच कांग्रेस नेताओं के घर इनकम टैक्स रेड

राजस्थान में चल रहे सियासी संकट के बीच सोमवार की सुबह मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के करीबी नेताओं के घर पर आयकर विभाग ने छापेमारी की। दिल्ली से आई आयकर विभाग की टीम ने कांग्रेस नेता धर्मेंद्र राठौड़ और राजीव अरोड़ा के प्रतिष्ठान और घर पर छापा मारा। ये दोनों कांग्रेस के बड़े नेता और सीएम गहलोत के खास माने जाते हैं।

सचिन पायलट को झटका, खेमे के तीन विधायकों ने छोड़ा साथ

कांग्रेस के बाग़ी नेता सचिन पायलट के खेमे के तीन विधायक दानिश अबरार, रोहित बोहरा और चेतन डूडी ने उनका साथ छोड़ दिया है और अशोक गहलोत के पास जयपुर पहुँच गए हैं।  केसी वेणुगोपाल भी जयपुर के लिए रवाना हुए।

ये भी पढ़ेंः बीजेपी में आज शामिल होंगे सचिन पायलट? जेपी नड्डा से करेंगे मुलाकात

सचिन पायलट की जगह ले सकते हैं रघुवीर मीणा

कहा जा रहा है कि अगर सचिन पायलट इस बैठक में शामिल नहीं हुए तो राजस्थान का नया प्रदेश अध्यक्ष चुना जाएगा। कांग्रेस पार्टी रघुवीर मीणा को प्रदेश अध्यक्ष बना सकती है।

भाजपा में सचिन पायलट के शामिल होने की अटकलें

सचिन पायलट के भारतीय जनता पार्टी में शामिल होने की अटकलें लगने लगी है। बीती शाम सचिन ने कांग्रेसी से बागी और मौजूदा समय में भाजपा नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया से मुलाकात की। सिंधिया के आवास पर दोनों नेताओं की 40 मिनट बातचीत हुई। जिसके बाद कयास लगाए जा रहे हैं कि पायलट आज भाजपा का दामन थाम सकते हैं। बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा की मौजूदगी में पार्टी ज्वाइन कर सकते हैं, हालांकि अभी तक इसपर कुछ कन्फर्म बात सामने नहीं आई है।

सचिन पायलट का बैठक में शामिल होने से इनकार

उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट दिल्ली में हैं, उन्होंने कल ही इस बैठक में शामिल न होने का एलान करते हुए खुली बगावत शुरू कर दी थी। वहीं उनके साथ 12 विधायकों के दिल्ली में होने की जानकारी है। कहा जा रहा है कि पायलट खेमे के विधायक भी इस बैठक में शामिल नहीं रहेंगे।

ये भी पढ़ेंः राजस्थान में किसकी सरकार? कांग्रेस-BJP के पास कितने विधायक, जानें- पूरा आंकड़ा

कांग्रेस विधायक दल की बैठक:

राजस्थान में सीएम अशोक गहलोत के नेतृत्व में कांग्रेस विधायकों की बैठक होगी। सोमवार सुबह 10.30 बजे होने वाली विधायक दल की बैठक में अंतिम निर्णय होगा, जो इस बैठक में नहीं आएगा उसे पार्टी की सदस्यता से हाथ धोना पड़ेगा।

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App