bjp

तुलनात्मक रूप से मोदी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह मजबूत और स्थिर नेतृत्व के केंद्रित संदेश और नए भारत के वादे के साथ जहां मजबूत दिख रहे हैं वहीं विपक्षी एकजुटता की कहानी बहुत विविध और खंडित लगती है।

लोक सभा के पाँचवें चरण के चुनाव के लिए 14 लोकसभा निर्वाचन क्षेत्रों में आज नामांकन पत्रों की वापसी के बाद 181 प्रत्याशी चुनाव मैदान में रह गये हैं। आज नामांकन वापसी के अंतिम दिन कुल दो प्रत्याशियों ने अपने नामांकन पत्र वापस लिये, जिसमें बाराबंकी से एक तथा फैजाबाद से एक प्रत्याशी ने अपने नामांकन पत्र वापस लिये।

लोकसभा चुनाव के तीसरे चरण में यूपी के सबसे बड़े राजनैतिक परिवार यानि कि मुलायम सिंह यादव के परिवार के रसूख का इम्तेहान होना है। तीसरे चरण में 10 सीटों पर मतदान होना है। इनमें से 9 सीटों पर सपा उम्मीदवार मैदान में हैं।

आम आदमी पार्टी से गठबंधन की लंबी बहस के बाद जब कोई रास्ता न निकला तो आखिरकार सोमवार को कांग्रेस ने भी अपने उम्मीदवारों की पहली लिस्ट जारी कर ही दी। इस लिस्ट में कांग्रेस ने 6 सीटों पर अपने उम्मीदवारों के नाम घोषित कर दिए हैं।

मध्य प्रदेश की भोपाल लोकसभा सीट से बीजेपी प्रत्याशी साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने चुनाव आयोग के नोटिस के जवाब में कहा है कि उन्होंने किसी अभद्र भाषा का इस्तेमाल नहीं किया था और किसी का अपमान नहीं किया था।

पंजाब में लोकसभा की 13 सीटों पर नामांकन प्रक्रिया सोमवार से शुरू होगी जहां सातवें और अंतिम चरण में 19 मई को चुनाव होने वाले हैं।

भारतीय जनता पार्टी(बीजेपी) ने लंबे इंतजार के बाद लोकसभा चुनाव 2019 के दिल्ली की चार सीटों पर अपने प्रत्याशियों का ऐलान कर दिया है। नॉर्थ ईस्ट दिल्ली से मनोज तिवारी बीजेपी ने चुनाव मैदान में उतारा।

अनुपमा ने सपा, बसपा और रालोद के गठबंधन पर तीखा हमला बोलते हुए कहा कि जब कुत्ते, बिल्ली, ऊंट, खच्चर आदि एक घाट पर पानी पीने लगें तो समझ लो दूसरी तरफ शेर पानी पीने आ रहा है।

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा और कांग्रेस दोनों एक हैं और इन दोनों राजनैतिक दलों की नीतियां जनविरोधी है। इनके एजेण्डे में न तो विकास है और न ही स्थायी रोजगार। भाजपा- कांग्रेस दोनों राजनीतिक दलों की नीति और नीयत किसानों के प्रति ईमानदार नहीं है। इन दोनों दलों पर अब जनता को भरोसा नहीं रह गया है। इसीलिये इनके वायदों पर भी किसी को विश्वास नही है।

लोकसभा चुनाव के तीसरे चरण में 23 अप्रैल को मतदान होगा, इस चरण में महाराष्ट्र की 14 सीटों पर बड़े नेताओं की साख की परीक्षा होनी है।