flood

जापान में 60 साल में पहली बार आए सबसे भीषण तूफान हगिबीस ने जमकर तबाही मचाई है। शनिवार को आए हगिबीस तूफान ने जापान की रफ्तार पर पूरी तरह ब्रेक लगा दिया। इस तुफान से अब तक 35 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई है। डेढ़ दर्जन से ज्यादा लोग लापता हो गए हैं।

देश के कई राज्यों को बाढ़ ने अपनी गिरफ्त में रखा है। बाढ़ की चपेट में आए इन देशों को बहुत नुकसान झेलना पड़ रहा है। कई लाख लोग अपने घरों से बेघर हो चुके हैं। उनके पास रहने का ठिकाना तक नहीं है। इन समस्यों से ग्रस्त लोगों के लिए केंद्र सरकार ने अपने दो राज्यों के लिए अपने लॉकरों के ताले खोल दिया है।

मानसून और बारिश ने पूरे देश में तबाही मचाई है। इस साल मानसून के दौरान बारिश और बाढ़ से करीब 1,900 लोगों की मौत हुई तथा अन्य 46 लोग लापता हैं। शुक्रवार को यह जानकारी केंद्रीय गृह मंत्रालय के अधिकारियों ने दी।

बारिश और बाढ़ की वजह से हाल इतने बेहाल हैं कि राजधानी पटना में अब प्रशासन को पेयजल, भोजन और दूध के पैकेट बांटने पड़ रहे हैं। निःशुल्क सामुदायिक रसोई का संचालन पटना के दो जगहों पर किया जा रहा है।

भारी बारिश का कहर पूरे देश में अब भी जारी है। हर जगह भीषण बारिश का कहर बना हुआ है। इसके साथ ही एक चक्रवाती हवाओं का अक्षेत्र पूर्वोत्तर भारत के भागों में बना है और एक ट्रफ रेखा पूर्वी यूपी से लेकर पूर्वोत्तर भारत तक सक्रिय हुई है।

भीषण बारिश और बाढ़ का कहर अभी तक बिहार में जारी है। बाढ़ की वजह से मौत का आंकड़ा लगातार बढ़ता जा रहा है। बाढ़ से अब तक 73 लोगों की मौत हो चुकी है। इस बीच पटना में आज फिर बारिश का अलर्ट जारी किया गया है।

भीषण बारिश और बाढ़ की वजह से पूरे देश में जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। देश के कई राज्य बाढ़ की चपेट में आ गए हैं, जबकि कई राज्यों में अब भी बारिश का कहर जारी है।

खेतों में उड़द और सोयाबीन की फसलों को अति-वर्षा और बाढ़ के कारण सबसे ज्यादा नुकसान पहुंचा है। प्रदेश के पश्चिमी भाग में बारिश और बाढ़ से सबसे ज्यादा नुकसान हुआ है।

दोपहर बाद कड़ी सुरक्षा के बीच इन बंदियों को बसों से आजमगढ़ जेल भेजने का काम शुरू किया गया। देर रात तक यह सिलसिला चलता रहा। जिला प्रशासन का कहना है कि जलजमाव कम नहीं होने के चलते बंदियो को शिफ्ट करने का फैसला लिया गया है।

राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (NDRF) की टीमों ने राहत कार्य शुरू कर दिया है। बिहार सरकार ने भारतीय वायुसेना से पटना के बाढ़ प्रभावित इलाकों में फंसे लोगों को निकालने और खाने के पैकेट्स व दवाइयां पहुंचाने के लिए दो हेलिकॉप्टरों की मांग भी की है।