flood

प्रदेश के 16 जनपदों में बाढ़ के हालत बिगड़ते जा रहे हैं। जिसे देखते हुए राज्य सरकार जरूरी इंतजाम कर रही है। कई जिलों में नदिया अपने खतरे के निशान से ऊपर बाह रही हैं।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 6 राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बातचीत की। इस बैठक में बाढ़ के हालात और मॉनसून पर चर्चा हुई।

बिहार में बारिश अपना कहर बरपा रही है। बिहार के करीब दस जिले बाढ़ की विभीषिका झेल रहे हैं। बाढ़ के चलते लोग बेघर होकर सड़कों पर आ गए हैं।

कोरोना संक्रमण के साथ ही यूपी में अब बाढ़ का प्रकोप भी बढ़ता जा रहा है। यूपी के 75 जिलों में से मौजूदा समय में 16 जिलें बाढ़ से प्रभावित है।

असम में बाढ़ से त्राहि-त्राहि मची हुई है। प्रदेश के कई ऐसे गांव हैं जो महीनों से टापू बने हुए हैं। सड़कें पानी में डूबी हुई हैं। आप जिधर नजर दौड़ाएंगे पानी ही पानी नजर आएगा और उसमें मकान डूबे हुए दिखेंगे।

विधायक ज्ञान तिवारी ने अपने क्षेत्र के रामपुर, मथुरा व रेउसा विकास खंडों के अंतर्गत ग्रामों में आई बाढ़ का जायजा लिया।

बिहार में आफत कम होने का नाम ले रही है। प्रदेश की जनता बाढ़ और कोरोना दोनों से त्रस्त है। एक तरफ कोरोना के मामले बढ़ते जा रहे हैं तो वहीं बाढ़ सब कुछ बहा ले जाने पर आमदा है।

बिहार में बाढ़ का कहर लगातार बढ़ता जा रहा है। राज्य में नौ नदियों के खतरे के निशान से ऊपर पहुंच जाने के कारण लाखों की आबादी तमाम तरह की दिक्कतें झेलने को मजबूर है।

बिहार में बारिश और बाढ़ ने लाखों लोगों की जिंदगियों में तबाही मचा दी है। कई जिलों में बाढ़ की वजह से जो जहां फंसा है वहीं रह गया हैं। उनके पास न कुछ खाने को है और अब तो सोने के लिए छत भी नही बची।

भारत कोरोना के बाद अब मानसून से बुरी तरह प्रभावित हैं। देश के मैदानी इलाकों से लेकर पहाड़ों तक लाखों लोगों की जिंदगियां तेज बारिश और बाढ़ से तबाह हो गयी है।