heart

यह पोस्ट आज (1 अगस्त 2020) बकरीद के उपलक्ष्य पर है| मेरे जीवन की निजी घटना पर आधारित है| करीब तीन दशक पुरानी| विषय मानवीय संवेदनाओं से जुड़ा है|

“अभी तक कोरोना वायरस के बारे में माना जा रहा था कि इससे मुख्य तौर पर सांस लेने में दिक्कत होती है लेकिन अब पता चल रहा है कि ये वायरस न सिर्फ फेफड़ों पर बल्कि दिल, नर्वस सिस्टम, दिमाग, नसों, किडनी और स्किन पर भी असर करता है।“

नई दिल्ली। कोविड-19 बीमारी प्रमुख रूप से हमारे श्वसन तंत्र पर ही हमला करती है। इस बीमारी का वायरस फेफड़े के ऊपर वाले हिस्से यानी निचले श्वसन तंत्र को नुकसान पहुंचाता है जिससे मरीजों को सूखी खांसी, सांस लेने में तकलीफ और निमोनिया जैसे लक्षण दिखाई देते हैं। लेकिन अब नए शोधों में पता चला है कि ये वायरस बहुत रहस्यमय और चालाक है। …

स्वास्थ्य के क्षेत्र में एक बड़ी खबर डॉक्टरों ने ह्रदय के वाल्व की सिकुड़न को ठीक करने का नया फार्मूला ढूंढ निकाला है खास बात यह है कि मरीज अब सुबह अस्पताल जाकर अपना इलाज करा कर शाम को घर वापस आ जाएगा

हाल ही में एक रिसर्च में ये बात सामने आई है कि, हर रोज ब्रश करना केवल आपके दांतों के लिए ही नहीं, बल्कि आपके दिल के लिए भी फायदेमंद होता है।

नई दिल्ली : एक जगह जम कर बैठना सेहत के लिए ठीक नहीं होता। काम के बीच-बीच में थोड़ी देर के लिए इधर-उधर उठकर जाते रहें। इससे शरीर की ऊर्जा शक्ति बढ़ती है। काम करने के लिए एनर्जी मिलती है। आप पहले से अधिक मन लगाकर काम कर सकते हैं। यह भी पढ़ें : अगर आपके …

यूपी की राजनीति में इन दिनों भाजपा विधायक कुलदीप सिह सेंगर को लेकर राजनीति का पारा गरम हैं । उन पर 16 साल की एक लड़की के साथ नौकरी के नाम पर यौनाचार किए जाने का आरोप है।

तनाव, हर वक्त थकान, अनिद्रा और अस्वस्थ होने के कई ऐसे कारण हैं जो आपको स्वस्थ्य जीवन जीने से रोकते हैं। जिसका सीधा असर आपके दिल पर पड़ता है और हृदय रोग की संभावनाएं दोगुनी बढ़ जाती हैं।

ड्रैगन फ्रूट, नाम सुनकर ऐसा लगता है कि ये परियों की कहानी का हिस्सा है, जहां एक राजकुमार आग उगलने वाले ड्रैगन से बचकर राजकुमारी के लिए इसे लाता होगा। अगर आप भी कुछ ऐसा ही सोच रहे हैं तो ये गलत है। ये फ्रूट हकीकत में धरती पर पाया जाता है।

नयी दिल्ली : भारत में पिछले 25 वर्षों में हृदय रोग, पक्षाघात, मधुमेह और कैंसर जैसी बीमारियां बहुत तेजी से बढ़ी हैं। प्रतिष्ठित साइंस जर्नल लेंसेट और इससे सम्बद्ध जर्नलों में प्रकाशित हुए नए अध्ययनों से यह बात सामने आई है। भारत के हर राज्य में हृदय तथा रक्तवाहिकाओं संबंधी बीमारियों, मधुमेह, सांस संबंधी बीमारियों, …