indian market

इन अनुमानों में यूएस की इकोनॉमी को लेकर चिंता जाहिर की गई है तो वहीं बेरोजगारी और जीडीपी के आंकड़ों में सुधार में लंबा समय लगने की बात कही गई है। यूएस फेड के इस अनुमान के बाद अमेरिकी शेयर बाजार में घबराहट का माहौल है।

Bluetooth SIG पर दो नए Realme LED TV वेरिएंट्स को स्पॉट किया गया है, जिससे ये मालूम होता है कि जल्द ही नए TV मॉडल्स लॉन्च किए जा सकते हैं।

कंपनी ने मिशन ग्रीन मिलियन की थीम पर अपने पहली इलेक्ट्रिक-कार फ्यूचरो-ई की झलक दिखाई तो टाटा ने अपनी सिएरा ईवी कन्सेप्ट एसयूवी पेश की। इसके बाद रेनो, टाटा मोटर्स, किया, महिंद्रा, मसीर्डीज, ह्युंडेई, फॉक्सवैगन और पहली बार आए एमजी मोटर्स अपने नए वर्जन और एडवांस टेक्नोलॉजी दिखा रहे हैं।

आर्थिक सुस्‍ती की वजह से आलोचना झेल रही केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार को अंतरराष्ट्रीय मुद्राकोष (आईएमएफ) की प्रमुख क्रिस्टालिना जॉर्जीवा के ताजा बयान से...

बताते चलें कि देश में पेटीएम समेत कई ई-वॉलेट कंपनियां अब एक रुपये में भी सोना खरीदने का मौका दे रही है। साथ ही बताते चलें कि इस प्लेटफॉर्म पर बिकने वाला सोना 24 कैरेट 99.9 शुद्धता वाला है। यहां आपकी तरफ से खरीदे गए सोने को एक सुरक्षित लॉकर में रखा जाता है।

खास बात यह है कि रिलायंस जियो अब न सिर्फ टेलीकॉम कंपनी है, बल्कि इंटरनेट ऑफ थिंग्स और नई सर्विस पर लगातार काम कर रही है। बताया जा रहा है कि गूगल प्ले स्टोर और ऐपल ऐप स्टोर पर एक JioGate ऐप आ गया है।

भारत में अगले 20 वर्षों में दुनिया में सबसे तेजी से बढ़ते ईंधन बाजार की उम्मीद है, देश में यात्री कारों की संख्या में लगभग छह गुना वृद्धि होने का अनुमान है। आरआईएल और बीपी का उपक्रम भारत भर में 1,400 से अधिक साइटों पर आरआईएल के वर्तमान ईंधन रिटेलिंग नेटवर्क को शामिल और निर्माण करेगा, जिसका लक्ष्य अगले पांच वर्षों में 5,500 साइटों तक तेजी से विकास करना है।

आगामी सप्ताह वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) के प्रभाव एवं वैश्विक संकेतों पर घरेलू शेयर बाजार की नजर रहेगी। इस दौरान कई प्रमुख आंकड़ें भी जारी होने वाले हैं।

भारत में वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) लागू होने के बाद दुनिया के बाज़ार अपनी-अपनी समीक्षा करने में जुट गए हैं। विश्व बाज़ार के जानकारों का मानना है कि भारत का यह कदम चीन के लिए जैसा है। इस जीएसटी के बाद भारत में चीन का व्यवसाय काफी प्रभावित होगा और चीनी माल की खपत बहुत नीचे आ जाएगी।

चीन भारत में हर अरबों रुपए का सामान सप्लाई कर रहा है, जो भारतीय अर्थव्यवस्था को चोट पहुंचा रही है। लोगों को जागरूक करने के लिए आगरा के एत्मादउद्दौला क्षेत्र में युवकों ने जुलूस निकाला। इस पैदल मार्च में विक्रेताओ और ग्राहकों से चीन के माल से अलग रहने की अपील की गई।