ISI

सीएए व एनसीआर के खिलाफ हुए प्रदर्शन और दिल्ली दंगों को लेकर बड़ा खुलासा हुआ है। दिल्ली में हुई हिंसा में पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई का हाथ सामने आया है।

दुनिया के नम्बर एक कहे जाने वाले आतंकी संगठन आईएसआई की पैनी निगाह यूपी पर है। वह इसके लिए इंटरनेट के माध्यम से युवाओं को अपने आतंकी जाल में फंसा रहा है।

फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स(एफएटीएफ) की बड़ी बैठक होनी है। इस बैठक में समीक्षा की जाएगी कि पाकिस्तान एफएटीएफ एक्शन प्लान को लागू करने में कितना सफल हुआ है। इससे पहले ही पाकिस्तान की एक बार फिर पोल खुल गई है

आतंकी संगठन जैश-ए-मुहम्मद (Jaish-e-Mohammed) के तीन आतंकी भारत के अंदर घुसपैठ कर चुके हैं। ये सभी दिल्ली में बड़े आतंकी हमले की साजिश रच रहे हैं।

पाकिस्तान की ख़ुफ़िया एजेंसी आईएसआई आईएसआई म्यांमार में आतंकी समूहों को ट्रेनिंग दे रहे हैं। ISI रोहिंग्या मुस्लमानों को आतंकी ट्रेनिंग रहा हैं।

आईएसआई (ISI) आतंकवाद को बढ़ावा देने के मकसद से म्यामांर में भी आतंकवादी समूहों को ट्रेनिंग का काम कर रही है। कहा जा रहा है कि ISI सीमा पार आतंकवाद को बढ़ावा देकर देशों को अस्थिर करना चाहता है।

महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने बॉलीवुड के कई सितारों के पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई से लिंक मामले कीं जांच कराने की बात कही है।

पाकिस्तान की ख़ुफ़िया एजेंसी आईएसआई अल बदर को कश्मीर में घुसपैठ कराने की फिराक में है। इसके लिए अल बदर के आतंकियों की ISI और पाकिस्तानी आर्मी भर्ती कर रहा है

कोरोना से पूरी दुनिया परेशान है और इस महामारी से जंग लड़ रही है। लेकिन पड़ोसी देश पाकिस्तान भारत के खिलाफ साजिशें रच रहा है। दिल्ली स्थित पाकिस्तानी दूतावास में काम करने वाले दो जासूसों को भारतीय खुफिया एजेंसियों ने रंगे हाथ पकड़ा था।

पाकिस्तान भारत में उथल-पुथल मचाने के लिए किस हद तक जा सकता है इसका अंदाजा आप इस बात से ही लगा सकते हैं कि उसने अपने दो जासूसों को जासूसी के लिए हमारे देश में भेज रखा था।